Hindi Love Poem for Friendship – बचपन

वो बचपन अच्छा था ये जवानी हार गई स्कूल के दिन अच्छे थे ये कॉलेज की इंजीनियरिंग मार गई वो मोज मस्ती तो स्कूल की थी जहाँ पहली से ना छोड़ा दसवीं तक का साथ वो स्कूल नहीं परिवार था जहां सब एक दूसरे के लिए मरते थे बिछडने का ना ग़म कोई और खुशी […]

Read More

Hindi Love Poem – तक़दीर का खेल

काली पन्नों में लिखें तकदीरें बने रिश्तों की गवाही जनम जनम के कस्मे वादे बने टूटे दिल की परचाई बादलों की मेरी ये महल में छा गयी तन्हाई हमारी हर वो याद में जान है समायी चहरे पे मुस्कान लिए पीछे आँसू है छिपाई ~स्वेता Kaali pannom me likhe takdeere Bane rishton ki gavahi Janam […]

Read More

Sad Hindi Love Poem- दूसरों की बातों में

  दूसरों की बातों में लोग यूँही खो गए  हमने शुरू किया बताना  तो किस्से गलत हो गये  हमारी तो किसी को जरुरत नहीं  हमपे बात आयी तो सब खत्म  हो गये  उन्होंने तो हमे कभी  याद भी न किया  हमारे पास उनके सारे किस्से जतन हो गये  हम जगाते रहे उनको सोचते सोचते  और […]

Read More

Hindi Love Poem on Separation – तेरी जुदाई

तेरी जुदाई तेरी रुस्वाई सह न पाऊँ मैं हर पल कुछ याद दिलाता है गहरा सा नशा तेरी यादों में हर शाम को दिया जलती हूँ तेरी याद में वो पलके नम हो जाती है जो भीगी थी कभी तेरी याद में, मुस्कुराता हुआ तेरा चेहरा मुझसे प्यार जताता है पलके मेरी तेरी बाँहों में […]

Read More