sad Hindi Love Poem -Miss You Love Poem

मेरे जज़्बात किसको बताऊं दिल की जाकर, मैं तो खुद से छिप कर बैठा हूं ।  दर्द, दुखांत, उदासियों को, मैं खुदमें लिफकर बैठा हूं । बस कलम से है बंधन मेरा, तभी बेयान यह लिख कर बैठा हूं ।  किसको बताऊं दिल की जाकर, मैं तो खुद से छिप कर बैठा हूं ।  मेरी […]

Read More

Miss her love poem -Aisa Laga

ऐसा लगाक्यों ऐसा लगा मैंने उसे देखाक्यों ऐसा लगा मैंने उसे सोचारातें ये दिनसिर्फ उसकी यादों मेंखोए रहते हैंपर इक खामोशी की चादर मेंछुपकर सोए रहते हैंन दिखाते हैं चेहरा अपनाआंसू भी इनकीआँखों में ख्वाब पिरोए रहते हैंआज उसकी यादें कुछ कहना चाहती हैंमरे इन सपनों को अपना बनाना चाहती हैंहो सकता है देख रहा […]

Read More

Broken Heart Love Poem-Galti

गलती बेशक गलती सिर्फ तेरी नहीं,कुछ मेरी भी होगी खामोश रातों में आंखें तेरी भी भीगी होगीयकीन है हमेंतू भी तड़पा होगा भीगी पलकों के साथबीते लम्हों की तुझे भी याद आयी होगीबेशक गलती सिर्फ तेरी नहीं,कुछ मेरी भी होगी वो रातों की कुछ शरारतेंजिस में अक्सर नींदें खो जाया करती थीबेशक तुझे भी याद […]

Read More

Hindi Poem on Betrayal in Love-Sirf Bewafai Dekhi

ज़िन्दगी में सिर्फ बेवफाई देखी, हमने महफ़िल में सिर्फ तनहाई देखीवफ़ाओं का मेरी जो सिला दे, मै वो इश्क़ तलाश करता हूं, ये ज़ख्म जो मिले गहरे हैं बहुत, मेरी खुशियों पे गमों के पहरे हैं बहुतदर्द को मेरे जो मिटा दे, मैं वो शिफा तलाश करता हूं, रिश्तों की कश्मकश में उलझा ऐसे, खुद […]

Read More

Missing Her Love Poem-Tumhari Yaad Dil Se Jaati Nahi

तुम्हारी याद दिल से जाती नहीं (कविता का शीर्षक) तुम से मिलने की आशा बहुत है मगर,तुम से मिलने कि रुत है कि आती नहीं|करूँ कितनी भी कोशिश दिल बहलाने की मगर,एक तेरी याद दिल से है कि जाती नहीं || प्रेम कि राह में मुझको ले चली|वो हाथ पकड़ के अपनी गली||मैं तो चलता […]

Read More

Missing Him Love Poem-Ek Waqt Tha

एक वक़्त था (कविता का शीर्षक) एक वक़्त था .. जब हम अजनबी हुआ करते थे एक वक़्त था . जब वो अजनबी हो कर भी अपना सा लगा करता था एक वक़्त था . जब आंखें सिर्फ उसी को ढूंढा करती थी . एक वक़्त था .. जब उसे न देखो तो बेचैनी सी […]

Read More

Sad Miss You Love Poem-Teri Yaadein

तेरी यादें (कविता का शीर्षक)उल्फत है तेरी कि ये बाहें तुझे पुकारती हैंहर रोज़ तेरी चाहत में ये तन्हाई मुझे डराती हैखुदा करे ये मुहब्बत तुझे भी एक बार मिलेये दर्द जो मुझे मिला है तुझे हर बार मिलेटूटे तारे की चमक भी नहीं छुपा सकतेये दर्द जो सीने में है तुम्हें भी नहीं बता […]

Read More

Sad Hindi Love Poem-Kuch To Asar Hai

कुछ तो असर है (कविता का शीर्षक)कुछ तो असर है ज़िन्दगी में तेरी दुआओं का,कि ग़म बहुत है, आँखें भी नम है,फिर भी जिए जा रहे हैं, धीरे धीरे ही सही पर दो घूँट पीए जा रहे हैं,एक नीला सा आसमान है, कहने को तो सारा जहान है,पर तेरे बिना सब मंजर बंजर सब रेगिस्तान […]

Read More

Sad Poem for Him-Tumse

तुमसेउस एक दिन जब बातें शुरू हुई तुमसेलगा कुछ तो अलग सा है तुम मेंलगा कुछ तो नया सा है तुम मेंफिर रोज़ की बातें होती गयीऔर यूं बिना सोचे पिघलती रही मैं उन मेंयूं ही बिना समझे फिसलती रही उस रास्ते पेहाँ पता था मुझको दोबारा उसी रास्ते जा रही हूँ जहाँ गम बहुत […]

Read More

Sad Hindi Love Poem-Ek Sahara Mila Tha

एक सहारा मिला था (कविता का शीर्षक) एक सहारा मिला था,जीवन में आगे बढ़ने के लिएआज वो भी छूटा सा नज़र आ रहा हैजो बनाया था कभी सपनों का महल,आज वो भी टूटा से नज़र आ रहा हैजीवन की नदी पार करने काकोई किनारा नहीं दिखाई पड़ता,बस चारों ओर समंदर नज़र आ रहा हैउलझ गया […]

Read More

Hindi Love Poem on Relationship-Rishtey Ki Ehmiyat

रिश्ते की एहमियतजड़ों में ज़ख्म लग जायेंतो शाखें सूख जाती हैं,मिले हों मन अगरतो बातें रास आती हैं,दो लोगों की ज़रूरत कोकोई क्या जान पाया है,जुदाई एक दूजे कीअहमियत को बताती है ।भदौरिया निहारिका (रचनाकार ) Meaning with English Translations (for international and non-Hindi readers): Rishtey Ki Ehmiyat (The Importance of a Relationship) Jadon mein […]

Read More

Hindi Love Poem – Veh Pal

‘वह पल’ सालों का इंतज़ार एक पल बनके खड़ा था चाह तो थी कुछ और लेकिन समय विपरीत ही चल पड़ा था ।। पल की नज़दीकी क्षणिक और थी समय का चक्र भी मानो स्थल सा पड़ा था ।। आते ही उसके मैं समझ से बाहर खड़ा था मानो किसी बंजर जमीन को पानी का […]

Read More

Hindi Poem Praying for Love-Ae Khuda Uske Sath Rakh

ऐ खुदा उसके साथ रख थोड़ा पास रख उसकी ख़ुशी के लिए तेरे पास आया हूँ मेरी दुआ अब तेरे क़दमों में रख मानता हूँ भूल गया था मैं लेकिन अब वापिस आया हूँ तो निराश न रख बच्चा समझ के माफ़ कर दे मुझे तेरे क़दमों में मेरे लिए थोड़ी सी जगह रख ऐ […]

Read More

Hindi Love Poem on Separation-आँखें जो खुली

आँखें जो खुली तो उन्हें अपने करीब पाया ना था कभी थे रूह में शामिल आज उनका साया ना था बेपनाह मोहब्बत की जिनसे उम्मीदें लिये बैठे थे उनसे तन्हाइयों की सौगातें मिलेंगी बताया ना था एक हम ही कसीदे हुस्न के हर बार पढ़ते रहे पर उसने तो कभी हाल-ए-दिल सुनाया ना था वो […]

Read More