Miss You Hindi Love Poem-रात का समां है

night-2966495_960_720

रात का समां है
जान तू कहाँ है
तेरे लिये दिल मेरा
धड़का है जा रहा..
चाँद तारे देखो आसमान में
कितने चमकते हैं प्यारे प्यारे
यहाँ ज़मीन पर एक हम है
तड़पते हैं याद में तेरे
रात का समां है
जान तू कहाँ है
तेरे लिये दिल मेरा
धड़का है जा रहा..
दिल ने सोचा तुझको चाहें
तुझको पूजें तुझको पायें
आजा, तू कहाँ है?
ज़ालिम ये जहां है..
रात का समां है
जान तू कहाँ है
तेरे लिये दिल मेरा
धड़का है जा रहा..
-अनुष्का सूरी

3 thoughts on “Miss You Hindi Love Poem-रात का समां है

Leave a Reply