Hindi Poem for Him-Ishq

इश्क़
इश्क़ किया है तुमसे
तुम्हारी इबादत की है
दिल दिया है तुमको
तुमसे मुहब्बत की है

मेरे दिल के हो तुम राजा
तुम्हारे लिए है घर मेरा सजा
तुमसे ही दिन है मेरा
तुमसे ही मेरी रात है
तुम हो तो सब बात है
तुमसे ही सब जज़्बात हैं

मांगती हूँ बस खुदा से दुआ हर दिन
न दिन आये ऐसा जब रहना हो तुम्हारे बिन

-अनुष्का सूरी

Hindi Love Poem for Him -क्या पता है तुझे

क्या पता है तुझे
कि मेरे जज्बातों का अलफ़ाज़ तू है
मेरे होंठो पर बिखरी मुस्कराहट की आवाज़ तू है
मेरे चेहरे की मासूमियत में छिपी हर राज़ तू है
मेरे नयनों के आशियाने में कैद मेरे सुकून हमराज़ तू है
सुरमयी काजल से सजी खूबसूरत पलकों का नाज़ तू है
बेखबर झूम कर चलने वाले कदमों की बलखाती अंदाज तू है
सोये हुऐ मुहब्बत के मीठी सुरों वाली आगाज़ तू है
अब और क्या बताऊँ कि तू क्या क्या है मेरा?
बस जान ले तू इतना कि मेरे सोलह श्रृंगार की लाज तू है

-संघमित्रा मौर्य

Kya pta hai tujhe?
ki mere jajbaato ka alfaaj tu hai,
mere hontho par bikhari muskurahat ki awaj hai,
mere chahre ki masoomiyat me chhipi har raaj tu hai,
mere nayano ke aashiyaane me kaid mere sukoon ka hamraaj tu hai,
surmayi kajal se saji khoobsoorat palko ki naaj tu hai,
bekhabar jhoom kar chalne wale kadmo ki balkhaati andaaj tu hai,
soye huye mohabbat ke mithi suro wali agaaj tu hai,
ab aur kya btaoo ki tu kya – kya hai mera ??,,
bas jan le tu itna ki mere solah shringaar ki laaj tu hai..

-Sanghmitra Maurya

Hindi Poem for Him – नयनों में काजल लगा के चली

love-1643452_960_720

आज मैं नयनों में काजल लगा के चली
पलकों पर आपकी खूबसूरत तस्वीर सजा के चली
दिल की धड़कनों को साँसों में छुपा के चली
थोड़ा इतरा के चली
सावन की मयूरी सी बलखा के चली
लहराती हवाओं में केशों को बिखरा के चली
थोड़ा शर्मा के चली
अल्फ़ाज़ों में मीठी सरगमों को मिला के चली
उलझी बेचैनियों को सुलझा के चली
सच्ची मुहब्बत अपनी रूह में बसा के चली
दुनिया की हर खूबी हांथों की लकीरों में ठहरा के चली
अब तो बोल दो कि मैं आपकी ज़िन्दगी हूँ
आपकी खुशियों की बन्दग़ी हूँ
आपकी तक़दीर में संवरती आपकी जीवन संगनी हूँ
अब बस करो बोल भी दो कि मैं ही आपकी अर्धांगिनी हूँ

-संघमित्रा मौर्य

Aj mai nayano me kajal laga ke chali,
Palko par apki khubsoorat tasveer saja ke chali,
Dil ki dhadkano ko sanso me chhupa ke chali,
Thoda itra ke chali,
Sawan ki mayoori si balkha ke chali,
Lahraati hawaao me kesho ko bikhra ke chali,
Thoda sharma ke chali,
Alfaazo me mithi sargamo ko mila ke chali,
Uljhi bechaniyo ko suljha ke chali,
Sachhi mohabbat apni rooh me basa ke chali,
Duniya ki har khoobi hatho ki lakiro me thahara ke chali,
Ab to bol do ki mai apki jindagi hu, apki khushiyo ki bandagi hu,
Apki taqdeer me sawarti apki jeewan sangini hu,
Ab bas karo bol bhi do ki mai hi apki ardhangini hu

-Sanghmitra Maurya

Hindi Poem for Husband – मेहंदी तेरे नाम की

wedding-1404621_960_720.jpg 

तेरे नाम की मेहंदी सजाई मैंने हाथों में
तुझको छुपाया मैंने अपनी साँसों में
चढ़ा रंग गहरा तेरे प्यार का
उतार न पाऊँ, हुआ असर ऐसा तेरे प्यार का
लिखा है तेरा नाम मैंने अपने हथेली पर
मिटा सके न कोई उसे पानी से
दिल पे लिखा तेरा नाम
मिट न पाए किसी से

-कविता परमार

Tere naam ki mehendi sajai maine hatho mei
Tujhko chupaya maine apni sanso mei
Chadha Rang gehra tere pyar ka
Utaar na pau, hua asar aisa tere pyar ka
Likha hai tera nam maine apne hatheli par
Mita sake na koi use pani se
Dil pe likha tera naam
Mit na paaye kisi se

