Broken Heart Love Poem-Galti

गलती बेशक गलती सिर्फ तेरी नहीं,कुछ मेरी भी होगी खामोश रातों में आंखें तेरी भी भीगी होगीयकीन है हमेंतू भी तड़पा होगा भीगी पलकों के साथबीते लम्हों की तुझे भी याद आयी होगीबेशक गलती सिर्फ तेरी नहीं,कुछ मेरी भी होगी वो रातों की कुछ शरारतेंजिस में अक्सर नींदें खो जाया करती थीबेशक तुझे भी याद […]

Read More

Missing Her Love Poem-Tumhari Yaad Dil Se Jaati Nahi

तुम्हारी याद दिल से जाती नहीं (कविता का शीर्षक) तुम से मिलने की आशा बहुत है मगर,तुम से मिलने कि रुत है कि आती नहीं|करूँ कितनी भी कोशिश दिल बहलाने की मगर,एक तेरी याद दिल से है कि जाती नहीं || प्रेम कि राह में मुझको ले चली|वो हाथ पकड़ के अपनी गली||मैं तो चलता […]

Read More

Missing Him Love Poem-Ek Waqt Tha

एक वक़्त था (कविता का शीर्षक) एक वक़्त था .. जब हम अजनबी हुआ करते थे एक वक़्त था . जब वो अजनबी हो कर भी अपना सा लगा करता था एक वक़्त था . जब आंखें सिर्फ उसी को ढूंढा करती थी . एक वक़्त था .. जब उसे न देखो तो बेचैनी सी […]

Read More

Sad Miss You Love Poem-Teri Yaadein

तेरी यादें (कविता का शीर्षक)उल्फत है तेरी कि ये बाहें तुझे पुकारती हैंहर रोज़ तेरी चाहत में ये तन्हाई मुझे डराती हैखुदा करे ये मुहब्बत तुझे भी एक बार मिलेये दर्द जो मुझे मिला है तुझे हर बार मिलेटूटे तारे की चमक भी नहीं छुपा सकतेये दर्द जो सीने में है तुम्हें भी नहीं बता […]

Read More

Sad Hindi Love Poem-Kuch To Asar Hai

कुछ तो असर है (कविता का शीर्षक)कुछ तो असर है ज़िन्दगी में तेरी दुआओं का,कि ग़म बहुत है, आँखें भी नम है,फिर भी जिए जा रहे हैं, धीरे धीरे ही सही पर दो घूँट पीए जा रहे हैं,एक नीला सा आसमान है, कहने को तो सारा जहान है,पर तेरे बिना सब मंजर बंजर सब रेगिस्तान […]

Read More

Sad Poem for Him-Tumse

तुमसेउस एक दिन जब बातें शुरू हुई तुमसेलगा कुछ तो अलग सा है तुम मेंलगा कुछ तो नया सा है तुम मेंफिर रोज़ की बातें होती गयीऔर यूं बिना सोचे पिघलती रही मैं उन मेंयूं ही बिना समझे फिसलती रही उस रास्ते पेहाँ पता था मुझको दोबारा उसी रास्ते जा रही हूँ जहाँ गम बहुत […]

Read More

Hindi Love Poem – Veh Pal

‘वह पल’ सालों का इंतज़ार एक पल बनके खड़ा था चाह तो थी कुछ और लेकिन समय विपरीत ही चल पड़ा था ।। पल की नज़दीकी क्षणिक और थी समय का चक्र भी मानो स्थल सा पड़ा था ।। आते ही उसके मैं समझ से बाहर खड़ा था मानो किसी बंजर जमीन को पानी का […]

Read More

Hindi Love Poem for Friendship – बचपन

वो बचपन अच्छा था ये जवानी हार गई स्कूल के दिन अच्छे थे ये कॉलेज की इंजीनियरिंग मार गई वो मोज मस्ती तो स्कूल की थी जहाँ पहली से ना छोड़ा दसवीं तक का साथ वो स्कूल नहीं परिवार था जहां सब एक दूसरे के लिए मरते थे बिछडने का ना ग़म कोई और खुशी […]

Read More

Hindi Love Poem – तक़दीर का खेल

काली पन्नों में लिखें तकदीरें बने रिश्तों की गवाही जनम जनम के कस्मे वादे बने टूटे दिल की परचाई बादलों की मेरी ये महल में छा गयी तन्हाई हमारी हर वो याद में जान है समायी चहरे पे मुस्कान लिए पीछे आँसू है छिपाई ~स्वेता Kaali pannom me likhe takdeere Bane rishton ki gavahi Janam […]

Read More

Heart Touching Love Poem- ऐसा लगता है

महफ़िल भी सूनी लगती है तेरा कसर लगता है, ग़म भी खुशी लगती है तेरा असर लगता है। है लगता हर पल सदियों -सा, बरसों -सा बिन तेरे; तेरा दिल ही मुझे अब मेरा घर लगता है। है चाहता ये दिल हर पल तेरे दीदार को, तड़पता हूँ, बेचैन रहता हूँ मामुली सा पत्थर भी […]

Read More

Miss You Hindi Love Poem – ठीक हूँ मैं

देखा जवाब मिला मुझे कि, परेशान नहीं ठीक हूँ मैं। तुम सोचना नहीं मुझे कभी, तुम ढूंढना नहीं मुझे कभी, परेशान नहीं ठीक हूँ मैं। जब तस्वीरे देख जाओ कभी, जब आँखों में पानी लाओ कभी, रुमाल निकाल पोछ सकते हो, या इतना पानी तो सोख सकते हो पर मुझे कुछ नहीं कहना क्योंकि, परेशान […]

Read More

Cross-Cultural Love Story-बला होते

ज़ालिम , सितमगर , क़ातिल या बला होते तुम कुछ भी होते पर मेरी क़िस्मत में तो होते कुछ और जगह रखते अपने महल में मुलाजिम की तेरे सजदे में सर झुकाते और तेरी ख़िदमत में हम होते कभी चखने तो आते तुम मेरी नज़्मों के जाम को फिर रोज़ पिया करते तेरी आदत में […]

Read More

Hindi Poem on Angry Love-रूठे से वो

वो रूठे हैं इस कदर मनायें कैसे। जज़्बात अपने दिल के दिखाएँ कैसे। नर्म एहसासों की सिहरन कह रही है पास आ जाओ। सिमट जाओ मुझमें और दिल में समां जाओ। देखो लौट आओ ना रूठो हमसे। बस रह गया है तुम्हारा इंतज़ार कब से। इतनी भी क्या तकरार हमसे । तेरे इंतज़ार में हो […]

Read More

Sad Hindi Poem on One Sided Love – चाहा तुमको चाहा

मैंने चाहा तुमको चाहा हाँ सिर्फ तुमको चाहा तुमको पाना चाहा तुम में खोना चाहा पर तुमने मुझे ठुकराया मेरा मज़ाक बनाया मुझको पागल बताया नफरत को यूं निभाया हर लम्हा मेरा तनहा प्यार मेरा हुआ रुस्वा ये कैसा दर्द है रब्बा एक पल भी नहीं है चैना मैंने चाहा तुमको चाहा हाँ सिर्फ तुमको […]

Read More