Intimate Hindi Love Poem for Her-एक जिस्म दो जान

एक जिस्म दो जान वो मुझमें इस कदर ज़िंदा है कि अब मरने का भी डर नहीं है मुझको, कि इस एक जिस्म में दो जान कैसे रहेंगे, अब तो चाहत है मर जाने दो मुझको. दिल में बसाकर रखा है उसे, डरता हूँ कि मेरी कोई टीस ना चुभे उसको, इस एक जिस्म में […]

Read More

Intimate Hindi Love Poem for Her-दिल में बसा लिया

दिल में बसा लिया ख्वाबों के बादल से तुझको चुराके लाऊँगा, करके प्यार का इज़हार तुझको दिल में बसाऊंगा, महकेगी हर फ़िज़ा हर कली तेरे आने की आहट से, दिल की बगिया में कुछ फूल तेरी खुशियों के मैं भी खिलाऊँगा, जैसे ही पहुंचा मैं तेरे पास तेरी पायल को मस्ती छा गयी, छम छम […]

Read More