Hindi Poem for Him – सब कुछ हार गया हूँ


ना सता यूँ, ए ज़िन्दगी ! की मन हार गया हूँ मैं,
जीत कर दुनिया सारी, सब कुछ हार गया हूँ मैं।

आ और आकर थाम ले हाथ मेरा ए मौला !
जीने की चाह में, मौत के पार गया हूँ मैं।

रिश्ते-नसीब-मेहनत सब आजमाए हैं मैंने,
पासे ही उल्टे पड़ते हैं अब, हर बाज़ी हार गया हूँ मैं।

दर-ब-दर मिली ठोकरें, हौसलों पर आंच ना आने दी,
अब जाकर टूटा हूँ, जब सब कुछ हार गया हूँ मैं।

कवि ‘राज़’ हो गई अब शान्त हर चिंगारी
होकर राख सब अरमान, मौत के पार गया हूँ मैं,

~राज़ सोरखी “दीवाना कवि”

Na stta yoon, aei zindagi! ki man haar gya hoon main
Jeet kar duniya sari sab kuch haar gya hoon main

Aa aur aa kar tham le hath mera aei maulla
Jine ki chah main maut k paar gya hoon main

Rishtei nasib mehanat sab ajmayein hain main
Paase hi ultei padte hai ab har baji haar gya hoon main

Dar b dar mili thokrei hoslon par aanch na aane di
Abb ja kar tutta hoon jab sab kuch haar gya hoon main

Kavi raaz ho gai ab shant har chingari
Ho kar raakh sab armaan maut ke paar gya hoon main

~Raj sorkhi”diwana kavi”

Hindi Love Poem for Him – तू जो कह दे


digital-art-398342_960_720

तू जो कह दे तो खुदा से भी लड़ जाये हम
तेरी ख़ुशी के लिये मरना पड़े ,मर जाये हम
तेरी बातें है मिशरी जैसी तू बता दिल कैसे न लगाये हम
तेरी चाहत में कशिश कुछ ऐसी बिन कहे खींचते ही आये हम
तू जो कह दे मुझसे अब बिन कहे अजनबी बन जाये हम
तू जो कह दे तो खुदा से भी लड़ जाये हम
तेरी ख़ुशी के लिए मरना पड़े मर जायेगे हम
तुझको पाना है एक गुज़ारिश अपनी, दिल को कैसे समझायें हम
तुझको खोना था किस्मत अपनी ,रोक भी तुझको ना पाये हम
तू जो मिल जाये यूँ ही कभी सच कहे ख़ुशी से मर जाये हम
तू जो कह दे तो खुदा से भी लड़ जाये हम
तेरी ख़ुशी के लिये मरना पड़े ,मर जायें हम

– अनुष्का सूरी

Tu jo keh de to khuda se bhi, lad jaye hum
Teri khushi ke liye marna pade, mar jaye hum
Teri batein hain mishri jaisi, tu bata dil kaise na lagaye hum
Teri chahat mein kashish kuch aisi, bin kahe khichte hi aye hum
Tu jo keh de na milo mujhse ab, bin kahe ajnabi ban jaye hum
Tu jo keh de to khuda se bhi, lad jaye hum
Teri khushi ke liye marna pade, mar jaye hum
Tujhko pana hai ek guzarish apni, dil ko kaise samjhaye hum
Tujhko khona tha kismat apni, rok bhi tujhko na paye hum
Tu jo mil jaye yu hi kabhi, sach kahein khushi se mar jaye hum
Tu jo keh de to khuda se bhi, lad jaye hum
Teri khushi ke liye marna pade, mar jaye hum

– Anushka Suri

Hindi Love Poem to Woo Him – कर दे स्माइल


couple-1363969_960_720

आँखों में तेरी निंदिया
माथे पर शिकन की बिंदिया
हाथ में लेके तू मोबाइल
करता रहता फ़ोन डायल
अब तो ज़रा सा कर दे स्माइल
तू है मेरा हीरो इन स्टाइल
देखूँ तुझे तो दिल धड़के
ना देखूँ तो नैना तरसे
अब बन जा कुछ  डूड 
क्यों है मुझसे  रूड रूड 

– अनुष्का सूरी

Akho mein teri nindiya
Mathe par shikan ki bindiya
Hath mein leke tu mobile
Karta rahta phone hi dial
Ab to zara sa kar de smile
Tu hai mera hero in style
Dekhu tujhe to dil dhadke
Na dekhu to naina tarse
Ab banja tu kuch dude
Kyo hai mujhse rude rude

– Anushka Suri

Waiting for love Hindi Poem – हमसफ़र का इंतेजार


woman-872815_960_720

दिल को इंतेजार है उस हमसफ़र का जो आने वाला है,
जो मेरे ख्वाबों की दुनिया का राजकुमार बनें वाला है,
जिस के आने की आहट ही दिल को बेताब कर जाती है,
नजरें खुद-बा-खुद झुक जाती हैं,
पलकें उठाऊँ तो आइना भी ठिठोलिया किया करता है,
पूछता है किसने बढ़ाई है ये गालोँ की रंगत,
किसने जगाई है ये इश्क़ की चाहत,
कितना हँसा करता है,
अब कैसी है बेताबी आईने को बताऊँ कैसे,
किस कदर बह रहा है
हसरतों का तूफ़ान ये जताऊं कैसे,
कैसे कहूँ की दिल करता है
आँखों में काजल सजाऊँ,
होंटों पे शबनमी इश्क़ की लाली लगाऊँ,
सीने से लगाके उसको बस उसके प्यार में खो जाऊँ,
अब कैसे कहूँ किस कदर दिल बेकरार है,
दिल को सायद किसी हमसफ़र का इंतेजार है।

