Posted in Heart Touching Love Poem, Hindi Love Poem, Hindi Love Poem Expressing Love, Hindi Love Poem For Girlfriend, Hindi Love Poem For Her, Hindi Love Poems by Readers, Hindi Love Shayari for Girlfriend, Hindi Love Shayari for Her, Hindi Poem for A Girl, Hindi Poems for Lover, Hindi Shayari

Hindi Poems on Love – वो पगली सी दीवानी सी


वो पगली सी दीवानी सी, सपनों में मेरे आती है,
आहट उसकी, जैसे दिल में हलचल सी कर जाती है,
झुकी नजर उसकी, जैसे मुझको पागल कर जाती है,
वो पगली सी दीवानी सी, सपनों में मेरे आती है। आइना है
उसकी नज़रें, जो सबकुछ बतलाती है, वो है पागल,
जो दिल को झुटा बतलाती है, लगती है प्यारी,
जब खुद ही वो शर्माती है,
वो पगली सी दीवानी सी, सपनों में मेरे आती है। कहता है
जमाना कि, वो तो पागल है, वे-वजह, जब-जब वो मुस्कुराती है,
जमाने को क्या पता, कि वो मुझसे क्यों शर्माती है,
वो पगली सी दीवानी सी, सपनों में मेरे आती है।
जब आँखें मेरी मदहोश चेहरे से उसके, मिलकर आती हैं,
काश वो समझ पाती कि, कितना मुझको वो तड़पती हैं,
खो गया गया हूँ मुझसे मै, न नींद मुझको अब आती है,
वो पगली सी दीवानी सी, सपनों में मेरे आती है।….

– अतुल कुमार

Wo pagli si diwani si, sapno me mere aati hai,
Aahat uski, jaise dil me hulchul si kar jati hai,
jhuki nazar uski, jaise mujhko pagal kar jati hai,
Wo pagli si diwani si, sapno me mere aati hai. Aaina hai
Uski nazrein, jo sabkuchh batlati hai, wo hai pagal,
jo dil ko jhuta batlati hai, lagti hai pyari,
jab khud hi wo sharmati hai,
Wo pagli si diwani si, sapno me mere aati hai. Kehta hai
jamana ki, wo pagal hai, Be-wajah, jab-jab wo mushkurati hai,
jamane ko kya pta, ki wo mujhse kyun sharmati hai,
Wo pagli si diwani si, sapno me mere aati hai.
Jab aankhein meri madhosh chehre se uske, milkar aati hai,
Kash wo samajh pati ki, kitna wo mujhko tadpati hai,
Kho gya hu mujhse me, na neend mujhko ab aati hai,
Wo pagli si diwani si, sapno me mere aati hai.

– Atul Kumar

Posted in Break Up Hindi Love Poems, Heart Touching Love Poem, Heartbreak Hindi Love Poems, Hindi Love Letters, Hindi Love Poem for Lost Love, Hindi Love Poem on Pain, Hindi Love Poem on Separation, Hindi love poems, Hindi Love Poems by Readers, Hindi Poems for Lover, Hindi shayari for lost love, Miss You Hindi Love Shayari, Miss You Love Poem, Sad Hindi Love Poems, Sad Hindi Love Shayari

Miss You Hindi Love Poem – ठीक हूँ मैं


person-2244036_960_720

देखा जवाब मिला मुझे कि,
परेशान नहीं ठीक हूँ मैं।

तुम सोचना नहीं मुझे कभी,
तुम ढूंढना नहीं मुझे कभी,
परेशान नहीं ठीक हूँ मैं।

जब तस्वीरे देख जाओ कभी,
जब आँखों में पानी लाओ कभी,
रुमाल निकाल पोछ सकते हो,
या इतना पानी तो सोख सकते हो
पर मुझे कुछ नहीं कहना क्योंकि,
परेशान नही ठीक हूँ मैं।

जब लिखा हुआ कुछ मिल जाए,
दिल में फिर से अरमां खिल जाए,
कुछ नहीं दबा लेना सब कुछ,
या किताब बना देना सब कुछ,
पर मुझे कभी मत पढ़ाना क्योंकि,
परेशान नहीं ठीक हूँ मैं।

याद में तुम रात गुज़ार दो अगर,
ये कोई नई बात नहीं होगी मगर,
चाँद को देखते मेरा अश्क नज़र आये,
मुँह फेर लेना अपना शायद इश्क़ मर जाये,
पर मुझे परेशान मत करना क्योंकि,
परेशान नहीं ठीक हूँ मैं।

