Hindi Love Poem on Separation- प्यार की धड़कन


बिछड़ी प्यार की धड़कने
आँखों में नमी दे
बन्द राहों की उलझनें जीने न दे
वो खामोशियाँ भी इश्क़ को ही तलाशे
कुछ अनकही सी ख्वाइशें
दिल तो छुपा दे ये मोहोब्बत
कैसा जो अंग अंग लुटा न दे……

-स्वेता

Bichadi pyaar ki dhadkaney
Aankhon mein nami de
Bandh raahon ki uljhan Jeene na de
Vo khamoshiyaan bhi Ishq ko hi talashe
Kuch ankahi si khwaahishey
Dil ne chupa de Yeh mohobbat
kaisa Jo ang ang luta na de

-Swetha

Hindi Love Poem on Separation-आँखें जो खुली


आँखें जो खुली तो उन्हें अपने करीब पाया ना था
कभी थे रूह में शामिल आज उनका साया ना था
बेपनाह मोहब्बत की जिनसे उम्मीदें लिये बैठे थे
उनसे तन्हाइयों की सौगातें मिलेंगी बताया ना था
एक हम ही कसीदे हुस्न के हर बार पढ़ते रहे पर
उसने तो कभी हाल-ए-दिल सुनाया ना था
वो फिरते रहे दिल में ना जाने कितने राज लिये
हमने तो कभी उनसे जज्बातों को छुपाया ना था
जाने क्यों हम बेवजह मदहोश हुआ करते थे
जाम आँखों से तो कभी उसने पिलाया ना था
मीलों कब्ज़ा कर बना रखा था सपनों का महल पर
उसने वो ख़्वाब कभी आँखों में सजाया ना था
धड़कन ‘मौन’ हुई अब एक आह की आवाज़ है
शिकवा क्या उनसे जिसने कभी अपना बनाया ना था

-अमित मिश्रा

Aankhein jo khuli thi to unhe apne kareeb paya naa tha
Kabhi they ruh mein shamil aaj unka saya naa tha
Bepanaah mohabbat ki jinse umid liye beithe they
Unse tanhai ki saugate milegi btaya naa tha
Ek hum hi kaside husan ke har baar padte rahe par
Unse to kabhi haal ae dil sunaya naa tha
Wo firte rahe dil me naa jane kitne raaz liye
Hamne to kabhi unse jazbaton ko chupaya naa tha
Jane kyon hum bevajah madhosh hua karte they
Jaam aankhon se to kabhi usne pilaya na tha
Milon kabza kar bana rakha tha sapno ka mahal par
Usne wo khwab kabhi aankhon me sajaya na tha
Dhadkan maun hue ab ek aah ki aawaz hai
Shikwa kya unse jisne kabhi apna banaya naa tha

-Amit Mishra

Hindi Shayari for Wife – कितनी प्यारी


wife poem

तुम हो कितनी सुँदर
तुम हो कितनी प्यारी
तभी तो बनाया तुमको
मैंने बीवी हमारी
हंसती हो जैसे हो फुलवारी
सारी पहनके लगती कितनी न्यारी
बोल तुम्हारे मीठे
जैसे हो शहद की धारी 
बाल तुम्हारे घने काले
जैसे हो जंगल बाड़ी
अच्छा अब कह दूँ तुमको
ई लव यू प्यारी

-अनुष्का सूरी

Tum ho kitni sundar
Tum ho kitna pyari
Tabhi to banaya tumko
Maine biwi hamari
Hasti ho jaise ho phulwari
Sari pehanke lagti kitni nyari
Bol tumhare meethe
Jaie ho shehad ki dhari
Bal tumhare ghane kale
Jaise ho jungal badi
Acha ab keh du tumko
I love you pyaari

-Anushka Suri

Hindi Love Shayari|हिन्दी शायरी


Hindi shayari is uniquely inspired by urdu language as an influence. Here are some of the most original hindi love shayari collection written by me :

Hindi Love Shayari Collection 

हिन्दी में लिखे कुछ चुनिंदा शेर अर्ज़ हैं :

