Emotional Love Poems – ये प्यार क्यों खास है

ये प्यार क्यों खास है
दो अजनबियों का एहसास है
ये कब कहा कैसे हो जाये न जाने ये केसा राज़ है
प्यार की खुशिया तो एक प्यार करने वाला ही
जाने मुझे जैसे आशिक़ को बर्बाद करने में भी प्यार का ही हाथ है
ये प्यार क्यों खास है में था सीधा साधा
भोला भाला प्यार ने मुझको बर्बाद कर डाला
प्यार चार अक्शर का है ज़िन्दगी भी तो चार की ही है
दो प्यार में गुजारी है रो रो कर दो खुशियों में बितानी है
ज़िन्दगी भी एक रोज़ नई कहानी है
कौन साथ देगा कौन छोड़ जायेगा
ये सब तो वक्त के हाथो की कहानी है..!!!!!

-रोहित

Yei pyar kyu khas hai
Do aajnabiyo ka ehsaas hai
Yei kab kaha kese ho jaye Na jane ye kesa raaj hai
Pyar ki khusiya to ek pyar krne wala he
jane Mujhe jese ashiq ko barbad Karne mein bhi pyar ka he hath hai
Yei pyar kyu khas hai Main tha sidha sadha
Bhola bhala Pyar nei mujhko bharbad kar dala
Pyar char akshar ka hai Zindagi bhi to char ki he hai
Do pyar me gujari hai ro ro kar Do khushiyo me bitani hai
Zindagi bhi ek roz nai kahani hai
Kon sath dega kaun chhod jayega
Yei sab to wakt ke hathon ki kahani hai

– Rohit

Hindi Love Poems-ऐसा लगता है

महफ़िल भी सुनी लगती है तेरा कसर लगता है,
ग़म भी खुशी लगती है तेरा असर लगता है।
है लगता हर पल सदियो-सा, बरसो-सा बिन तेरे;
तेरा दिल ही मुझे अब मेरा घर लगता है।
है चाहता ये दिल हर पल तेरे दीदार को,
तड़पता हूँ, बेचैन रहता हूँ
मामुली सा पत्थर भी संगेमरमर लगता है।
अनजाना-सा दुनिया की बातों से दिन-पल और रातों से,
ना किसी के कहने का असर ना वाकिफ़ हालातों से।
हद पार कर जाऊँगा तेरे इश्क़ में
दोगे ज़हर इम्तेहान के लिए तो भी पी जाऊँगा
तुझे याद करके मरूँगा नहीं,
हो जाऊँगा अमर लगता हैं ।

-हंसराज केरकर

Mehfeel bhi suni lagti Hai Tera kasar lagta Hai,
Gam bhi Khushi lagti Hai Tera asar lagta Hai.
Hai lagta har Pal Sadiyo sa, Barson sa bin Tere,
Tera Dil hi muze Ab Mera Ghar lagta Hai.
Hai chahta ye Dil Har Pal Tere Didar ko
Tadpta hu, bechain rehta hu
Mamuli sa Patthar bhi Sangemarmar lagta Hai.
Anjaana sa Duniya ki batoon se Din-Pal aur Raaton se
Na kisike kehne ka asar Na waqif halato se,
Had par Kar jaunga Tere Ishq me
Doge Jaher Imtehaan ke liye To bhi pee jaunga
tujhe yaad karke Marunga nhi,
ho jaunga Amar lagta Hai.

-Hansraj Kerekar

Hindi Love Poem- तुम

मेरे हर सवाल का जवाब हो तुम
मैं लहर तो दरिया हो तुम
पूछने की गलती अब मत करना तुम-
कौन है यह तुम ?
मेरे हर लफ्ज़ का मतलब हो तुम
मैं रांझा तो मेरी हीर हो तुम
क्या अब भी पूछोगी तुम
कौन है यह तुम ?
मैं गायक तुम मेरा गीत हो
तुम मेरे हर प्रयास का नतीजा हो तुम
एक बार आईने पर देखो तुम
हां वही जो खूबसूरत चांद का टुकड़ा दिख रहा है
वही हो तुम

~योगेन्द्र राज अंधेरिया

Mere har sawaal ka jawab ho tum
Me lehar to dariya ho tum
Pucchne ki galti ab mat karna tum –
kon hai ye ‘tum’ ?
Mere har lafz ka matlab ho tum
Me raanjha to meri heer ho tum
Kya ab bhi pucchogi tum –
kon hai ye ‘tum?’
Me gayak to mera geet ho
tum Mere har prayaas ka nateeja ho tum
Ek baar aaine pr dekho tum
Haan vahi jo khubsurat chand ka tukda dikh raha hai
vahi ho tum

