Hindi Love Poem – एक सपना

couple-1521404_960_720

मैंने जो देखा था
वो एक सपना था
तू कौन सा अपना था
मैंने किस से दिल लिया
क्यों सपने को हक्कीकत बना लिया
मैंने जो देखा था
वो एक सपना था
सपने मैं जो भी था
सिर्फ एक भ्रम था
वहाँ कोन सा अपना साथ था
होना तो बस विशवास घात था
मैंने जो देखा
वो एक सपना था
इकरार सपने मैं हुआ
पर रिश्ता टूट असलियत मैं गया
सोचा क्या और क्या हो गया
जैसे भयानक सपना सच हो गया
मैंने देखा था
बातें इतनी हो गई
कि मुँह न खुला
सिर्फ आँखों मैं सब कुछ बया हो गया
मैंने जो देखा था वो एक सपना

-रिशभ गोस्वामी

Maine jo dekha tha
Wo ek sapna tha
Tu konsa apna tha
Maine kis se dil lga liya
Kyu sapne ko hakikat bna liya
Maine jo dekha tha
Wo ek sapna tha
Sapne main jo bhi tha
Sirf ek bhrm tha
Whan kon sa apna sath tha
Hona to bas vishwas ghaat tha
Maine jo dekha
Wo ek sapna tha
Ekrar sapne main hua
Par rishta tut asliyat main gya
Socha kya aur kya ho gya
Jese bhyanak sapna such ho gya
Maine jo dekha tha
Wo ek sapna tha
Batein etni ho gai
Ki muh na khula
Sirf aankhon main sab kuch bya ho gya
Maine jo dekha tha wo ek sapna tha

-Rishabh Goswami

Leave a Reply