Hindi Love Poem- तुम

मेरे हर सवाल का जवाब हो तुम
मैं लहर तो दरिया हो तुम
पूछने की गलती अब मत करना तुम-
कौन है यह तुम ?
मेरे हर लफ्ज़ का मतलब हो तुम
मैं रांझा तो मेरी हीर हो तुम
क्या अब भी पूछोगी तुम
कौन है यह तुम ?
मैं गायक तुम मेरा गीत हो
तुम मेरे हर प्रयास का नतीजा हो तुम
एक बार आईने पर देखो तुम
हां वही जो खूबसूरत चांद का टुकड़ा दिख रहा है
वही हो तुम

~योगेन्द्र राज अंधेरिया

Mere har sawaal ka jawab ho tum
Me lehar to dariya ho tum
Pucchne ki galti ab mat karna tum –
kon hai ye ‘tum’ ?
Mere har lafz ka matlab ho tum
Me raanjha to meri heer ho tum
Kya ab bhi pucchogi tum –
kon hai ye ‘tum?’
Me gayak to mera geet ho
tum Mere har prayaas ka nateeja ho tum
Ek baar aaine pr dekho tum
Haan vahi jo khubsurat chand ka tukda dikh raha hai
vahi ho tum

~Yogendra Raj Andheriyaa

2 thoughts on “Hindi Love Poem- तुम

  1. Pyar hseen hota h jab mahsus aatma ko hata h,Dil khilta h to aankhen aayna ban jati h,khuda ban jata h koi jab pyar hata h💑

Leave a Reply