Hindi Love Poem Expressing Love – मेरा दिल


प्यार अब कुछ इस कदर हम पर छा रहा है
मेरा दिल मुझे मेरे महबूब का हाल बता रहा है
बड़ा समझाया इस दिल ए नादान को
पर ये तो मस्त गगन में उड़ता चला जा रहा है
प्यार अब कुछ इस कदर हम पर छा रहा है
मेरा दिल मुझे मेरे महबूब का हाल बता रहा है
चाहता है अब ये दिलबर को अपने सामने हर पल
महसूस करना चाहता है उसकी सांसो को अपनी सांसो में हर पल
इसको भी खुद पर कुछ ज्यादा ही एतबार आ रहा है
प्यार अब कुछ इस कदर हम पर छा रहा है
मेरा दिल मुझे मेरे महबूब का हाल बता रहा है
कहता है बस कुछ दिन और। . फिर हम एक हो जायेंगे
जो जो सपने संजोये थे हमने। . सब पूरे वो हो जायेगे
अब तो गौरव को भी रिया का इंतज़ार हो रहा है
प्यार अब कुछ इस कदर हम पर छा रहा है
मेरा दिल मुझे मेरे महबूब का हाल बता रहा है
मिले थे जो कभी अनजान बनकर ,वो अब अपने हो जायेंगे
हर कोई शायद अब हमारे प्यार के साथ होगा
दिल को इस बात पर गुमान आ रहा है
प्यार अब कुछ इस कदर हम पर छा रहा है
मेरा दिल मुझे मेरे महबूब का हाल बता रहा है

-गौरव अग्रवाल

Pyar ab kuch is kadar ham par chaa raha hai…
Mera dil mujhe mere mehboob ka haal bata raha hai..
Bada samjhaya is dil e nadan ko..
Par ye to mast gagan me udta chala ja raha hai..
Pyar ab kuch is kadar hum par chaa raha hai…
Mera dil mujhe mere mehboob ka haal bata raha hai..
Chahta hai ab ye dilbar ko apne samne har pal
mehsoos karna chahta hai uski sanson ko apni sanson me har pal
Isko bhi khud par kuch jyada hi aitbar aa raha hai
Pyar ab kuch is kadar hum par chaa raha hai…
Mera dil mujhe mere mehboob ka haal bata raha hai..
Kahta hai bas kuch din aur..fir hum ek ho jayenge
Jo jo sapne sanjoye they humne .. sab poore vo ho jayenge
Ab to “Gorav “ko bhi “Riya” ka intezar ho rahahai
Pyar ab kuch is kadar hum par chaa raha hai…
Mera dil mujhe mere mehboob ka haal bata raha hai..
Mile they jo kabhi anjan bankar vo ab apne ho jayenge
Har koi shayad ab hamare pyar ke sath hoga..
Dil ko isi baat par guman aa raha hai…
Pyar ab kuch is kadar hum par chaa raha hai…
Mera dil mujhe mere mehboob ka haal bata raha hai..

-Gorav Aggarwall

Advertisements
Posted in Hindi Love Poem, Hindi Love Poem Expressing Love, Hindi Love Poem For Girlfriend, Hindi Love Poem For Her, Hindi love poems, Hindi Love Poems by Readers, Hindi love poems on heart, Hindi Love Shayari, Hindi Love Shayari for Girlfriend, Hindi Poem for A Girl, Hindi Poems for Lover, Hindi Shayari | Tagged , , , , | 1 Comment

Hindi Love Poem-अफ़साना मेरी मोहब्बत का


प्यार है तू मेरा मैं तेरी फिदाई
जर जैसे बाल है तेरे हिरण जैसी आँखे
चेरहा है गुल के जैसा दर्पण जैसी बातें
अदाये है कमर के जैसी गुल के जैसी सासे
परिवास भी फीकी लगती है सजन तुम्हारे आगे

ये तेरी मोहब्बत का नशा है या
मेरे दिल से निकला एक तराना
हर साँस कर दूंगा नाम तुम्हारे
साजन पास मेरे आ जाना

ऐतबार कर मुझपे बेदर्द नहीं हूँ मैं
तेरी इस कियाबान का बावर नहीं हूँ मैं
बेजुबान हो जाता हूँ आगे तुम्हारे
मोहब्बतें इशके बया नहीं कर पता

-वरुण सिंह

Pyar hai tu mera mai teri fidai
Jar jaise baal hai tere heeran jaisi aakhain
Chehra hai gul ke Jaisa darpan jaisi baaten
aadayain hai kamar ke jaisa gul ke jaisi saase
Pariwas v fiki lagti hai sajan tumhare aage….

