Hindi Spiritual Love Poem on Lord Krishna-श्याम रंग मोहे भाये

idol-1834688__340.jpg
मोहक सी मुस्कान सजाए,
श्याम रंग मोहे चढ़ता जाये,
गीत मधुर जमुना तट पे मुरली कोई मधुर बजाए,
ऐसा श्याम रंग मोहे कान्हा हर पल दिल को भाता जाए,
कभी ब्रज में नाच दिखाए,
कभी गोपियों संग रास रचाए,
कभी नटखट वो माखन चुराए,
यशोदा का वो नन्दलाला श्याम रंग मोहे भाता जाए,
कभी मुकुट मोरपंख भाए,
कभी राधा संग खेल दिखाए,
कभी बन के मीरा का श्याम प्रेम मधुर बरसाता जाए,
ऐसा मोहे श्याम रंग मोहक सी मुस्कान सजाए,
हर पल दिल को भाता जाए.
-गौरव

8 thoughts on “Hindi Spiritual Love Poem on Lord Krishna-श्याम रंग मोहे भाये

Leave a Reply