Hindi Love Poem – काँटे क़िस्मत में हो

desktop-1753683_960_720

काँटे क़िस्मत में हो
तो बहारें आये कैसे
जो नहीं बस में हो
उसकी चाहत घटाये कैसे

सूरज जो चढ़ता है
करते है उसको सब सलाम
ढूबते सूरज को भला
ख़िदमत हम दिलायें कैसे

वो तो नादान है
समंद्र को समझते है तालाब
कितनी गहराई है
साहिल से बताये कैसे

दिल की बातें है
दिल वाले समझते है जनाब
जिसका दिल पत्थर का हो
उसको पिघलाये कैसे

काँटे क़िस्मत में हो
तो बहारें आये कैसे
जो नहीं बस में हो
उसकी चाहत घटाये कैसे

-अनुष्का सूरी

Kante kismat mein ho
To baharein aye kaise
Jo nahi bas mein ho
Uski chahat ghataye kais

Suraj jo chadha hai
Karte hai usko sab salaam
Dubte suraj ko bhala
Khidmat ham dilaye kaise 

Wo to nadaan hai
Samandar ko samajhte hai talaab
Kitni gehrayi hai
Sahil se batayei kaise 

Dil ki batein hai
Dil wale samajhte hai janab
Jiska dil pathar ka ho
Usko pighlayein kaise

Kante kismat mein ho
To baharein aye kaise
Jo nahi bas mein ho
Uski chahat ghataye kaise

-Anushka Suri

Miss You Love Poem – तेरी यादों में

boy-1042683_960_720

तुझे भूल कर भी ना भूल पायेगे हम
बस यही एक वादा निभायेंगें हम
मिटा देंगे ख़ुद का जहाँ से लकिन तेरा नाम
दिल से ना मिटायेंगे हम
आज भी तेरी आवाज़ गुंजती है मेरे कानो में
लिखे है हजारो खत तुम्हे अन्जाने मे
कहते है ये सारे खत नहीं ये कवितायें है
कम्बखत शायर बन गया हूँ तेरी यादों में
खैर दुनिया लगती है खलासी हर मौसम में
पर यकीन है मुझे मैं तन्हा नहीं हूँ तेरी यादों में

– इन्द्रजीत मनियारे

Tujhe bhul kr bhi Na bhul payenge hum,
Bas yahi ek vada nibhayenge hum,
Mita denge khudka jaha se lekin tera naam
DIL se Na Mita payenge hum,
Aaj bhi teri aawaj gunjati hai mere Kano me,
Likhe hai hajaro khat tumhe anjane mai,
Kahete hai ye sare khat nahi, Ye kavitaye hai,
Kambaqht shayar ban gaya hu Teri yado mai,
Khair Dunia to lagti hai ab khalisi har mausam mai,
Pr yakin hai mujhe mai tanha nahi hu Teri yado mai

-Indrajeet Maniyare

Miss You Love Poem – तेरी यादें

one_heart-wallpaper-1366x768

सजना तेरी यादें आज भी साथ हैं मेरे…
बस दुख इस बात का है की खाली हाथ हैं मेरे…
बहुत हुए दिन हमें बिछड़े हुए…
अब तो वापिस आजा ऐ साजन मेरे…
रो रो कर अब तो आँखों का पानी भी सूख गया हैं…
लगता है अब तो मेरा मौला भी मुझसे रूठ गया हैं…
याद तेरी में तड़प तड़प अब बीतें रातें…
आजा “सपना” सपने में ही कर ले मुलाकातें…
बहुत हुई दूरी अब तो मिल जा आ कर…
आँखें भी अब नम नहीं होती सूख गयीं हैं वो भी आंसू बहा बहा कर…
दर्द जुदाई का अब मुझसे सहा ना जाए…
तू भी आजा अब तो पंछी भी घर को लौट हैं आए…
यादें तेरी आज भी हैं मेरे सीने में…
पर मज़ा नहीं है कुछ भी बिना तेरे जीने में…