।।गीतेश नागेंद्र।।

Posted in Emotional Hindi Love Poems, Heartbreak Hindi Love Poems, Hindi Love Poem For Girlfriend, Hindi Love Poem For Her, Hindi Love Poem for Lost Love, Hindi Love Poems by Readers, Hindi Love Shayari for Her, Miss You Hindi Love Shayari, Miss You Love Poem, Sad Hindi Love Poems

Sad Hindi Love Shayari for Girlfriend – वीरानियाँ


inside_out_sadness___disney_pixar-wallpaper-1366x768रोने दे कुछ पल मुझको
ये आंसू अच्छे लगते हैँ
कभी कभी ये गम के बादल भी
कुछ अपने लगते हैं
हँसना मेरा सबने देखा
जो मेरी पहचान है
पर छुप छुप के हूँ कितना रोया
इस बात से सब अनजान हैं
रात की छाया ले आई जब तन्हाई
उदासी सी कुछ उमड़ आई
सहसा ढलका आँख का पानी
आंसू बन के बहता गया
कोई न यहाँ जग है तन्हा
हैं बस मैं और मेरी तन्हाईयाँ
साथ मेरा देते हैं आंसू
छाईं हैं वीरानियाँ

-गौरव

Posted in Hindi Love Poem For Girlfriend, Hindi Love Poem For Her, Hindi Love Poem for Wife, Hindi Love Poems by Readers, Hindi Poems for Lover, Miss You Hindi Love Shayari, Miss You Love Poem

Hindi Love Shayari for a Girl-तस्वीर


once_loved_always_loved-wallpaper-1366x768

हम उनकी तस्वीरों को छुप छुप के सजाया करते हैं
कभी रखते हैं इन आँखों में, कभी दिल में बसाया करते हैं
होती जब भी गहरी यादें, यादों का होता है मंज़र,
लेते हैं तस्वीर उसकी , फिर उस से बातें करते हैं,
खेलते हैं फिर ज़ुल्फों से, होंठों से लगाया करते हैं ,
वो न न कहती कभी नहीं, बस दिल से लग जाया करती है,
हम बाँहों में बस भर के उसे सपनों को खूब सजाते हैं,
हम उनकी तस्वीरों को छुप छुप के निहारा  करते हैं,
एक दिन ऐसा भी आया, जब नज़रों में वो छाए,
बस एकटक देखा उसने हमने होश गवाए
सब कुछ गवा सकते हैं, मगर उसकी तस्वीर छुपा के रखते हैं,
पर आँखों में जो तस्वीर उसकी, हम उसको छुपा न पाये,
इस दिल का हाल बयां करती तस्वीर उसकी कहती
मेरा सब कुछ है बस तस्वीर तुम्हारी मेरी
मैं हर गम को सह सकता हूँ, तुम बिन भी रह सकता हूँ,
बस इन आँखों से कुछ न कहना, तस्वीर को इनमें रहने देना,
तुझे  हर पल पूजा करता हूँ, बस तेरे इश्क़ में जीता हूँ
रोज़ सजा के तस्वीर तुम्हारी आँखों के मंदिर में बिठाया करता हूँ,
मैं तस्वीर तुम्हारी लेकर इस दिल में बसाया करता हूँ
-गौरव

Ham unko tasveero ko chup chup ke sajaya karte hain,

Kabhi rakhte hain in ankho mein, kabhi dil mein basaya karte hain,

Hoti jab bhi gahri yadein, yado ka hota hai manzar,

Lete hain tasveer uski, phir us se batein karte hain,

Khelte hai phir zulpho se, hotho se lagaya karte hain,

Vo na na kehti kabhi nahi, bas dil se lag jaya karti hain,

Ham bahon mein bas bhar ke use, sapno mei khoob sajate hain,

Ham unki tasveero ko chup chup ke nihara karte hain,

Ek din aisa bhi aya jab nazron mein wo chaye,

Bas ek tak dekha usne, hamne hosh gawaye,

Sab kuch gawa sakte hain, magar uski tasveer chupa ke rakhte hain.

