Hindi Love Poem – तुम ही तो हो

हिंदी कविता : तुम ही तो हो 

तुम ही तो हो ओ जानेमन

तुम ही हमें भुलाये क्यों

ऐसे न करो हम पर सितम

जो तुमको भी कभी रुलाए क्यों

इश्क-ए-बहार तुम से है

तुम से ही रहेगा सनम

तुम पर ही मरते आये हैं

जाँ भी निकल जाये घबराएँ क्यों

Leave a Reply