Hindi Love Poem For Her-तुम जो संग बने रहो


हम सारे वादों को निभाएंगे,
जिंदगी को सफल बनाएंगे,
तुम जो संग बने रहो,
तुम वादा करके मुकर ना जाना,
मेरे दर्द प्रार्थनाओं को खोरी-कोटी ना सुनाना,
फिर भी तुमसे किया वादा निभाउंगा,
तुम जो संग बने रहो।
तुम्हारे कारण हर चाहत से इज़हार है मेरा,
तुम्हारे कारण हर जीत से प्यार है मेरा,
मेरा सीरत ये बढ़ता रहेगा,
तुम जो संग बने रहो।
कल को कायनात बदल दूंगा,
हर हार को जीत लूंगा,
हर कोशिश वो बार बार करुंगा,
तुम जो संग बने रहो।
तुम्हारे हँसी सपनों के लिए,
तुम्हारे हैसी अपनो के लिए,
हर एक से मतलबी हो जाऊ,
तुम जो संग बने रहो।

-राम

Hum sare waadon ko nibhayenge
Zindagi ko safal banayenge
Tum jo sang bane raho
Tum wada Karke mukar na jana
Mere achche prayas ko khari-koti na sunana
Phir bhi Tumse kiya wada nibhaunga
Tum jo sang bane raho
Tumhare karan har chahat se izhaar hai mera
Tumhare karan har jeet se pyar hai mera
Mera seerat ye badhta rahega
Tum jo sang bane raho
Kal ko kayanat badal dunga
Har haar ko jeet lunga
Har koshish wo bar bar Karunga
Tum jo sang bane raho
Tumhare hasi sapnon ke liye
Tumhare hasi apno ke liye
Har ek se matlabi ho jaun
Tum jo sang bane raho.

-Ram

Hindi Love Poem on Separation- प्यार की धड़कन


बिछड़ी प्यार की धड़कने
आँखों में नमी दे
बन्द राहों की उलझनें जीने न दे
वो खामोशियाँ भी इश्क़ को ही तलाशे
कुछ अनकही सी ख्वाइशें
दिल तो छुपा दे ये मोहोब्बत
कैसा जो अंग अंग लुटा न दे……

-स्वेता

Bichadi pyaar ki dhadkaney
Aankhon mein nami de
Bandh raahon ki uljhan Jeene na de
Vo khamoshiyaan bhi Ishq ko hi talashe
Kuch ankahi si khwaahishey
Dil ne chupa de Yeh mohobbat
kaisa Jo ang ang luta na de

-Swetha

Miss You Love Poem- याद है


 

याद है मुझे आज भी उनसे
मेरी पहली मुलकात का वो सफर
था वो बड़ा ही खास दिन मेरे लिये
था वो सफर लम्बा पर सुनकर
उनकी मीठी आवाज कर दिया
सफर मेरा सुकून भरा
मेरे सफर की पूरी थकान उतर गई
जब उसने मुस्कुरा के मुझे देखा याद है
मुझे मेरी नयी ज़िंदगी की नई शुरुआत
इसी ऐसी सफर से मिली वो सफर
सिर्फ एक सफ़र नहीं बल्कि
मेरी ज़िन्दगी की नयी ख़ूबसूरत सूरत थी
याद है मुझे आज भी उसने
हमारी पहली मुलाक़ात का वो सफर

-भारत ठाकुर

Yaad hai mujhe aaj bhi unse
Meri pehli mulakat ka vo safar,
Tha vo bada hi khaas din mere liye,
Tha vo safar lamba par sunkaar
Unki mithi aavaaz kar diya
Safar mera sukun bhara
Mere safar ki puri thakaan utri gayi
Jab usne muskurake muje dekha yad hai…
Muje meri nai zindagi ki nai suruaat
Esi safar se mili.. vo safar
Ssirf ek safar nai balki
Meri jindgi ki nayi khubsurat suruat thi
Yaad hai muje aaj bhi usne
Hamari pehli mulakat ka vo safar
Kese baya karu apne vo jazbaat…
Meri mulakat ka vo safar…

-Bharat Thakor

Hindi Love Poem for Him :  तुम हो मेरी जिंदगी


तुम हो मेरी जिंदगी का एक ऐसा आईना ,
जो टूट कर भी नहीं टूटता
बिखर कर भी नही बिखरता।
यही बात तुझे सबसे अलग करती है।
जी करता है कितनी करूँ तेरी तारीफ
चाह कर भी खत्म नहीं होता है ।
तुझे देख के जिनेवा का तमन्ना बढ़ जाती है,
तेरी बाते मुझे अपनी लगने लगती है।
तुझे देखा तो आईना देखने लगता हूँ
तु भी मुझे शायद अपना लगने लगता है।
तुम हो मेरी जिंदगी का एक ऐसा आईना,
जो टूट कर भी नही टूटता
बिखर कर भी नही बिखरता ।