-गौरव

Dil ko intezaar hai us humsafar ka jo aane wala hai
Jo mere khbabo ki duniya ka rajkumar bne wala hai
Jiske aane ki aahat dil ko betab kr jati hai
Nazre khud wa khud jhuk jati hai
Palke uthau to aaena bhi thitholiya kiya krta hai
Phuchta hai kisne bnai hai ye galon ki rangat
Kisne jgai hai ye ishq ki chahat
Kitnna hsa krta hai
Ab kesi hai betabi aaene ko bulaun kese
Kis kadar beh rha hai
Hasraton ka tufaan yei jataun kese?
Kese khun dil krta hai
Aankhon main kajal sajaun
Hothon pe shbnami ishq ki lali lgaun
Sine se lga k usko
Bas uske pyar main kho jau
Ab kese khun kis kadar dil bekrar hai
Dil ko sayd kisi humsafar ka intzar hai

-Gaurav

Hindi love poem for Boyfriend – तुमको देखा


woman-1148923_960_720

तुमको देखा तब ये जाना
होता है क्यों दिल दीवाना
तुमको जाना तब ये जाना
क्या होता है प्यार निभाना
तुमको पाया तब ये जाना
कब खुलता किस्मत का खज़ाना
तुमको तुमसे है चुराना
ऐ मेरे दिलवर दीवाना

– अनुष्का सूरी

Tumko dekha tab ye jana
Hota hai kyo dil deewana
Tumko jaana tab ye jaana
Kya hota hai pyaar nibhana
Tumko paya tab ye jana
Kab khulta hai kismat ka khazana
Tumko tum se hai chuarana
Ae mere dilbar deewana

– Anushka Suri

Hindi Love Poem – एक मीठा एहसास


11

प्यार का पता नहीं की वो क्या होता है। पर जब हम मिलते हैं
एक अजनबी से तो सब कुछ बदल जाता है।
उसकी छोटी छोटी बाते बहुत हँसाती हैं।
और दिल है की एक खुद की ही दुनिया बसा लेता है।
शायद किसी अजनबी का साथ जो दिल को अच्छा लगने लगे वही प्यार होता है।
चलिये  प्यार के कुछ ऐसे ही रंग तलाशते हैं
एक नये प्यार की सुगबुगाहट हुई, दिल से दिल की कुछ बात हुई,
कशमकश में था ये दिल मेरा की कैसे ये दिल की हालत हुई,
सोचती रही रात भर तुमको,और सुबह की भी आहट हुई,
हिम्मत करके दिल ने मुझे संभाला,
और घबराते हुए बातो की शुरुआत हुई,
मैँ थी घबराई पर देखा जब पहली बार तुमको,
दिल में पुरानी सी जान पहचान सी निकल आई,
दिल बस तुमको ही सुने लगा।हर वक़्त तुमको ही जीने लगा,
कैसे ये दिल वगावत कर बैठा जो तुमसे मिलने चली आई,
होके मजबूर दिल से बस आके तुझमे समाई,
तुम्हारी हर बात अच्छी लगती है शहद सी घुली लगती है,
जो हुआ न था आज तक क्या वो मुझको हो गया,
ए मेरे अजनबी हमसफ़र क्या तुमसे प्यार हो गया,
अब तो तेरा जिक्र आते ही हया का एहसास होता है,
घूंघट में शर्म के छुपके दिल का हाल बेहाल होता है,
दोस्तों की बातों में भी वो हँसी नहीं  आती,
पर जिक्र आते ही तेरा हँसी मुझमें कहीं बस सी जाती है,
जो नाम था अजनवी आज वो अपना हो गया,
कोरे कागज पे हाँथो से लिख देती हूँ,
हथेली को मेहबूब की मेहंदी में घोल देती हूँ,
कैसा ये हाल बेहाल हो गया शायद  उस अजनबी से प्यार हो गया,
अब तो हर वक़्त तेरा ही ख्याल रहता है,
शाम से ही ढली रात का इंतज़ार रहता है,
उन्ही के ख्याल पर दिल हैरान रहता है,
बस देख लूँ एक बार फिर उनको यही दिल बार बार कहता है,
हाल ये मेरा कैसा हो गया है,शायद उस अजनबी से प्यार हो गया है,
एक पल में कोई अपना बना गया,
जो मेरा था दिल का चैन वो चुपके से ही चुरा गया,
एक बार कहा उसने आँखे तुम्हारी खूबसूरत हैं,
होंठ  भी बेमिसाल हैं, सादगी के रंगो से सजी हो तुम,
इतना तो मैं भी नही जानती थी खुद को जितना वो मुझको बता गया,
मुझमे समाके खुद से बेगाना बना गया,
शायद यही तो प्यार है की एक अजनबी कैसे अपना हो जाता है,
उसकी छोटी छोटी बातों पे भी प्यार नजर आता है,
करेला था जो कडुवा कभी वही शहद सा मीठा हो जाता है,
होता है जो अजनबी बरसों से दूजे पल वही दिल में समाता है,
उसी अजनबी से प्यार हो जाता है।

 

गौरव

Hindi Shayari for Him-आज ख़ुशी का आलम है


love_car-wallpaper-1366x768

आज ख़ुशी का आलम है
साथ में मेरा जानम है
तेज़ दिल की धड़कन है
साथ में मेरा हमदम है

आज मैं हवा में उड़ूँ उड़ूँ
आज मैं खूब बहकूँ चहकूं
गुलाब सा खिला खिला चेहरा
रूप मेरा महका निखरा

ऐ तेज़ हवा ज़रा थम जा
वक़्त ज़रा तू भी थम जा
करने दो मुझे महसूस ज़रा
ये एहसास प्रेम भरा

-अनुष्का सूरी