Hindi Love Poem on Separation – तेरी जुदाई

girl-429380_960_720

तेरी जुदाई तेरी रुस्वाई सह न पाऊँ मैं
हर पल कुछ याद दिलाता है
गहरा सा नशा तेरी यादों में
हर शाम को दिया जलती हूँ तेरी याद में
वो पलके नम हो जाती है
जो भीगी थी कभी तेरी याद में,
मुस्कुराता हुआ तेरा चेहरा मुझसे प्यार जताता है
पलके मेरी तेरी बाँहों में भीग सी जाती है
तेरी यादों का एक मेला हर पल रंग दिखता है
भरी महफ़िल में भी तन्हाई याद दिलाती है

-कविता परमार

Teri judai teri ruswai seh na pau me,
Har pal kuch yad dilata hai,
Gehra sa nasha hai teri yado me,
Har sham ko diya jalati hu teri yad me,
Wo palkein num ho jati h,
Jo bheegi thi kabhi teri yaad me,
Muskurata hua tera chehra mujse pyar jatata hai,
Palkein meri teri baho me bheeg si jati hai,
Teri yado ka ek mela har pal rang dikhata hai,
Bhari mehfil me bhi tanhai yad dilati hai..

-Kavitha Parmar

Leave a Reply