Hindi Love Poem – गुमनाम चाहतों का सिलसिला


ice_heart-t2

गुमनाम चाहतों का सिलसिला
और कितने दिन चलेगा
गम का सूरज सिर पर से कभी तो ढलेगा
एक सुन्हरे कल का
इन्तजार करता हूँ मैं आज भी तुझसे जी भर के प्यार करता  हूँ
तुम साँसों की महक में
यूँ ओझल हो जाती हो मैं और ज्यादा साँस लेने की
कोशिश करता हूँ ,मैं करता हूँ प्यार तुझसे बोहोत मेरी जान
मगर तेरे जवाबो की चादर से डरता हूँ
हैं मेरी जान तू ज़िन्दगी है मेरी
तू है मेरी चाहत तू बंदगी है मेरी
कभी कभी करता हूँ कोशिशें नाकाम तुझसे दूर होने होने की
फिर बाद में सोचता हूँ तेरी जुदाई से डरता हूँ
आज भी तुझसे याद करके आँखों में आँसू भरता हूँ
आज भी मैं तुझसे दिलो जान से मरता हूँ
मगर मेरी जान हमने कभी कहा नहीं

-गणेश मघर

 

Gumnam chahato ka silsila
Aur kitne din chalega
Gum ka suraj sarpar se
Kabhi to dhalega
Ek sunhare kal ka
Intzar karta hun main aaj bhi
Tujhse ji bhar ke pyar karta hun
Tum sanso ki mahak me
You ojhal ho jati ho main aur jyada sans lene ki
Koshish karta hun
Main karta hun pyar tujhase bohot meri jaan
Magar tere jawabo ki chadar se darta hun
Tu hai meri jan tu zindagi hai meri
Tu hai meri chahat tu bandagi hai meri
Kabhi kabhi karta hun
Koshishe nakamyab tujhase dur hone ki
Fir bad me sochata hun
Aur teri judae se darta hun
Aaj bhi tujhe yaad karke aankho me aansu bharta hun
Aaj bhi mai tujhape dilo jan se marta hun
Magar meri jaan humne kabhi kaha nahi

-Ganesh Magar

 

Sad Hindi Poem on One Sided Love – चाहा तुमको चाहा


ice_heart-t2

मैंने चाहा तुमको चाहा
हाँ सिर्फ तुमको चाहा
तुमको पाना चाहा
तुम में खोना चाहा

पर तुमने मुझे ठुकराया
मेरा मज़ाक बनाया
मुझको पागल बताया
नफरत को यूं निभाया

हर लम्हा मेरा तनहा
प्यार मेरा हुआ रुस्वा
ये कैसा दर्द है रब्बा
एक पल भी नहीं है चैना

मैंने चाहा तुमको चाहा
हाँ सिर्फ तुमको चाहा
सिर्फ तुमको चाहा
सिर्फ तुमको चाहा

-अनुष्का सूरी

Sad Hindi Love Poem For Him – मेरे साकी ने आज गज़ब 


girl-517555_960_720

मेरे साकी ने आज गज़ब कर दिया
हाल दिल का कुछ अजब कर दिया
यूँ तो कुछ वो कुछ कहते नहीं
आज जो बोले तो क़यामत ढाई
दिल से दिल मिले थे कभी
क्या पता था सपनो में कहीं
हाल दिल का किसी और के लिये सुना
मेरे साकी ने मेरा क़त्ल दिया

– अनुष्का सूरी

Mere saki ne aj gazab kar diya
Haal dil ka kuch ajab kar diya
Yu to kuch wo kehte kuch nahi
Aj jo bole to kayamat dhahi
Dil se dil mile the kabhi
Kya pata tha sapno mein kahin
Haal dil ka kisi aur ke liye suna
Mere saki ne mera katl kar diya

– Anushka Suri

Sad Hindi Poem- प्यार नहीं था था वो फ़साना


This slideshow requires JavaScript.

