Diwali Love Poem for Husband-Tumse Raushan Meri Zindagi Hai

तुमसे रौशन मेरी ज़िन्दगी है
चारों तरफ उजियारा है
खुशियों का आज भंडारा है
जैसे दियों से रौशन दीपावली है
वैसे तुम से रौशन मेरी ज़िन्दगी है
तुम साथ हो तो क्या बात है
प्रेम में रंगे मेरे जज़्बात हैं
जब से तुमने मेरा हाथ थामा है
तब से दिल मेरा दीवाना है
आज मैं सिर्फ एक दुआ करती हूँ
तुम्हारी दीर्घ आयु की मंगलकामना करती हूँ
खुश रहो तुम सदा मेरे हमसफ़र
साथ में बीते ये ज़िन्दगी का सफर
अनुष्का सूरी

One thought on “Diwali Love Poem for Husband-Tumse Raushan Meri Zindagi Hai

Leave a Reply