-अनूप भंडारी

Sajna teri yaadein aaj bhi sath hai mere
Bas dukh es bat ka hai ki khali hath hai mere
Bhut hue din hame bichde hue
Ab to bapas aaja a sajan mere
Ro ro kar ab to aankhon ka pani bhi sukh gya
Lgta hai ab to mera maulla bhi mujse ruth gya
Yaad teri me tadap tadap bite ratein
Aja “sapna” sapne me hi kr le mulakatein
Bhut hue duri ab to mil ja aa kar
Aankhein bhi ab nam ni hoti sukh gai hai wo aasu bha bha kar
Dard judai ka abmujse sha na jaye
Tu bhi aaja ab to panchi bhi ghr laut hai aaye
Yaade teri aaj bhi hai mere sine mein
Par mza nai hai kuch bhi bin tere jine mein

-Anoop Bhandari

Miss You Love Poem – हुआ मुझे प्यार

waita

तेरा दीदार
तेरा दीदार
हाय इंतज़ार
तौबा इंतज़ार
नहीं होता यार
हुआ मुझे प्यार
हुआ मुझे प्यार
मेरे दिलदार
मेरे दिलदार
आ भी जा यार
आ भी जा यार
हुआ मुझे प्यार
हुआ मुझे प्यार

-अनुष्का सूरी

Tera deedar
Tera deedar
Haye intzar
Tauba intzar
Nahi hota yaar..
Hua mujhe pyar..
Hua mujhe pyar..
Mere dildar
Mere dildar
Aa bhi ja yaar
Aa bhi ja yaar
Hua mujhe pyar..
Hua mujhe pyar..
-Anushka Suri

Hindi Love Poem – याद बस तू

sdd

ख्याल तू
गुज़रता हर साल तू,

वो दो-चार दिनों की मुलाकात तू
मेरी कविताओं में बसी हर बात तू,

मेरे होठों की मुस्कराहट तू
होने वाली हर आहट तू,

ज़िंदगी का हर अहसास तू
कुछ गंदा-बच्चा सा, कुछ खास तू,

तेरी मैं और मेरी पहचान तू
दिल में बसा हर अरमान तू,

मेरे आईने की हर सूरत तू
दिल के मंदिर की इकलौती मूरत तू

कभी “धूप”, कभी छाँव तू, कभी रात है तू
जो ना कही कभी होठों से वो बात है तू,

मेरा गुरूर तू-मेरी औकात तू
खुदा की रहमत से मिली ऐसी शौगात तू….

-राज सोरखी 

 

Khyal tu
Gujarta har sal tu

wo do char dino ki mulakat tu
meri kavitaon me fasi bat tu

mere hoton ki muskrahat tu
haone wali har aahat tu

zindgi ka har ehsas tu
kuch ganda bcha sa, kuch khas tu

teri main aur meri phachaan tu
dil main bsa har armaan tu

mere aaene ki har surat tu
dil k mandir ki eklauti murat tu

kabhi dhub kabhi chav tu kabhi rat hai tu
jo na kabhi khi hotho se wo baat hai tu

mera grur tu meri aukaat tu
khuda ki rehmat se mili esi sogaat tu

-Raaj Sorkhi

Miss You Love Poem – आंसू भी तेरे हैं इश्क़ भी तेरा

alone-666078_960_720

आंसू भी तेरे हैं इश्क़ भी तेरा
अब तो हर वक़्त आंसू ही बहते हैं
शिकवा आंसुओ से भी नहीँ
न तुझसे, क्योंकि मुहब्बत तुझसे है
और आंसू भी तेरे हैं इश्क़ भी तेरा
गिला करूँ तो किससे?

गौरव

Aansu bhi tere hain ishq bhi tera
Ab to har bakat aanshu hi bhte hai
Shikwa aanso se bhi nai
Na Tujhse kyuki mhobbat tujhse hai
Aansu bhi tere hai ishq bhi tera
Gilla karu to kisse

-Gaurav

Hindi Love Poem on Separation – तेरी जुदाई

girl-429380_960_720

तेरी जुदाई तेरी रुस्वाई सह न पाऊँ मैं
हर पल कुछ याद दिलाता है
गहरा सा नशा तेरी यादों में
हर शाम को दिया जलती हूँ तेरी याद में
वो पलके नम हो जाती है
जो भीगी थी कभी तेरी याद में,
मुस्कुराता हुआ तेरा चेहरा मुझसे प्यार जताता है
पलके मेरी तेरी बाँहों में भीग सी जाती है
तेरी यादों का एक मेला हर पल रंग दिखता है
भरी महफ़िल में भी तन्हाई याद दिलाती है

