Hindi Love Poem – प्यार कितना है तमसे


woman-872815_960_720

प्यार कितना है तमसे
ये छुपाऊँ कैसे
दर्द इतना है दिल में
आँसू रोक पाऊँ कैसे
तुमको देखा है जब से
खो गई हूँ मैं तब से
तुमको जानने की तलब
दिल से मिटाऊँ कैसे
प्यार कितना है तुमसे
ये छुपाऊँ कैसे

-अनुष्का सूरी

Pyar kitna hai tumse
Ye chupau kaise
Dard itna hai dil mein
Ansu rok pau kaise
Tumko dekha hai jab se
Kho gayi hu main tab se
Tumko jaanne ki talab
Dil se mitau kaise
Pyar kitna hai tumse
Ye chupau kaise

-Anushka Suri

Hindi Love Poem For Her -ऐ दिल


heart-wallpaper-1366x768

ऐ दिल ! तू फिर मुस्कुराया है
है कुछ अपनी बात, या फिरउनकी बात कहने आया है
बता दिल तू फिर क्यों मुस्कुराया है ?
सियासी दौर मैं अब तो कुछ नजरों ने भी डराया है
है कोई प्रेम आमंत्रण या फिर किसी ने प्रेम जाल बिछाया है
बता मेरे दिल! तू क्यों मुस्कुराया है
आज फिर महफ़िल में लोगो ने चर्चा बनाया है
शायद किसी बेवफा ने उन्हें खूब हंसाया है
पर तुझे क्या मिला दिल जो तू इतना मुस्कुराया है
सच बता मेरे दिल! तू क्यों मुस्कुराया है
ये किसी के आने कि आहट है ,या किसी को पाने कि चाहत है
सवाल सैकड़ों हैं जिंदगी के जिसने तुझे इतना सताया है
बता मेरे दिल फिर भी तू क्यूँ मुस्कुराया है
तू है ही जिद्दी ,जिसने तुझे इतना रुलाया है फिर भी तू उसी से
मिलने आया है तुझे देखकर तो शहर भी हैरान है,शायद
किसी ने ये सवाल उठाया है जिस शख्स ने इतना जख्म दिया ,
तू फिर क्यों उसी के जख्मों को धोने आया है,
वाह मेरे दिल ! ,अब मालूम है मुझे तू क्यों मुस्कुराया है
शायद फिर से तुझे कोई अपना बनाने आया है
संभल जा मेरे दिल !शायद तू अंतिम बार मुस्कुराया है

-प्रतिभा त्रिपाठी

Ae dil tu fir muskuraya
Hai kuch apni bat ya fir unki bat khne aaya hai
Bta dil tu fir kyon muskuraya hai?
Siyasi daur mein ab to kuch nazro ne bhi daray hai
Hai koi prem aamntran ya fir kisi ne prem jaal bichaya hai
Bta dil tu fir kyon muskuraya hai?
Aaj fir mehfil me logo ne chrcha bnaya hai
Sayd kisi bevfa ne unhe khub hasya hai
Par tuje kya mila dil jo tu etna muskuraya hai
Such bta dil tu fir kyon muskuraya hai?
Ye kisi k aane ki aahat hai
Swal sakdo hai zindgi k jisne tuje etna staya hai
Bta mere dil fir kyu tu uskuraya hai
Tu hai hi ziddi jisne tuje etna rulaya hai
Fir bhi tu usi se milne aaya hai
Tuje dekh kar ye shar bhi hrain hai sayd
Kisi ne ye swal uthay hai
Jis shksh ne etna jhkam diya tu
Fir kyon usi k jkhmo ko dhone aaya hai
Wah mere dil ab malum hai muje tu kyon muskuraya hai
Sayd fir se tuje koi apna bnane aaya hai
Smbhal ja mere dil sayd tu antim bar muskuray hai

-Pratibha Tripathi

Sad Hindi Poem- प्यार नहीं था था वो फ़साना


This slideshow requires JavaScript.

प्यार नहीं था
था वो फ़साना

मौसम बदले
तुम भी बदले
तुमको नया
प्यार निभाना
तब मैंने जाना
प्यार नहीं था
था वो फ़साना

जब मैं थी तन्हा
तुझको पूकारा
तूने पलट के ना
देखा दोबरा
तब मैंने जाना
हाँ मैंने जाना
प्यार नहीं था
था वो फ़साना

जब दिल ये टूटे
तब मैंने जाना
प्यार नहीं था
था वो फ़साना
था वो फ़साना

– अनुष्का सूरी

English Translation:

It wasn’t love, but an affair
When my heart was broken,
then I realized..
It wasn’t love,
but an affair
but an affair..
When I was lonely and I needed you,
I called you..
But you did not bother to
see me or meet me..
Then I realized,
yes I realized
It wasn’t love,
but an affair
Seasons changed
You also changed
You did not learn
how to respect love
Then I realized,
yes I realized
It wasn’t love,
but an affair