प्यार नहीं था
था वो फ़साना

मौसम बदले
तुम भी बदले
तुमको नया
प्यार निभाना
तब मैंने जाना
प्यार नहीं था
था वो फ़साना

जब मैं थी तन्हा
तुझको पूकारा
तूने पलट के ना
देखा दोबरा
तब मैंने जाना
हाँ मैंने जाना
प्यार नहीं था
था वो फ़साना

जब दिल ये टूटे
तब मैंने जाना
प्यार नहीं था
था वो फ़साना
था वो फ़साना

– अनुष्का सूरी

English Translation:

It wasn’t love, but an affair
When my heart was broken,
then I realized..
It wasn’t love,
but an affair
but an affair..
When I was lonely and I needed you,
I called you..
But you did not bother to
see me or meet me..
Then I realized,
yes I realized
It wasn’t love,
but an affair
Seasons changed
You also changed
You did not learn
how to respect love
Then I realized,
yes I realized
It wasn’t love,
but an affair

-Anushka Suri

How to read:

pyar nahi tha
tha wo fasana..

mausam badle
tum bhi badle
tumko naaya
pyaar nibhana
tab maine jana
pyar nahi tha
tha wo fasana

jab main thi tanha
tujhko pukara
tune palat ke na
dekha dobara
tab maine jana
haan manine jana
pyar nai tha
wo tha fasana

jab dil ye tuta
tab maine jana
pyar nahi tha
tha wo fasana
tha wo fasana

-Anushka Suri

Miss You Love Poem – आंसू भी तेरे हैं इश्क़ भी तेरा


alone-666078_960_720

आंसू भी तेरे हैं इश्क़ भी तेरा
अब तो हर वक़्त आंसू ही बहते हैं
शिकवा आंसुओ से भी नहीँ
न तुझसे, क्योंकि मुहब्बत तुझसे है
और आंसू भी तेरे हैं इश्क़ भी तेरा
गिला करूँ तो किससे?

गौरव

Aansu bhi tere hain ishq bhi tera
Ab to har bakat aanshu hi bhte hai
Shikwa aanso se bhi nai
Na Tujhse kyuki mhobbat tujhse hai
Aansu bhi tere hai ishq bhi tera
Gilla karu to kisse

-Gaurav

Hindi Love Poem on Separation – तेरी जुदाई


girl-429380_960_720

तेरी जुदाई तेरी रुस्वाई सह न पाऊँ मैं
हर पल कुछ याद दिलाता है
गहरा सा नशा तेरी यादों में
हर शाम को दिया जलती हूँ तेरी याद में
वो पलके नम हो जाती है
जो भीगी थी कभी तेरी याद में,
मुस्कुराता हुआ तेरा चेहरा मुझसे प्यार जताता है
पलके मेरी तेरी बाँहों में भीग सी जाती है
तेरी यादों का एक मेला हर पल रंग दिखता है
भरी महफ़िल में भी तन्हाई याद दिलाती है

-कविता परमार

Teri judai teri ruswai seh na pau me,
Har pal kuch yad dilata hai,
Gehra sa nasha hai teri yado me,
Har sham ko diya jalati hu teri yad me,
Wo palkein num ho jati h,
Jo bheegi thi kabhi teri yaad me,
Muskurata hua tera chehra mujse pyar jatata hai,
Palkein meri teri baho me bheeg si jati hai,
Teri yado ka ek mela har pal rang dikhata hai,
Bhari mehfil me bhi tanhai yad dilati hai..

-Kavitha Parmar

Miss You Poem for Him – दिल का दर्द


inside_out_sadness___disney_pixar-wallpaper-1366x768

दिल का दर्द आखों में उतर आता है
जहाँ देखूं बस तेरा चेहरा नज़र आता है
तेरी बातें बार बार याद आती हैं
तुझे याद कर आखें भर आती हैं
न रातों को सुकून मिलता है
न दिन को चैन आता है
जब देखो जहाँ देखो
तू याद आता है
होता तू इस जहाँ में अगर
तो तुझसे मिल पाती
पर तू है ऐसे जगह
जहाँ खुदा ही पहुंच पाता है
– अनुष्का सूरी