Miss Him Love Poetry-दिल की आवाज़


खो दिया उसे एक दिन
तो ये आँखे ही क्या,
दिल बहुत रोएगा….
इतना चाहा है दिल ने उसे,
किसी और का ना हो पाएगा….
क्या पता था इतना प्यार हो जाएगा,
मेरा कल तुमसे जुड़ जाएगा….
इतना करीब से गुज़रे हो दिल के,
कि निशान अभी भी बाकी है….
पहले तो खींच लिया मुझे,
ग़मों की गहराई से….
और अब कह दिया उसने,
खुशी नहीं है उसके पास….
आदत भी तो ऐसी हो गई है,
कि छोड़ नहीं पाऊँगी….
उसे क्या इलज़ाम देना,
करीब तो मैं आई थी….
वो तो कब से दूर था,
दिल पर तो मैंने लिया….
उसने तो बस मज़ाक समझा,
तो तकलीफ उसे क्यों हो….
पर फिर भी एक उम्मीद है उससे,
जब आएगा वो कल,
जिंदगी का सबसे मुश्किल भरा पल,
ना पास तेरे आ सकूँगी,
ना दूर तुझसे जा सकूँगी,
तो बस एक बार दुनिया को भूल कर,
एक आवाज़ दिल से देना,
और रोक लेना मुझे,
कदम क्या साँसे थम जाएँगी,
बस एक दिल की आवाज़…….
मेरे लिए………….

-लता कुशवाह

6 thoughts on “Miss Him Love Poetry-दिल की आवाज़

  1. hello ma’am awsm poetry.. I m budding singer .can u plz write a song for me.. I lyk ur poetry.. I am going to record a track..can u help.??

    Like

  2. ek baar ek ladki aur ek ladka aaps me bahut pyar karte the achanak ladi kibdeath ho gayi kuch din bad us ladke ke liye asma se ek aawaz aayi

    ” ek wada tha har wade k peeche
    milungi tumhe har gali har darwaze k peeche
    pahut pyar karti huin tumse
    bahut pyaar karti huin mai tumse
    par ek tu he nhi tha mere zanaze k peeche”
    tabhi ladk ki awaz aati hai
    ” ha ek wada tha har wade k peeche
    mai milunga hr gli hr darwaze ke peeche
    mai bhi bahut pyar karta huin tumse
    tu ne hi nhi dekha peeche mudkar ek aur zanaza tha tere zanaze ke peeche” with sad i miss him

    Like

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s