Category Archives: Hindi Love Poem for Brother

Hindi Love Poem for Brother-भाई


एक साया बनके साथ रहे, वो पल मेरे जीने का एहसास बन गये, बचपन से थामे रहे मेरे हाथ, मेरी खुशियों की पहचान बन गये, कभी दोस्त बनके हाथ थामा, कभी भाई बन के डाँटा, गिरी जब मैं किसी राह … Continue reading

Posted in Hindi Love Poem for Brother, Hindi Love Poems by Readers | Tagged , , , , , , , | 12 Comments