Hindi Love Poem for Friendship-स्कूल का वो दिन

स्कूल का वो दिन याद है,
हम साईकल से आया करते थे।
तेरी गोभी सब्जी वाली टिफिन को,
दोनो मिलकर खाया करते थे।

मैं बहुत पतला था और 
तू थोड़ी मोटी थी।
इसी बात पर तेरी मेरी,
बहुत लड़ाई होती थी।

वो पहला दिन याद कर,
जब तू अकेली आयी थी।
न जाने कितनी सवालो से,
मैंने बहुत दिमाग खायी थी।

सब टॉपर टॉपर कहते थे यार,
मुझे बहुत जलन होता था।
तुझे मात कैसे दु सोच,
मैं पूरी रात न सोता था।

पर तुमसे लड़ाई करना,
बहुत अच्छा लगता था।
तू इतनी मोटी थी कि,
मैं बच्चा लगता था।

हद तो तब हो गयी,
जब पिकनिक पर गए थे।
वह भी तूने टिफिन में,
गोभी की सब्जी ले गए थे।

जानता हूं ये पड़कर ,
तू बहुत हँस रही होगी ।
पर तेरी गोल वाली चहेरे पर,
वो हँसी जच रही होगी।

पर यार पायल …..
मुझे याद नही कौन सी बात,
हमे अच्छे दोस्त बना गयी।
आज कुछ तस्वीरें देखते ,
मुझे स्कूल की याद आ गयी।

।।गीतेश नागेंद्र।।

Hindi Love Poem for Friend – दोस्ती हमारी

 

boy-598000_960_720

सलामत रहे दोस्ती ये हमारी
यूँ ही एकता हो दुआ है हमारी
तेरी मुश्किलें मुझे मिल जाये सारी
मेरी ख़ुशियाँ नाम हो जाये तुम्हारे
कभी बारिशो का आये जो  मौसम

छाता लेके चल पड़ेंगे साथ हम तुम
जो छा जाये कभी घना अँधेरा
तो रौशनी ले के साथ दूँगा मैं तेरा
यूँ ही चलती रहे ज़िंदगी की गाड़ी
अमर हो जाये हो ऐसी दोस्ती हमारी

– अनुष्का सूरी

Salamat rahe dosti ye hamari
Yu hi ekta ho dua hai hamari
Teri mushkilein mujhe mil jayein sari
Meri khushiyan nam ho jayein tumhari
Kabhi barisho ka aye jo mausam

Chata leke chal padenge sath ham tum
Jo cha jaye kabhi ghana andhera
To roshni leke sath dunga main tera
Yu hi chalti rahe zindagi ki ye gadi
Amar ho jaye ho aisi dosti hamari

– Anushka Suri