Hindi Love Shayari-तुम

lovers_5-wallpaper-1366x768
फ़िज़ाओं में आई सब बहारों की गुलिस्ता हो तुम
चहरे पर हमारे जो मुस्कान है उसकी वजह हो तुम
इस अंधेरों भरी ज़िन्दगी का उजाला हो तुम
दर्द भरी राह में बस एक मसीहा हो तुम
हर गम हर दर्द की दवा हो तुम
एक अनदेखे अनजाने ख्वाब की हक़ीक़त हो तुम
प्यार की मीठी टकरार हो तुम
मेरी जीत मेरी हार हो तुम
मेरे दिल के सागर का किनारा हो तुम
क्या कहें खुदा से सोचते हैं
हमारे लिए तो खुदा हमारा हो तुम
-दीपाली दभाई

One thought on “Hindi Love Shayari-तुम

Leave a Reply