~Yogendra Raj Andheriyaa

Hindi Love Poem for Her – तुम हो

मेरे दिन और रात में तुम हो
मेरी हर साँस में तुम हो ।
अब जो दिलदार हो किसी और की तो सुन लो !
दिल तोड़ना अच्छी बात नही
बिखर के निखरना इतना आसान नही ,
थोड़ी सी खुशियां छिनी है बस
जीने का अरमान नही ।

मेरे दिन और रात में तुम हो
मेरी हर साँस में तुम हो ।
पर मुझे तेरा इंतेजार भी नही ।
अब जो मेहबूब हो किसी औऱ की तो सुन लो !
महज एक तारा हो तुम कोई चाँद नही
हाँ मैंने कभी कहा था
रुख़सारो पर यूँ बाल न बिखराया करो !
बादलो में चाँद कहीं छिप जाता है ।
पर क्या करे इश्क में
रेगिस्तान भी उपवन सा नजर आता है

तुम मेरी जमीन तुम मेरा आसमान हो
पर अब जो दिलदार हो किसी और कि तो सुन लो!
तेरी रुसवाइयों के किस्से सरेआम हो गए
तेरे साथ हम भी बदनाम हो गए ।
कभी शायरों की महफ़िल में मत आ जाना
वरना कहोगे नीलाम हो गए ।

मगर अब जो हमसफर हो किसी और कि फिर भी सुन लो
मेरे दिन रात में तुम हो
मेरे अंधकार और प्रकाश में तुम हो ।

-प्रियांशु शेखर

Mere din aur raat mein tum ho
Meri har sans mein tum ho
Ab jo dildar ho kisi aur ki to sun lo
Dil todna achi baat nahi
Bikhar ke nikhrana itna aasan nahi
Thodi si khushiya chahni hain bas
Jeene ka arman nahi

Mehaz ek tara ho tum koi chand nahi
Haan maine kabhi kha tha
Ruksaron par yoon baal na bikhraya karo
Badalo mein chand kahi chhip jata hain
Par kya kare ishq mein
Registaan bhi upvan sa nazar aata hain

Tum meri zameen tum mera aasmaan ho
Par ab jo dildar ho kisi aur ki to sun lo
Teri rusvaiyon ke kisse sare aam ho gaye
Tere sath hum bhi badnaam ho gaye
Kabhi shayaron ki mehfil mein mat jana
Varna kahoge neelaam ho gaye

Magar ab jo humsafar ho kisi aur ki fir bhi sun lo
Mere din raat mein tum ho
Mere andhkar aur prakash mein tum ho

-Priyanshu Shekhar

Hindi Poem on First Love – बस तेरी याद में

 

दुनिया से में छिपता – छिपाता ,
न जाने कब तुझको चाहने लगा !
न चाहते हुए भी चुपके से तेरे पीछे आने लगा !

तुझे देखे बिना न ही नींद आती , और न ही चैन ,
लगता है , ये दीवाना दिल कहीं खोने लगा ।
याद में तेरी रातों को रोने लगा !

सोचता हूँ ,
क्या था तेरा मेरा रिश्ता ?
जो तुम मुझे याद नहीं करते ,
और हम तुम्हे भुला नहीं पाते !

काश ! तुम मेरे होते , फिर रोज नए सबेरे होते ,
लेकिन ये हो न सका ….

तुम न मेरे हुए , और न ही मेरे दिल के
तुम तो बस मेरी यादों के होकर रह गए !

ये रिश्ता जो है , तेरे मेरे दरमियां ,
इक मुलाकात की ख्वाहिश रखता है !

दिल जलता है , रोता है ,
तेरी याद में ,
बस तेरी याद में !

-रोहित चौरसिया

Duniya se main chhipata-chhipata
Na jane kab tujhko chahne laga
Na chahte hue bhi chupke se tere peeche aane laga

Tujhe dekhe bina na hi neend aati aur na hi chain
Lagta hai ye deewana dil kahi khone laga
Yaad mein teri raaton ko rone laga

Sochta hoon
Kya tha tera mera rishta
Jo tum mujhe yaad nahi krte
Aur hum tumhe bhula nahi pate

Kash tum mere hote,Fir roz naye savere hote
Lekin ye ho na saka

Tum na mere hue na hi mere dil ke
Tum to bas meri yaadon ke ho kar reh gaye

Ye rishta jo hain tere mere darmiyaan
Ek mulakat ki khvahish rakhta hai

Dil jalta hai rota hain
Teri yaad mein
Bas teri yaad mein

-Rohit Chaurasiya

Miss You Hindi Love Poem – ठीक हूँ मैं

person-2244036_960_720

देखा जवाब मिला मुझे कि,
परेशान नहीं ठीक हूँ मैं।

तुम सोचना नहीं मुझे कभी,
तुम ढूंढना नहीं मुझे कभी,
परेशान नहीं ठीक हूँ मैं।

जब तस्वीरे देख जाओ कभी,
जब आँखों में पानी लाओ कभी,
रुमाल निकाल पोछ सकते हो,
या इतना पानी तो सोख सकते हो
पर मुझे कुछ नहीं कहना क्योंकि,
परेशान नही ठीक हूँ मैं।

