Posted in Hindi Love Poems by Readers, Hindi love poems with English translation, Spiritual Love Poem

Hindi Love Poem on God-राहत के कुछ पल 


alone-666078_960_720
राहत के कुछ पल 
मैं तेरे चरणों में पाता हूँ
आके तेरे द्वार पे
सारे गम भूल जाता हूँ
रहती ना कोई ख्वाहिश मेरी
ना मन में कोई इच्छा
आंसू की बस बहती धारा
निर्मल है ये मन मेरा
शब्दों का ना कोई जाल है
ना बोली की पहचान
बिन कहे मेरे मन को जाना
ऐसा है मेरा भगवान
करुणा पल पल गहरी होती
मन में कोई दुविधा ना रहती
उसने पथ दिखाया है
पथ पे पल पल बढ़ता जाता
हर जगह बस प्रभु को पाता
दीनबंधु वो करुणा निधन हैं
राहत के कुछ पल
मैं तेरे चरणों में पाता हूँ
आके तेरे द्वार पे प्रभु
मैं खुद को पा जाता हूँ
-गौरव
English Translation:
Few Moments of Relief
I get when I am near your feet
After coming at your doorstep
I forget all my miseries
None of my desires remain
Neither any aspirations in my heart/mind
Only a line of tears flows
My mind is so pure
There is no web of words
There is no identification of language
Without saying anything you interpreted my heart/mind
So is my Lord
Kindness deepens with each passing moment
No difficulty remains in the heart/mind
He has shown the path
I progress each moment on the path
I find Lord everywhere
He is well-wisher and friend of the poor and needy, He is full of kindness
Few Moments of Relief
I get when I am near your feet
After coming at your doorstep
I meet myself
-By Gaurav
Posted in Hindi Love Poems by Readers, Spiritual Love Poem

Hindi Spiritual Love Poem on Lord Krishna-श्याम रंग मोहे भाये


idol-1834688__340.jpg
मोहक सी मुस्कान सजाए,
श्याम रंग मोहे चढ़ता जाये,
गीत मधुर जमुना तट पे मुरली कोई मधुर बजाए,
ऐसा श्याम रंग मोहे कान्हा हर पल दिल को भाता जाए,
कभी ब्रज में नाच दिखाए,
कभी गोपियों संग रास रचाए,
कभी नटखट वो माखन चुराए,
यशोदा का वो नन्दलाला श्याम रंग मोहे भाता जाए,
कभी मुकुट मोरपंख भाए,
कभी राधा संग खेल दिखाए,
कभी बन के मीरा का श्याम प्रेम मधुर बरसाता जाए,
ऐसा मोहे श्याम रंग मोहक सी मुस्कान सजाए,
हर पल दिल को भाता जाए.
-गौरव