-Anushka Suri

How to read:

pyar nahi tha
tha wo fasana..

mausam badle
tum bhi badle
tumko naaya
pyaar nibhana
tab maine jana
pyar nahi tha
tha wo fasana

jab main thi tanha
tujhko pukara
tune palat ke na
dekha dobara
tab maine jana
haan manine jana
pyar nai tha
wo tha fasana

jab dil ye tuta
tab maine jana
pyar nahi tha
tha wo fasana
tha wo fasana

-Anushka Suri

Miss You Love Poem – आंसू भी तेरे हैं इश्क़ भी तेरा


alone-666078_960_720

आंसू भी तेरे हैं इश्क़ भी तेरा
अब तो हर वक़्त आंसू ही बहते हैं
शिकवा आंसुओ से भी नहीँ
न तुझसे, क्योंकि मुहब्बत तुझसे है
और आंसू भी तेरे हैं इश्क़ भी तेरा
गिला करूँ तो किससे?

गौरव

Aansu bhi tere hain ishq bhi tera
Ab to har bakat aanshu hi bhte hai
Shikwa aanso se bhi nai
Na Tujhse kyuki mhobbat tujhse hai
Aansu bhi tere hai ishq bhi tera
Gilla karu to kisse

-Gaurav

Hindi Poem For Girlfriend-पता नहीं


aa.png

 

पता नहीं किसकी दुनिया में खो गया हूँ
प्यार की किस्ती में बैठ, साहिल की खोज में सो  गया हूँ
ऐसी क्या कमी है मुझमे जिसे देख कोई प्यार करने से डरता है
उन्हें कोई ये समझाओ , “नादानी है ये उसकी जो ये हद से ज्यादा प्यार करता है ।  “
थक गया हूँ  प्यार की तलाश में
ज़िंदगी से रुठ  गया हूँ,  महोब्बत की खराश में
कही ऐसे न हो प्यार से मेरा भरोसा उठ जाये
चलते चलते , मेरे हाथों नसीब का  गला  न घूट  जाये
ऐ  प्यार तुझे रब दा वास्ता कभी मेरी भी फ़िक्र कर लिया कर
जिससे मोहब्बत करू ,उसके दिल से जा कर  मेरी थोड़ी ज़िकर भी कर लिया कर
हर पल धीरे धीरे मरने से अच्छा  मुझे  एक पल में साफ कर  देना
उसके बाद हो सके तो , इस बदनसीब दिल को दिल से माफ़ कर देना

 

– निखल कुमार पटवारी

Miss You Poem for Him – दिल का दर्द


inside_out_sadness___disney_pixar-wallpaper-1366x768

दिल का दर्द आखों में उतर आता है
जहाँ देखूं बस तेरा चेहरा नज़र आता है
तेरी बातें बार बार याद आती हैं
तुझे याद कर आखें भर आती हैं
न रातों को सुकून मिलता है
न दिन को चैन आता है
जब देखो जहाँ देखो
तू याद आता है
होता तू इस जहाँ में अगर
तो तुझसे मिल पाती
पर तू है ऐसे जगह
जहाँ खुदा ही पहुंच पाता है
– अनुष्का सूरी

Miss Him Love Poetry-दिल की आवाज़


खो दिया उसे एक दिन
तो ये आँखे ही क्या,
दिल बहुत रोएगा….
इतना चाहा है दिल ने उसे,
किसी और का ना हो पाएगा….
क्या पता था इतना प्यार हो जाएगा,
मेरा कल तुमसे जुड़ जाएगा….
इतना करीब से गुज़रे हो दिल के,
कि निशान अभी भी बाकी है….
पहले तो खींच लिया मुझे,
ग़मों की गहराई से….
और अब कह दिया उसने,
खुशी नहीं है उसके पास….
आदत भी तो ऐसी हो गई है,
कि छोड़ नहीं पाऊँगी….
उसे क्या इलज़ाम देना,
करीब तो मैं आई थी….
वो तो कब से दूर था,
दिल पर तो मैंने लिया….
उसने तो बस मज़ाक समझा,
तो तकलीफ उसे क्यों हो….
पर फिर भी एक उम्मीद है उससे,
जब आएगा वो कल,
जिंदगी का सबसे मुश्किल भरा पल,
ना पास तेरे आ सकूँगी,
ना दूर तुझसे जा सकूँगी,
तो बस एक बार दुनिया को भूल कर,
एक आवाज़ दिल से देना,
और रोक लेना मुझे,
कदम क्या साँसे थम जाएँगी,
बस एक दिल की आवाज़…….
मेरे लिए………….

-लता कुशवाह