Hindi Love Poem for Boyfriend, Girlfriend-हम यूं ही रहेंगे

human-1215160__340
वक़्त के दायरो में हम यूं ही पिघल जायेंगे,
दूर ही सही पर हर पल तुम्हें याद आयेंगे,
कभी वक़्त के पन्नों को पलट के आप सोचेंगे
मेरी लिखी हर कविता में खुद को आप पायेंगे,
मिले थे आप जिसे बन के अजनबी,
वही तो हैं हम जो दिल के पास हो जायेंगे,
हम तो हर वक़्त रहेंगे आपके साथ कविता बन के
वक़्त के साथ ना समझना हमें बेवफा,
जब भी बुलाओगे दिल से हमें
आपकी आँखों को छुपाये अपने हाथों से हम ही मुस्कुरायेंगे,
जब भी याद करोगे दिल से हमें
आँखों से आंसू बन के हम छलक जायेंगे
-कविता परमार

Hindi Love Poem-आज फिर

आज फिर ये लम्हा
कुछ रुक कर कुछ कह रहा है..
आज फिर ये समा
एक अजीब कसक सी खामोशी में रह रहा है..
आज फिर ये धड़कन
कुछ तेज़ तो कुछ धीमी है …
आज फिर कदमों से
दूर लगती ये ज़मी है..
आज फिर कोई दिल को
इस कदर सता रहा है..
आज फिर कोई दूर जाने का इशारा करके 
पास बुला रहा है..
आज फिर दिल से 
एक फरियाद आ रही ह़ै 
आज फिर दिल को तेरी
बहुत याद आ रही है …..

-रवि 

Hindi Romantic Poetry -नज़रों की ज़ुबान

people-2563491__340.jpg

नज़रों की ज़ुबान
सिमटे वो हम में इस कदर
कि हमारे जज़्बात बह गये..
बरसों से दिल में बसे एहसास थम गये..
नज़रों नज़रों में होने लगी हमारी बातें..
आँखें बन गयी दिल की ज़ुबान..
कहने लगी तुम्हारे दिल की कहानी..
अब कोई कुछ ना कह पायेगा..
प्यार तुमसे बेपनाह है
आँखों आँखों में बयाँ हो जायेगा.
-गौरव

Nazron ki zubaan
Simate wo ham mein is kadar ki hamare jazbat bah gaye..
Barson se dil mein basey ehsaas tham gaye..
Nazron nazron mein hone lagi hamari batein..
Aankhein ban gayi dil ki zubaan..
Kahne lagi tumhare dil ki kahani..
Ab koi kuch na kah payega..
Pyar tumse bepanah hai
Aankhon aankhon mein bayan ho jayega.
-Gaurav

Hindi Love Poem-आंसू

sad

जब हम रोये तुम्हें याद करके
तब पलकों में सिर्फ आंसू थे
कुछ टूटे एहसास थे
और पलकों में सिर्फ आंसू थे
ना कोई पास था सिर्फ ग़मों का एहसास था
और पलकों में सिर्फ आंसू थे
समय की धारा में बहते गये
आँखों में नमी को सहते गये
और हर पल पलकों में सिर्फ आंसू थे
ख्वाब कुछ नये भी सजाये हमने
पलकों में पर खुशी कहीं नहीं
पलकों में सिर्फ आंसू थे
बंद करी जब पलकें तो इंतज़ार था
और तेरे प्यार के
इन पलकों में सिर्फ आंसू थे
-गौरव

Jab ham roye tumhein yad karke
Tab palkon mein sirf aansu the
Kuch toote ehsaas the
Aur palkon mein sirf aansu the
Na koi paas tha sirf gamon ka ehsaas tha
Aur palkon mein sirf aansu the
Samay ki dhara mein bahte gaye
Aankhon mein nami ko sahte gaye
Aur har pal palkon mein sirf aansu the
Khwab kuch naye bhi sajaye hamne
Palkonmein par khushi kahin nahin
Palkon mein sirf aansu the
Band kari jab palkein to intazar tha
Aur tere pyar ke
In palkon mein sirf aansu the
-Gaurav