1. सूरज की किरण

चाँद का ख्वाब हो तुम

तुमको कैसे बताऊँ

कितने लाजवाब हो तुम

2.    मिल गया है रास्ता तुझ तक आने का

        अब मंजिल पा ही लेगा तेरा ये दीवाना
3.    जब पानी की कमीं होती है
       तब याद तुझे मैं करती हूँ
       नल में पानी तो आता हैं
       तेरी यादों में नहा लेती हूँ
4.   कौन समझाए इस नादान दिल को
      याद तुझे ये पल पल करता है
      इश्क करना नहीं आसान जान कर भी
      तेरी याद में आहें भरता है
5.   जब से सुधि हुई है तेरी
       जग सुधि खो गयी है मेरी
       अब तू सुधि ले ले बस मेरी
       बन जाऊं मैं बस एक तेरी
6.   हमको जिसने है दीवाना किया
      वो बन कर अनजान घूमते हैं
      हमारा तो सब कुछ लूट लिया
      हम लुटने के मजे में झूमते हैं
7.   दिल की अपनी एक जुबां होती है
       बात ये वो है जो आँखों से बयान होती है
       कभी मिल जाती है उनकी एक झलक
       कभी जुदाई में रातें बसर होती हैं
8.   हर आहट पर क्यों लगता है मिलने तू आया है
       मालूम है मुझे क्योंकि दिल में तुझे बसाया है
       आजा आकर मुझसे  आकर तू मिलजा
       दिल से तुझे बुलाया है
9.  यूँ ही मिलते रहे तेरी आँखों के ये प्रेम प्याले
      यूँ ही देखा करें तुझे तेरे चाहने वाले
      महफ़िल तेरी यूँ ही सजती रहे हर दिन
      और सजता करते रहे तेरा हम रात दिन
10. प्यार से प्यारे हो तुम
        प्यारे से प्यारा है तुम्हारा नाम
        तुमको प्यार करने के सिवा
        नहीं हमको कुछ और काम
11.   तुमसा हसीं कातिल
         हमने न सोचा था हमारा होगा
         क़त्ल करदेगा बिना खंजर के
         और मुस्कुरा कर हमारा होगा
12.  आपकी सूरत है आईने जैसी
        जैसी दिल के अन्दर बात बहार भी वैसी
        चाँद को देखो तो शर्मा जाये वो
        बेदाग़ है ये सूरत ऐसी

13.  तू दिख जाये तो है दिन
तू न दिखे तो रात है
आजा अब आकर मुझसे मिल
यही मोहब्बत के कुछ जज़्बात है

14.  तेरे पास होने पर लगता है सब प्यारा
तू दूर हो जब तब कुछ बेकार
तू नहीं होता तो तेरी तस्वीर से करतें हैं गुज़ारा
आजा पास अब दिल है बहुत बेक़रार

15.  तुझसे बढ़कर भी क्या मुझे कुछ अज़ीज़ है
तुझसे मिलकर है जाना ये दिल भी क्या चीज़ है
तेरा ये आशिक तेरे प्यार में है पागल
आकार इलाज कर अब तेरा ये मरीज़ है

16. क्या कहें तुमसे कितना प्यार है

क्या कहें दिल कितना बेक़रार है

तुमसे मिलने के बस एक लम्हे का

क्या कहें हमें कितना इंतज़ार है

17.  जल के खाक हो गया हूँ तेरे इश्क़ में

       और तुम पूछते हो कि आग किसने लगाई

18.  दिल से दिल का एक प्यारा सा वादा है

तुमको अपना बनाने का अपना इरादा है |

19.  तेरे दिल ने मेरे दिल को कुछ इस कदर है छुआ

       कि आग अभी लगी नहीं और उठा धुआँ धुआँ |

20.  रब से अपने मांगू अब तो मैं बस एक ही दुआ

       कह दे तू मुझे कि तू हमसफर मेरा हुआ |

21. दिल से दिल मिलने का मौसम आया

बागों में फूलों के खिलने का मौसम आया

सदियाँ बीत गयी तेरे इंतज़ार में यूँ ही

सोचते रहे कि अब मिलने का मौसम आया|

22. तेरे इश्क़ का ये कैसा असर है

जिस्म तो है पर जान किधर है |

23. तुझे पाने का जुनून कुछ इस कदर है

न दिन का पता न रात की खबर है |

Hindi Love Poetry-फूलों से क्या मैं कह दूँ


फूलों से क्या मैं कह दूँ कि अब खिलना छोड़ दो

क्यों मुझसे तुम कहती हो मुझसे मिलना छोड़ दो

तुम्हारी मीठी बातें दिल को देती हैं मेरे सुकून

तुमको मैं क्या बताऊँ इश्क़ का मुझ पर है कैसा जुनून

लम्बी हैं रातें और छोटे नहीं है दिन

तुम बिन तुम बिन तुम बिन

अब आ भी जाओ मत लो मेरे सबर का इम्तिहान

तुम्हारे इश्क़ में कर दूं मैं खुद को कुर्बान

Hindi Love Poem-क्या बताऊँ कैसे सुनाऊँ


girl-429380_960_720

क्या बताऊँ कैसे सुनाऊँ किस हाल में हूँ

तेरे साथ तो आकाश में था आज पाताल में हूँ

तुझ बिन कटते नहीं दिन ना कटती हैं रात

मुझे याद आती हैं तेरी प्यारी सी मीठी मीठी बातें

तुझको पाकर के खुल गये थे अपने नसीब

पर तुझको खोकर हो गया मैं आज फिर गरीब

हर पल इस दिल को रेहता है बस तेरा इंतज़ार

आके मिलजा मुझसे कि अब ये दिल है बेकरार

Hindi Love Poem-आँखें बन जायें जब दिल की ज़ुबा


woman-1148923_960_720

आँखें बन जायें जब दिल की ज़ुबा

तो कैसे करें दिल की हालत बयान

वो ठंडी रातें वो भीगी बरसातें

वो प्यार में डूबी उसकी भोली बातें

वो उसका रुक रुक कर धीरे धीरे चलना

और उसको आता हुआ देख इस दिल का मचलना

काश कुछ बदल जाये अपनी भी ये तकदीर

बनूं मैं उसका रांझा और वो मेरी हीर