Emotional Love Poems – ये प्यार क्यों खास है

ये प्यार क्यों खास है
दो अजनबियों का एहसास है
ये कब कहा कैसे हो जाये न जाने ये केसा राज़ है
प्यार की खुशिया तो एक प्यार करने वाला ही
जाने मुझे जैसे आशिक़ को बर्बाद करने में भी प्यार का ही हाथ है
ये प्यार क्यों खास है में था सीधा साधा
भोला भाला प्यार ने मुझको बर्बाद कर डाला
प्यार चार अक्शर का है ज़िन्दगी भी तो चार की ही है
दो प्यार में गुजारी है रो रो कर दो खुशियों में बितानी है
ज़िन्दगी भी एक रोज़ नई कहानी है
कौन साथ देगा कौन छोड़ जायेगा
ये सब तो वक्त के हाथो की कहानी है..!!!!!

-रोहित

Yei pyar kyu khas hai
Do aajnabiyo ka ehsaas hai
Yei kab kaha kese ho jaye Na jane ye kesa raaj hai
Pyar ki khusiya to ek pyar krne wala he
jane Mujhe jese ashiq ko barbad Karne mein bhi pyar ka he hath hai
Yei pyar kyu khas hai Main tha sidha sadha
Bhola bhala Pyar nei mujhko bharbad kar dala
Pyar char akshar ka hai Zindagi bhi to char ki he hai
Do pyar me gujari hai ro ro kar Do khushiyo me bitani hai
Zindagi bhi ek roz nai kahani hai
Kon sath dega kaun chhod jayega
Yei sab to wakt ke hathon ki kahani hai

– Rohit

Hindi Love Poem-अफ़साना मेरी मोहब्बत का

प्यार है तू मेरा मैं तेरी फिदाई
जर जैसे बाल है तेरे हिरण जैसी आँखे
चेरहा है गुल के जैसा दर्पण जैसी बातें
अदाये है कमर के जैसी गुल के जैसी सासे
परिवास भी फीकी लगती है सजन तुम्हारे आगे

ये तेरी मोहब्बत का नशा है या
मेरे दिल से निकला एक तराना
हर साँस कर दूंगा नाम तुम्हारे
साजन पास मेरे आ जाना

ऐतबार कर मुझपे बेदर्द नहीं हूँ मैं
तेरी इस कियाबान का बावर नहीं हूँ मैं
बेजुबान हो जाता हूँ आगे तुम्हारे
मोहब्बतें इशके बया नहीं कर पता

-वरुण सिंह

Pyar hai tu mera mai teri fidai
Jar jaise baal hai tere heeran jaisi aakhain
Chehra hai gul ke Jaisa darpan jaisi baaten
aadayain hai kamar ke jaisa gul ke jaisi saase
Pariwas v fiki lagti hai sajan tumhare aage….

Ye teri mohabbat ka nasha hai ya…
Mere dil se nikla ek tarana….
Har saas kar dunga naam tumhare
Sajan paas mere aa jana….

Aitabar kar mujhpe bedard nahi hu main…
Teri is kiyaban ka bawar nahi hu Main…
Bejubaan ho jata hu aage tumhare…..
Mohabbatein ishque bayan nahi kar pata….
Har nabz me rakt teri mohabbat ka hai….
Bus ye paigam sajan tak pahuncha nahi pata….

– Varun Singh

Hindi Love Poem – दिल दिया दर्द लिया

girl-429380_960_720

दिल दिया दर्द लिया
हाँ मैने इश्क़ किया
दिल दिया दर्द लिया
हाँ मैने इश्क़ किया

तेरा दीदार किया
हाँ मैंने इश्क़ किया
तुझ पे ऐतबार किया
हाँ मैंने इश्क़ किया
दिल दिया दर्द लिया
हाँ मैंने इश्क़ किया
दिल दिया दर्द लिया
हाँ मैंने इश्क़ किया

तेरे बिन तड़पे ये जिया
हाँ मैंने इश्क़ किया
अब तो मिल जा तू पिया
हाँ मैंने इश्क़ किया
दिल दिया दर्द लिया
हाँ मैने इश्क़ किया
दिल दिया दर्द लिया
हाँ मैने इश्क़ किया

-अनुष्का सूरी

How to read:

Dil diya dard liya
Haan maine ishq kiya
Dil diya dard liya
Haan maine ishq kiya

Tera deedar kiya
Haan maine ishq kiya
Tujh pe aitbaar kiya
Haan maine ishq kiya
Dil diya dard liya
Haan maine ishq kiya
Dil diya dard liya
Haan maine ishq kiya

Tere bin tadpe ye jiya
Haan maine ishq kiya
Ab to mil ja tu piya
Haan maine ishq kiya
Dil diya dard liya
Haan maine ishq kiya
Dil diya dard liya
Haan maine ishq kiya

-Anushka Suri

English translation:
I exchanged my heart for pain
Yes I fell in love
I exchanged my heart for pain
Yes I fell in love
I fondly thought about you
Yes I fell in love
I trusted you
Yes I fell in love
I exchanged my heart for pain
Yes I fell in love
I exchanged my heart for pain
Yes I fell in love
My heart longs for you
Yes I fell in love
Please come and meet me my beloved
Yes I fell in love
I exchanged my heart for pain
Yes I fell in love
I exchanged my heart for pain
Yes I fell in love

Sad Love Shayari- आंसुओ ने रुलाया

inside_out_sadness___disney_pixar-wallpaper-1366x768

आज उनके आंसुओ ने हमें बहुत रुलाया
उनकी आँखों के हर कतरे ने आँखों को भिगाया
वो सिमट के रोने लगे अपने पहलु में
पर मेरी आँखों से बादल बरस के आया
मैं समेटना चाहता हूँ उनको अपनी बाहो में
कहना चाहता हूँ तेरा हर आंसूं अब मेरा है
इतना गहरा जज़्बात मुझमेँ निखर के आया
आज उनके आंसुओं ने मुझे बहुत रुलाया
जब बो समझे मेरे जज़्बात होने लगी बस आँखों से बात
आंसुओ का बवंडर हम दोनों की आँखों में था
गहरा जज़्बात प्यार का खारे पानी में था
सिर्फ सिमटे नहीँ थे दो जिस्म बाँहों में
रूहो तक नर्म आंसुओं का पानी था
सावन जो बरसा था आँखों से
आज वो खुशिओं का बादल था
खारे पानी की बूँद नहीँ
दिलों पे आज हम दोनों के प्यार का आँचल था
-गौरव