Ye teri mohabbat ka nasha hai ya…
Mere dil se nikla ek tarana….
Har saas kar dunga naam tumhare
Sajan paas mere aa jana….

Aitabar kar mujhpe bedard nahi hu main…
Teri is kiyaban ka bawar nahi hu Main…
Bejubaan ho jata hu aage tumhare…..
Mohabbatein ishque bayan nahi kar pata….
Har nabz me rakt teri mohabbat ka hai….
Bus ye paigam sajan tak pahuncha nahi pata….

– Varun Singh

Posted in Emotional Hindi Love Poems, Hindi Love Letters, Hindi Love Poem, Hindi Love Poem For Girlfriend, Hindi Love Poem For Her, Hindi love poems, Hindi Love Poems by Readers, Hindi Love Shayari, Hindi Love Shayari for Her, Hindi Poem for A Girl | Tagged , , , , | Leave a comment

Hindi Love Poem-किस ओर


थम गई है सोच भी
थम गई है मंज़िल भी
ना कोई साथी है
ना कोई हमसफ़र
चलना तो है
लेकिन किस ओर
अँधेरे को चीर कर
जाना है कही
लेकिन किस ओर
और क्यूँ ?

-दिव्या

Tham gayi hai soch bhi
Tham gayi hai manzil bhi
Na koi sathi hai
Na koi ham safar
Chalana tho hai
Lekin kis or
Adhera ko cheer kar
Jana hai kai
Lekin kis or
Aur kyun ?

-Divya

Posted in Hindi Love Poem, Hindi Love Poem on Separation, Hindi love poems, Hindi Love Poems by Readers, Hindi Love Shayari | Tagged , , , | 2 Comments

Hindi Love Poem For Her – आँखे तेरी भी नम हो


आँखे तेरी भी नम हो पर मुझसे कम हो
दिल तेरा भी टूटे पर गम जो मिले मुझसे कम हो
तू भूल जाये किसी को पर मैं ना भुला पाऊंगा
जिस शिद्दत से चाहा था तुझको उसी शिद्दत से चाहुँगा
ना पास आऊँगा ना दूर जाऊँगा बस छुप छुप कर तुझे चाहुँगा
मेरी तम्मनाओं के सागर में तू हर रोज़ डुबकी लगाती है
तू तो भीग कर निकलती है मेरी यादों से
पर मैं अकेला तन्हा रह जाता हूँ
जाने क्यूँ ऐसा होता है जो सच्चा हो वो अधूरा रह जाता है
चल हम भी वादा करते है तुझसे
कि हर साँस में तुझे बसा लेंगे
और जब ये सांसो की डोर छूटेगी हम तेरा ही नाम लेंगे
-संदीप कुमार साव

Aankhei teri bhi num ho par mujhse kam ho,
Dil tere bhi tute par gum jo mile mujhse kam ho.
Tu bhul jaye chahe kisi ko par main na bhula paunga.
Jis shiddat se chaha tha tujhko usi shiddat se chahunga,
Na pas aaunga na dur jaunga bas chhup chhup kar tujhe chahunga.
Meri tammanao ke sagar me tu har roz dubki lagati hai,
Tu to bhig kar nikalti hai meri yadon se,
Par mai akela tanha rah jata hu.
jane kyon aisa hota hai jo pyar saccha ho wo adhura rah jata hai.
Chal Hum bhi wada karte hai tujhse,
Ki har sans me tujhe basa lenge,
Aur jab ye sanso ki dor chutegi hum tera hi nam lenge.
-Sandip Kumar Saw

Posted in Hindi Love Poem For Her, Hindi love poems, Hindi Love Poems by Readers, Hindi Love Shayari for Girlfriend, Hindi Love Shayari for Her, Hindi Shayari, I love you Hindi Poems | Tagged , , , , , | 1 Comment

Hindi Love Poem For Her-लबों की दस्तक


नर्म लबों की जो छुई है दस्तक।
पहलू में कोई गुलजार है।
फिर है मोह्बत उस आशिक़ी से।
शामों को फिर तेरा इंतेजार है।
गिरती है पलकें उठती है पलकें।
दिल ये कैसा बेकरार है।
समुन्दर के न जाने कितने है अर्से।
कितने दिन बीते कितने हम तरसे।
धड़कन को बस तेरा इंतेजार है।
तेरा इंतेजार है।