-अंजली कुमारी  

Tum ho meri zindagi ka esa aaina
Jo toot kar bhi nahi tootata
Bikhar kar bhi nahi bikharta
Yahi baat tujhe sabse alag karti hai
Ji karta hai kitni karu teri tari
Chah kar bhi khatam nahi hota hai
Tujhe dekh ke jineva ka tamanna bad jati ha
Teri baatein muje apni lagane lagti hai
Tujhe dekha to aaina dekhne lagta hoon
Tu bhi mujhe sayad apna lagne lagta hai
Tum ho meri zindagi ka esa aaina
Jo tut kar bhi nahi tootata
Bikhar kar bhi nahi bikharta

-Anjali kumari   

Hindi Love Poem For Her – क़िस्मत


क़िस्मत क़िस्मत की बात है
जब से मिला हूँ तुझसे
तू मेरे साथ है
किस्मत ने हमे मिलाया था
एक दूसरे के साथ जीना सिखाया था
दूर हो कर भी पास रहना सिखाया था
किस्मत को काश मंज़ूर ना था
हमारा साथ रहना तभी
तेरी माँ को हमारे बारे में बताया था
दूर हो गये लेकिन
दिल अभी भी पास है
किस्मत किस्मत की बात है

-नामित जैस्वाल

Kismat kismat ki baat hai
Jab se mila hu tujhse,
Tu mere sath hai
Kismat ne hamme milaya tha,
Ek dusre ke sath jeena sikhaya tha
Dur ho kar bhi paas rehna sikhaya tha,
Kismat ko kaash manzoor na tha,
Humara sath rehnatabhi
Teri maa ko hamare barre me btaya tha,
Dur to ho gye, lekin
Dil abhi bhi paas hai,
Kismat kismat ki baat hai

Namit jaiswal

Hindi Love Poem for Her- एक लंबे वक्त के बाद


एक लंबे वक्त के बाद भी,
भुला न पाया तुम्हें..
न जाने कौन सा दिन था वो,
जब तुम्हारी आँखों ने डुबोया था मुझे..
हां, वही दिन था तब से ही
कोई रंग नहीं चढ़ता मुझपे,
न ही कोई एहसास भिगोता है अब मुझे..
‘गुड़िया”तुम मिलना कभी किसी,
ढलती शाम के सूरज तले..
वहीं बताऊँगा तुम्हें..
क्या क्या खोया है मैंने,
एक तुम्हें पाने के लिये….

– संस्कार जैन

Ek lambe waqt ke bad bhi
Bhula na paya tumhe na jane kon sa din tha wo
Jab tumhari aankhon ne duboya tha mujhe
Haan wahi din tha tab se hi
Ki rang nahi chadta mujhpe
Na hi koi ehsas bhigota hai ab mujhe
‘Gudiya’ tum milna kabhi kisi
Dhalti sham ke suraj tale
Wahi btauga tumhe
Kya kya khoya hai maine
Ek tumhe pane ke liye

-Sanskar Jain

Hindi Love Poem on Separation-आखिरी मुलाकात


काश दिल की बात दिल में ही रह जाती
तब ये दुनिया तेरे मेरे बीच ना आती
तब ना होती ये दूरियां और ना ही कोई खामोशी
बस तु अनजान होकर भी अनजाना ना होता
तब अगर हो जाती मुलाकात तो
मुस्कुराने का एक बहाना भी होता
ख्यालों में ही सही पर तेरे पास होने का
एहसास तो होता काश तब दिल की बात
दिल में ही रह जाती तब तेरे दूर होने का
कोई गम ना होता और ना होती
कोई आखिरी मुलाकात

-अनन्या

Kash dil ki baat dil me hi rah jati
Tab yeh duniya tere mere bich na aati
Tab na hoti yeh duriya aur na hi koi khamoshi
Bas tu anjan hokar bhi anjana n hota
Tab agar ho jati mulakat to
Muskurane ka ek bhana bhi hota
Khayalo me hi sahi pr tere pas hone ka
Ehsas to hota kash tab dil ki baat
Dil me hi rah jati tab tere dur hone ka
Koi gam na hota aur na hoti
Koi aakhiri mulakat

-Ananya