-Kavita Parmar

Hindi Poem for Him – सांसों में तू

सांसों में तू
सांसों में बसने लगा है तू
नींदों में जगाने लगा है तू
दुआओं में आने लगा है तू
मेरे जीने की वजह बनने लगा है तू

घबरा जाती हूँ तुझे तकलीफ में देख कर
मुस्कुरा जाती हूँ तुझे करीब मैं देख कर
हमेशा तुम यूं ही पास रहो मेरे
हो नादान तुम पर जान हो मेरे

– कविता परमार

Saanso mei basne laga hai tu
Neendo mei jagane laga hai tu
Duao mei aane laga hai tu
Mere jeene ki wajah ban ne laga hai tu

Ghabra jati hu tujhe takleef mei dekh kar
Muskura jati hu tujhe kareeb mai dekh kar
hamesha tum yu hi pas raho mere
Ho nadan tum par jaan ho mere

– Kavita Parmar

 

Hindi Love Poem- तुम मिले

कभी तो वक़्त ठहरा होगा जो तुम मिले
क्या मुहब्बत की ओस गिरी होंगी जो तुम मिले
या खिंचती हुई पवनों ने छुआ था जो तुम मिले
समय की उस अबूझ पहेली में कोई तो बात थी जो तुम मिले
धीमी सी दिल की धकधक में कुछ तो था जो तुम मिले
तेरी पलकों के इशारे कुछ तो कह रहे थे जो तुम मिले
कुछ तो जोड़ रहा था तेरे दिल को मेरे दिल से जो तुम मिले
अब तुम ही बताओ इन इशारों की सदायें..
ये साजिश है या इत्तेफ़ाक जो तुम मिले सिर्फ तुम मिले?

-गौरव

Kabhi to waqt thaira hoga jo tum mile
Kya muhabbat ki os giri hogi jo tum mile
Ya khichti hui pavano ne chua tha jo tum mile
Samay ki us abujh paheli mei koi to baat hogi jo tum mile
Dheemi si dil ki dhakdhak mei kuch to tha jo tum mile
Teri palko ke ishare kuch to keh rahe the jo tum mile
Kuch to jod raha tha tere dil ko mere dil se jo tum mile
Ab tum hi batao in isharo ki saayein
Ye sazish hai ya ittfak jo tum mile sirf tum mile

– Gaurav

Hindi Poem for Husband: दिल के पास

couple

दिल के पास
सबसे करीब
कौन रहता है ?
वो हो तुम
चैन मेरा
मेरा हबीब
वो कौन है ?
वो हो तुम
मेरा सरुर
मेरा नसीब
हाँ, कौन है वो
वो हो तुम

– अनुष्का सूरी

Dil ke pas
sabse kareeb
Kaun rehta hai?
Wo ho tum
Chain mera
mera habib
Wo kaun hai?
Wo ho tum
Mera suroor
Mera nasib
Haan, kaun hai wo?
Wo ho tum

– Anushka Suri

Hindi Love Poem for Husband – साथ तेरा मेरा

couple-1537158_960_720

हो सुबह शाम सामने तेरा ही चेहरा
जो दुल्हन बनूँ मैं तो तेरे सर पे हो सेहरा
तू हस दे तो रोशन है ये जहान मेरा
तू उदास जो हो तो ज़िन्दगी में अँधेरा
खुदा ने भी लिखा है साथ तेरा मेरा
सलामत रहे ये आशियाँ तेरा मेरा

– अनुष्का सूरी

Ho subah sham samne tera hi chehra
Jo dulhan banu main to tere sir pe ho sehra
Tu has de to roshan hai ye jahan mera
Tu udas jo ho to zindagi mein adhera
Khuda ne bhi likha hai sath tera mera
Salamat rahe ye ashiyan tera mera

– Anushka Suri

Hindi Love Shayari for Boyfriend – दिवानी

girl1d 

दिवानी दिवानी
मैं हूँ दिवानी
अनजानी अनजानी
इश्क़ से अनजानी
मनमानी मनमानी
दिल करें मनमानी

जब भी तुझे देखूँ
सूझे नादानी
जब भी तुझे चाहूँ
आये प्यार दिलजानी

तू ही मेरा रब है
तू ही मेरी कुर्बानी
तू ही मेरी पुस्तक
तू ही मेरी कहानी

दिवानी दिवानी
मैं हूँ दिवानी

– अनुष्का सूरी 

Deewani deewani
Main hui deewani
Anjani anjani
Ishq se anjaani
Manmaani manmaani
Dil kare manmaani

Jab bhi tujhe dekhu
Sujhe nadaani
Jab bhi tujhe chahu
Aye pyar diljaani

Tu hi mera rab hai
Tu meri kurbani
Tu hi meri pustak
Tu hi meri kahaani

Deewani deewani
Main hui deewani

-Anushka Suri