जब लिखा हुआ कुछ मिल जाए,
दिल में फिर से अरमां खिल जाए,
कुछ नहीं दबा लेना सब कुछ,
या किताब बना देना सब कुछ,
पर मुझे कभी मत पढ़ाना क्योंकि,
परेशान नहीं ठीक हूँ मैं।

याद में तुम रात गुज़ार दो अगर,
ये कोई नई बात नहीं होगी मगर,
चाँद को देखते मेरा अश्क नज़र आये,
मुँह फेर लेना अपना शायद इश्क़ मर जाये,
पर मुझे परेशान मत करना क्योंकि,
परेशान नहीं ठीक हूँ मैं।

।।गीतेश नागेंद्र।।

Hindi Love Poem-अफ़साना मेरी मोहब्बत का

प्यार है तू मेरा मैं तेरी फिदाई
जर जैसे बाल है तेरे हिरण जैसी आँखे
चेरहा है गुल के जैसा दर्पण जैसी बातें
अदाये है कमर के जैसी गुल के जैसी सासे
परिवास भी फीकी लगती है सजन तुम्हारे आगे

ये तेरी मोहब्बत का नशा है या
मेरे दिल से निकला एक तराना
हर साँस कर दूंगा नाम तुम्हारे
साजन पास मेरे आ जाना

ऐतबार कर मुझपे बेदर्द नहीं हूँ मैं
तेरी इस कियाबान का बावर नहीं हूँ मैं
बेजुबान हो जाता हूँ आगे तुम्हारे
मोहब्बतें इशके बया नहीं कर पता

-वरुण सिंह

Pyar hai tu mera mai teri fidai
Jar jaise baal hai tere heeran jaisi aakhain
Chehra hai gul ke Jaisa darpan jaisi baaten
aadayain hai kamar ke jaisa gul ke jaisi saase
Pariwas v fiki lagti hai sajan tumhare aage….

Ye teri mohabbat ka nasha hai ya…
Mere dil se nikla ek tarana….
Har saas kar dunga naam tumhare
Sajan paas mere aa jana….

Aitabar kar mujhpe bedard nahi hu main…
Teri is kiyaban ka bawar nahi hu Main…
Bejubaan ho jata hu aage tumhare…..
Mohabbatein ishque bayan nahi kar pata….
Har nabz me rakt teri mohabbat ka hai….
Bus ye paigam sajan tak pahuncha nahi pata….

– Varun Singh

Hindi Love Poem For Her – कशमकश में

hindipoem1

कशमकश में जीने की आदत हो गई
जब मेरी तुम से मुलाकात हो गई
सोच में पड़ गया मैं के
कैसे तुम्हे बना लूँ अपना
ऐसी सोच में सुबह से रात हो गई
बड़े दिन से गुमसुम था मेरा बेचारा दिल
बड़ी मुदत के बाद तेरे कारण उससे बात हो गई
आज साथ है तू तो हर हसरत कुर्बान
हर ख़ुशी मेरे साथ हो गई

-गणेश मघर

How to read:
kashm kash me jina ki aadat ho gayi
jab se meri tumse mulakat ho gayi
soch me pad gaya mai ke
kaise tumhe banaalu apna
esi soch me subha se raat ho gayi
bade din se gumsum sa tha mera bechara dil
dadi muddat ke bad tere karan usse bat ho gayi
aaj sath hai tu to har hasrat kurban
har khushi mere sath ho gayi

-Ganesh Magar

Hindi Love Poem – प्यार कितना है तमसे

woman-872815_960_720

प्यार कितना है तमसे
ये छुपाऊँ कैसे
दर्द इतना है दिल में
आँसू रोक पाऊँ कैसे
तुमको देखा है जब से
खो गई हूँ मैं तब से
तुमको जानने की तलब
दिल से मिटाऊँ कैसे
प्यार कितना है तुमसे
ये छुपाऊँ कैसे

-अनुष्का सूरी

Pyar kitna hai tumse
Ye chupau kaise
Dard itna hai dil mein
Ansu rok pau kaise
Tumko dekha hai jab se
Kho gayi hu main tab se
Tumko jaanne ki talab
Dil se mitau kaise
Pyar kitna hai tumse
Ye chupau kaise

-Anushka Suri