Par ankho mein jo tasveer uski, ham usko chupa na paye,

Is dil ka hal bayan karti tasveer uski kahti,

Mera sab kuch hai bas tasveer tumhari meri,

Main har gam ko sah sakta hoon, tum bin bhi rah sakta hoon,

bas in ankho se kuch na kahna, tasveer ko in mein rahne dena

Tujhe har pal puja karta hoon, bas tere ishq mei jeeta hoon,

Roz saja ke tasveer tumhari, ankho ke mandir mein bithaya karta hoon,

Main tasveer tumhari lekar is dil mein basaya karta hoon.

  • Gaurav
Posted in Hindi Love Poem For Boyfriend, Hindi Love Poem For Him, Hindi Love Poem for Husband, Hindi Poems for Lover

Hindi Love Poem for Him-रंग खिलता जाये


 girl-1352914_960_720
मेरा रंग हुस्न का खिलता जाये,
तू ही मेरे दिल को भाये,
मुझ पे चढ़ी जवानी योवन छाये,
मैं हुई बावरी तेरी,
मैं हुई दीवानी तेरी,
ख़यालों में तेरे जब भी डूबूं,
तेरी ही बाहों में झूमूँ,
तितली के मैं साथ चलूँ,
और दिल में तेरे रहलूँ,
ये प्यार कैसे रंग सजाये,
मेरा रंग हुस्न का खिलता जाये,
तस्वीर तेरी मैं रोज़ बनाऊँ,
प्यार के रंगों से उसे सजाऊँ,
मैं गुस्सा होके उससे रूठूँ,
उससे ही मैं तो कह दूँ,
कैसे कैसे रोग लगाये,
ये प्यार कैसे रंग सजाये,
मेरा रंग हुस्न का खिलता जाये,
तू ही मेरे दिल को भाये.
-ट्रू लव
Posted in Emotional Hindi Love Poems, Heart Touching Love Poem, Heartbreak Hindi Love Poems, Hindi Love Poem For Boyfriend, Hindi Love Poem For Him, Hindi Love Poem for Lost Love, Hindi Love Poem on Separation, Hindi Love Poems by Readers, Miss You Love Poem

Love Poem for Him-तेरी यादों में जीने लगी हूँ


woman-872815_960_720

तेरी यादों में जीने लगी हूँ

तेरे गीतों को सुनने लगी हूँ

इस मीठी सी ठंड में आँखें नॅम होने लगी हैं

तेरी याद में नींदें खोने लगी लगी है

जब देखा दूर चमकते तारे को

उसकी चमक देख तेरी याद आई

जब देखा उपर खुले आसमान को

तेरी बाहों की याद आई.

जब बैठी नदी किनारे

बहते पानी में तू ही नज़र आया

फिर अपने आप से पूछ बैठी

क्या तुमने अपना प्यार पाया?

इस प्यार भरे लम्हे में खो गयी

ना जाने कब तेरे इतनी करीब हो गयी

तेरी ही बातें करने लगी हूँ

तुझे अपने गीतों में गुनगुनाने लगी हूँ

तेरी यादों में जीने लगी हूँ

-कविता परमार

Posted in Hindi Love Poem Expressing Love, Hindi Love Poem For Girlfriend, Hindi Love Poem For Her, Hindi Love Poem to Propose a Girl, Hindi Love Shayari for Girlfriend, Hindi Poem on First Love

Hindi Love Poem Expressing Love to Girl-फूलों की खुश्बू


फूलों की खुश्बू love
चाँद सा निखार
जीने की आरज़ू
अपनों से प्यार
सोचता था तुझे
कल भी यूँ ही
और आलम देखो
आज भी खोया हूँ यूँ ही
बस तेरे खयालों में
आज भी मैं
बहुत बार सोचा
दिल की बात कह दूँ
दिल में जो बातें हैं
तुझको बता दूँ
लेकिन डरता हूँ
कहीं तू ना रूठ जाये
जान के ये बात कि
मैं तुझ पर मरता हूँ
पर आज इस दिल पर काबू नहीं
छाया है तेरा जादू मुझ पर कहीं
आज मैं ये इकरार करता हूँ
मैं कल भी तुझसे प्यार करता था
और आज भी सिर्फ तुझसे प्यार करता हूँ
हाँ मैं तेरा इंतज़ार करता हूँ
मैं तुझसे प्यार करता हूँ
नहीं मालूम मुझे तू मुझे अपना माने या ना माने
पर मैं तुझसे प्यार करता हूँ
मैं तेरा इंतज़ार करता हूँ

-अनुष्का सूरी