Hindi Love Poem – मेरे मुकामों की हसरत

romantic_walk_in_the_park-wallpaper-1366x768

मेरे मुकामों की हसरत छोड़ मेरा सफ़र बहुत छोटा है,
तुझ से ही शुरू होता है तुझ पे ही ख़त्म होता है,
मेरे इश्क़ की इन्तेहाँ छोड़ मेरा सफ़र बहुत लम्बा है
तेरी खुशियों से शुरू होता है तेरी खुशियों पे ख़त्म होता है,
मेरे दिल में क्या छुपा है उसे छोड़ तेरी क्या रजा है
इश्क़ की सिर्फ उसे बोल मेरा ये खुशियों का जहान
तुझसे शुरू होता है तुझ पे ख़त्म होता है।

~ गौरव

Mere mukamo ki hasrat chhod mera safr bhut chota hai
Tujse shuru hota hai tujh pe hi khtm hota hai..
Mere ishq ki entehaan chhod, mera safr bhot lamba hai
Teri khushiyon se shuru hota hai teri khushiyon pei khtm
Mere dil main kya chupa hai use chhod teri kya rja hai
Ishq ki sirf use bol mera ye khushiyon ka jhan
Tujse shuru hota hai tujpe khtam hota hai

-Gaurav