Hindi Love Poem-याद आती है

heart-462873_960_720

जब भी तेरी याद आती है

तो आँखें भर आती हैं

अब इन आँसुओं को निकलने से नहीं रोक पाती हूँ

रात रात भर रोती हूँ

फिर अपने आपको समझा भी लेती हूँ

याद आते हैं तेरे साथ बिताये हुए वो पल

याद आता है वो कल

याद आता है वो तेरा हंसता खिलखिलाता चहरा

जिससे मेरी नज़रें नहीं हटती थी

थोड़ा गम था मगर ज़्यादा खुशी थी

तेरी हंसी मेरी हंसी थी

मेरा गम तेरा गम था

अब वही हंसी कहीं खो सी गयी है

क्योंकि मेरा दोस्त मुझसे रूठ सा गया है

मनाना चाहती हूँ मगर मना नहीं पाती हूँ

बात करना चाहती हूँ मगर बात नहीं कर पाती हूँ

मेरी हर सुबह जिससे होती थी

वहीं आज मेरी रातें रोते हुए कटती हैं

उनकी जुदाई हमने बर्दाश्त करनी सीखली है अब

क्यूंकि हमने उनकी यादों के सहारे जीना सीख लिया है अब

जब भी याद तेरी आती है तो आँखें भर आती हैं

-कविता परमार

4 thoughts on “Hindi Love Poem-याद आती है

Leave a Reply