Valentine’s Day Love Poem-वॅलिंटाइन की रात

एक वॅलिंटाइन की रात,be-my-valentine
वो मेरे दिल के पास,
आँखों से आँखों ki होने लगी बात,
तेरे पास फिर मैं आया
गोद में तुझे उठाया,
तेरी ज़ुल्फ़ों को
अपने हाथों से मैने सजाया,
फिर बैठ के तेरे सामने कही दिल की बात
इस वॅलिंटाइन की रात
मेरी प्रिन्सेस तुम हो बहुत खास,
सोचा तुमको आज मैं तोहफा क्या दूँ खास,
जो हर पल रहे तेरे दिल के पास,
फिर मैने हाथ बढ़ाया
तुझे गले से लगाया,
तेरे होंठों से अपने होंठों को
मैने फिर मिलाया,
खोल के तेरी ज़ुल्फ़ें
सितारों से सजाई,
प्यार के इन रंगों से
तेरी तस्वीर आज बनाई,
तुम थी बहुत खामोश
पर धड़कन में कुछ शोर था,
कह रही थी वो भी मुझसे
कि तेरे दिल में ना कोई और था,
फिर मैने तुझे सताया
ये कहके तुझे मनाया,
चुपचाप तू ना रहना
तू भी कुछ कहना,
मेरे साथ साथ तू भी प्यार के गीत गाना,
सजदे में तेरे झुक के मैं तुझको आज बताऊँ,
अब सारी उमर मैं वॅलिंटाइन तेरे साथ मनाऊँ,
बस तेरे साथ मनाऊँ.
-गौरव

6 thoughts on “Valentine’s Day Love Poem-वॅलिंटाइन की रात

  1. वो मेरे दिल के पास,
    आँखों से आँखों ki होने लगी बात,
    तेरे पास फिर मैं आया
    गोद में तुझे उठाया,
    तेरी ज़ुल्फ़ों को
    अपने हाथों से मैने सजाया,
    फिर बैठ के तेरे सामने कही दिल की बात
    इस वॅलिंटाइन की रात
    मेरी प्रिन्सेस तुम हो बहुत खास,
    सोचा तुमको आज मैं तोहफा क्या दूँ खास,
    जो हर पल रहे तेरे दिल के पास,
    फिर मैने हाथ बढ़ाया
    तुझे गले से लगाया,
    तेरे होंठों से अपने होंठों को
    मैने फिर मिलाया,
    खोल के तेरी ज़ुल्फ़ें
    सितारों से सजाई,
    प्यार के इन रंगों से
    तेरी तस्वीर आज बनाई,
    तुम थी बहुत खामोश
    पर धड़कन में कुछ शोर था,
    कह रही थी वो भी मुझसे
    कि तेरे दिल में ना कोई और था,
    फिर मैने तुझे सताया
    ये कहके तुझे मनाया,
    चुपचाप तू ना रहना
    तू भी कुछ कहना,
    मेरे साथ साथ तू भी प्यार के गीत गाना,
    सजदे में तेरे झुक के मैं तुझको आज बताऊँ,
    अब सारी उमर मैं वॅलिंटाइन तेरे साथ मनाऊँ,
    बस तेरे साथ मनाऊँ.

Leave a Reply