-गौरव

Naram labon ki jo chhooe hai dastak
Pehloo me koi gulzar hai
Fir hai Mohabbat us ashiqui se
Shamo ko fir tera Intezar hai
Girti hai palke uthti hai palke
Dil ye kaisa bekarar hai
Samandar ke na jane kitne hai arsey
Kitne din beete kitne hum tarse
Dhadkan ko bas tera intezaar hai
Tera intezaar hai

– Gaurav

Posted in Hindi Love Poem, Hindi Love Poem Expressing Love, Hindi Love Poems by Readers, Hindi Love Shayari for Girlfriend, Hindi Love Shayari for Her, Hindi Poems for Lover, Romantic Hindi Poem | Tagged , , , , | 1 Comment

Waiting for love Hindi Poem – इंतज़ार


दिल तेरा हर पल इंतज़ार कर रहा है
ये तेरा हाल जानने के लिये हर पल मर रहा है
उसे नहीं पता तू मेरे बारे में सोच रहा होगा कि नहीं
पर हर घड़ी वो तुझे ही याद कर रहा है
तू कहाँ है इस दिल को नहीं पता
तू कब मिलेगा इस दिल को नहीं पता
हर घड़ी ये अपने अंदर तुझे ढूंढ के देख रहा अगर मिल जाये तो क्या पता
तेरा पता इस दिल को है नहीं
पर ढूंढ़ने ऐसे अगर मिल जाये तू कहीं
ढूंढ़ने को कुछ भी ये फिर जान की भी परवाह नहीं
तुझे चाहती हूँ या नहीं , नहीं पता
क्यू सिर्फ तुम ही नहीं पता
मिल जाओ तुम बस दिल चाहता है एक बार गले लग जा भले फिर हो जाऊगी लापता
ना मिलूँगी तुम्हे फिर अगर तुम न चाहो
चली जाऊँगी  ज़िंदगी से तुम्हारी बस तुम दिल से कहो है प्यार तुझे भी मुझे है पता
बोल दो. फिर ये पल. कल हो ना हो

-राम चंदानी

Dil tera har pal intezaar kar raha hai
ye tera haal jaan ne ke liye har pal mar raha hai
use nahi pata tu mere baare mein soch raha hoga ki nahi
par har gadhi vo tujhe hi yaad kar raha hai…
Tu kahan hai is dil ko nahi pata
tu kab milega is dil ko nahi pata
har ghadi ye apne andar tujhe dhun ke dekh raha agar mil jaye to kya pata.
Tera pata is dil ko hai nahi
par dhoonde aise agar mil jaye tu kahi
dhhondne ko kuch bhi karega ye fir jaan ki bhi parwaah nahi
Tujhe chahti hun ya nahi, nahi pata
kyun sirf tum hi nahi pata
mil jao tum bas dil chahta hai ek baar gale lag jaa bhale fir ho jaungi laapata..
Na milungi tumhe fir agar tum na chaho
chale jaungi zindagi se tumhari bas tum dil se kaho hai pyaar tujhe bhi mujhe hai pata
bol do… phir ye pal….. kal ho na ho… 

-Ram Chandani

Posted in Hindi love poems, Hindi Love Poems by Readers, Hindi Poems for Lover, Sad Hindi Love Poems, Sad Hindi Love Shayari, Waiting for love Hindi Poems | Tagged , , , | Leave a comment

Hindi Poem for Her – Chanda Se Bhi Gori


girl_and_flowers_2-wallpaper-1366x768

चंदा से भी गोरी गोरी
सामने खड़ी है वो छोरी
देखे मुझको चोरी चोरी
भरके आँख में प्रेम डोरी
मैं भी उसको टेरू जोरी
दिल में भरके प्रेम बोरी
उसकी मेरी जमेगी जोड़ी
प्रेम अगन है थोड़ी थोड़ी

-अनुष्का सूरी

How to read:

Chanda se bhi gori gori

Samne khadi hai wo chori

Dekhe mujhko chori chori

Bharke aankh mein prem dori

Main bhi usko teru jori

Dil mein bharke prem bori

Uski meri jamegi jodi

Prem agan hai thodi thodi

English Translation:

A girl whose face glows more than the moon

is standing right before me

She looks at me secretly

with love in her eyes

I also look at her continuously

with a heart full of love

We both will be a great pair

It is a new pain of love

 

 

Posted in Be Mine Hindi Love Poems, Crazy in Love Hindi Poems, Hindi Love Letters, Hindi Love Poem For Girlfriend, Hindi Love Poem For Her, Hindi love poems, Hindi Love Poems on First Love, Hindi love poems with English translation, Hindi Love Shayari for Girlfriend, Hindi Love Shayari for Her, Hindi Love Songs, Hindi Poem for A Girl | Tagged | Leave a comment