Hindi Love Poem-कुछ ख्वाब

1wed

हमने भी कुछ ख्वाब देखे थे
अनजाने में किसी को अपना बनाया था
वो मिले इस क़दर कि हम खुदको भूल गये
उनके सपनों की दुनिया में चूर हो गये
हम भी सपनों की दुनिया में जीने लगे
उनको दिल ही दिल में अपना बनाने लगे
खुली जब आँखें तब सपने टूटने लगे
जिन्हें हम चाहते थे वो दूर होने लगे
अनजाने में जिन्हें हम चाहते थे
पता ना चला वो कब किसी और का नसीब होने लगे
एक पल में उन्होने हमें भुला दिया
किसी और को अपना बना लिया
हमें इस क़दर रुला दिया
चाह कर भी हम उन्हें भुला ना सके
अपना किसी और को बना ना सके

-सोनी नेगी

Kuch Khwab- Hindi Prem Kavita

Hamne bhi kuch khab dekhe the
Anjane me kisi ko apna banaya tha
Wo mile is kadar ki ham khud ko bhul gaye
Unke sapno ki duniya me chur ho gaye
Ham bhi sapno ki duniya me jeene lage
Unko dil hi dil me apna banane lage
Khuli jab aankhein toh sapne tootne lage
Jinhe ham chahte the wo dur hone lage
Anjane me jinhe ham chate the
Pata na chala wp kab kisi or ka naseeb hone lage
Ek pal me unhone hamein bhula diya
Kisi or ko apna bana liya
Hamein is kadar rula diya
Chahkar bhi ham unhein bhula na sake
Apna kisi or ko bana na sake

-Soni Negi

English Translation:

Some Dreams – Hindi Love Poem
I had also seen some dreams
I had made someone mine unknowingly
S/He met me in such a manner that I forgot everything
I broke down in the world of his/her dreams
I also started living in a world of dreams
I started making him/her mine within my heart
When I woke up dreams started getting shattered
The one whom I loved started drifting away from me
The one whom I loved unknowingly
I did not realize when s/he started being someone else’s destiny
S/He forgot me in a second
And made someone else his/her own
S/He made me cry to such an extent
In-spite of trying too hard I could not forget the person
I could not make someone else mine

 

Romantic Hindi Poem for him and her-क्या नाम दूँ

दिल के इस दर्द को क्या अंजाम दूँ
ओ दर्दे दिल देनेवाले तुझे क्या नाम दूँ
क्या तुझे मैं कहूँ फूलों की खुश्बू
या फिर कहूँ जीने की आरज़ू
क्या तुझे कह दूँ सावन की पहली बरसात
या तुझे कहूँ दिल में दबे कुछ जज़्बात
जो भी नाम दूँ तुझे तुझपर खूब सजेगा
ये दिल मेरा तुझपर ही मर मिटेगा

– अनुष्का सूरी

English Translation:
What should be the conclusion for this pain of my heart
Oh sweetheart who has given me this heart ache, what name should I call you
Should I call you the fragrance of flowers
Or should I call  you the desire to live
Should I address you as the first shower of the monsoon
Or should I call you hidden emotions in my heart
Whatever name I give, it shall suit you a lot
My heart will only long for you

– Anushka suri

I love you Hindi Poem-प्यार

rose-3075998__340

दिन और रात तेरा इंतज़ार करते हैं

हाँ हम आज भी तुमसे प्यार करते हैं

पलकों पर तेरे सपने सजते हैं

तेरे खयाल इस दिल में बसते हैं

शहद से मीठी तुम्हारी बातें

सबसे हसीन हमारी मुलाकातें

याद आती हैं मुझे अब भी

आओ मिल जाओ मुझसे आज अभी

– अनुष्का सूरी

Romantic Hindi Poem -मेरे दिल में तू ही तू है

heart-2448640_960_720

मेरे दिल में तू ही तू है

और किसी की जगह नहीं है

तू ही मेरा खुदा है

तू ही मेरा मज़ा है

तू ही मंज़िल है

तू ही रास्ता है

तुझे छोड़ के

किसी और से क्या वास्ता है

तू मिले तो ख़ुशी है

तेरे बिना जीना सजा है

– अनुष्का सूरी

Romantic Hindi Poetry- इंतज़ार

जाने कितने दिन महीने साल गुज़रे तेरे इंतज़ार में
हाय हम तो पागल दीवाने हो गये तेरे प्यार में
रातों को नींद आती नहीं
दिन को भी नहीं है चैना
बस तेरे ही आने की उम्मीद में
राह तकते मेरे नैना
उफ ये कैसा दीवानापन है
लोग कहते हैं ये पागलपन है
पर दिल ये मेरा मानता नहीं
तुझे चाहने के सिवा ये कुछ और जानता नहीं

– अनुष्का सूरी