Hindi Prem Kavita-इतनी सुन्दर हो तुम

इतनी सुन्दर हो तुम जैसे हो कोई खिला गुलाब
इतनी नाज़ुक कि हो कोई  रुई की किताब
Image
प्यारी प्यारी है तुम्हारी मीठी बातें
तुम्हारे साथ बीतें अब मेरे दिन और रातें
तुमसे मिलकर पता कुछ यूँ चला
जैसे कोई प्यासे को पानी हो मिला
तुम्हारी हंसी है खिलते हुए फूल
माफ़ करना हमें जो हो जाये कुछ भूल
जितना भी कहा जाये तुम्हारी तारीफ में है कम
यु ही रोशन रहो तुम दुआ करते हैं हम

Leave a Reply