-कविता परमार

Teri judai teri ruswai seh na pau me,
Har pal kuch yad dilata hai,
Gehra sa nasha hai teri yado me,
Har sham ko diya jalati hu teri yad me,
Wo palkein num ho jati h,
Jo bheegi thi kabhi teri yaad me,
Muskurata hua tera chehra mujse pyar jatata hai,
Palkein meri teri baho me bheeg si jati hai,
Teri yado ka ek mela har pal rang dikhata hai,
Bhari mehfil me bhi tanhai yad dilati hai..

-Kavitha Parmar

Miss You Love Poem – एक रोज़

sad

एक रोज़ तुझे याद करना है
एक रोज़ तेरे सपनो में रहना है
एक रोज़ मैं तुझे चूरा ले जाऊँ
एक रोज़ तेरी साँसों में जीना है

एक रोज़ वो शाम होगी
एक रोज़ चांदनी मेरे साथ होगी
एक रोज़ मैं तुझे पलकों पर सजा लूँ
एक रोज़ वो हसीन मुलाक़ात होगी

एक रोज़ ख्वाबों का सिलसिला होगा
एक रोज़ तेरी यादों का मेला होगा
एक रोज़ मैं तुझें सबसे छुपा लूँ
एक रोज़ मीठी बातों का कहना होगा

एक रोज़ प्यार की हमारी कहानी होगी
एक रोज़ फिर ये दुनिया अपनी दीवानी होगी
एक रोज़ तेरे पहलू में संवर जाऊँ
एक रोज़ अपनी ये जन्‍नत सुहानी होगी

एक रोज़ तेरे लिए लिखना है
एक रोज़ तेरे लिये जीना है
एक रोज़ मैं साथ रहने की कस्में खाऊँ
एक रोज़ फिर भी तेरे लिए मरना है

एक रोज़ तुझे याद करना है
एक रोज़ तेरे सपनो में रहना है

-योगेश जमदागनी

Ek roj tujhe yad krna h,
ek roj tere spno m rehna h,
ek roj m tujhe chura le jau,
ek roj Teri sanso m jeena h..

Ek roj wo sham hogi,
ek roj chandni mere sath hogi,
Ek roj m tujhe palko pr sja Lu,
ek roj wo haseen mulaqat hogi..

Ek roj khwabo ka silsila hoga,
ek roj Teri yadoo ka mela hoga,
ek roj m tujhe sbse chupa Lu,
Ek roj meethi baton ka kehna hoga..

Ek roj pyar ki hmari kahani hogi,
ek roj fir ye duniya apni deewani hogi,
ek roj tere pehlu me m sanwar jau,
ek roj apni ye jannat suhaani hogi..

Ek roj tere liye likhna h,
ek roj tere liye jeena h,
ek roj m sath rehne ki kasmein khau,
ek roj fir bhi tere liye mrna h,

ek roj tujhe yad krna h ,
ek roj tere spno m rehna h..

-Yogesh Jamdagni

 

Hindi Love Poem- इश्क़ से अंजान

qqsqwqw

माही मेरे इश्क़ को ना समझे मेरा यार,
गहरा बहुत है दिल मे मेरे आज तेरा प्यार,
तुझमे ही मैं खोई रहती,तुझको ही मैं सोचती,
सारी दुनिया बोलती जोगन बनी मैं यार,
मेरे दिल की सबने जानी पर वो वाबरा अंजान है,
वही कुछ नहीं जनता जिसे करूँ मैं प्यार,
जिसको सोचके हँसती हूँ,जिसमें ही मैं खोती हूँ,
जिसमे जीवन के रंग सजे,बस बना रहा वही मेरे इश्क़ से अंजान,
सच कहा है दुनिया ने जोगन तेरे इश्क़ को ना समझे तेरा यार,
करती है तू कितना उसको अपने दिल से प्यार,
बस बना रहा वही वाबरा इश्क़ से अंजान,तेरे इश्क़ से अंजान।

– गौरव