Posted in Eid Mubarak Poems

Eid Mubarak – मेरे चांद


blue_eyes___blue_eyes___-wallpaper-1366x768

ईद मुबारक मेरे चांद
तुम दिखे तो पूरी हुई फरियाद
तुमको जब अाते देखा
उस पल के बाद कुछ नहीं याद
तुमसे रोशन ये ज़िंदगानी
तुम बिन जीना जैसे मीन बिन पानी
तुम जब मुस्कुरादो
दिल खिल जाए
रो दो जो तो
बादल बरस जाए
अाज के इस मुबारक दिन
कह दें नहीं जी सकते तुम बिन
-अनुष्का सूरी