Hindi Love Poem for Girlfriend-वो आई नहीं

 

इन थमे थमे इन लम्हों में
प्यार के कुछ नगमो में
दिल मेरा तुमसे कहता है
वो आई नहीं वो आई नहीं
चलती हुई इन पवनो में
जो तेरी ख़ुश्बू बहती है
वो जिस्म को मेरे छू के कहती
वो आई नहीं वो आई नहीं
हर लम्हा तुझ बिन हँसता
मुझे कहता मैं हूँ दीवाना
कहता ये तो हुआ बावरा

तेरे सपने देखें नजरें
जागी जागी इन आँखों से
सोयें तुझे पलकों में बसाये
वो आई नहीं वो आई नहीं
हर लम्हा सोचें मुलाकात हो
होंठों से होंठों की कुछ बात हो
तुम भी करो शैतानियाँ

हाथों में हमदम का हाथ हो
तनहा सफ़र और चांदनी रात हो
तेरी मेरी मुलाकात में
बारिश का भी साथ हो
और दिल कहे तुझे थामके
जो अबतक ना कहा वो कह जाऊं
सजदे में तेरे झुक जाऊँ
तेरी गोद में रख के सिर को
थोड़ी देर मुस्का जाऊँ
और तू देख प्यार से कह जाये
मेरी ज़िन्दगी को पूरा कर दे
शामिल होकर मुझमेँ ताकि
ज़िन्दगी हँस के कह दे
तेरा प्यार तेरा हुआ
कहके गले वो लग जाये
ख्वाब मेरा सच हो जाये
दीवाना बन मैं भी चिल्लाऊं
-गौरव

Hindi Love Shayari for Her- चाँद

moonlight_7-wallpaper-1366x768

चाँद जब धरती पर उतर आता है
तब कहाँ किसी से होश संभल पाता है
देखते हैं चाँद को प्यार से
प्यार से प्यार बढ़ता जाता है
चाँद की चांदनी करती है दिल को रौशन
रौशन रात रौशन चित्त रौशन मन
चाँद कहाँ ज़मीन पर टिक पता है
कुछ ही पलों में आकाश में चला जाता है
रह जाती हैं कुछ यादें कुछ पल
हमने जो बिताये थे चाँद के साथ कल

-अनुष्का सूरी

English Translation:

When the moon steps down on earth

At that moment, who is able to stay in his senses?

One looks at the moon with love

With love, love keeps multiplying

Moon’s moonlight makes one’s heart glow

Night glows, heart glows, mind glows

Moon is unable to stay on earth

In few seconds it vanishes into the sky

It leaves behind some memories, some moments

That we had spent with the moon yesterday.

-Anushka Suri

 

 

Hindi Love Shayari- कश्मकश

winter_love-wallpaper-1280x1024

दबे दबे होंठो से कुछ बात
आज कह दो
दिल मैं जो दबाये हैं वो अरमान
आज कह दो
कह दो कि
मुझसे कितना प्यार करते हो
कह दो कि
दिल में सिर्फ मुझको रखते हो
न कह सको अगर होंठो से कुछ,
तो प्यार के कुछ ख़त मेरे नाम कर दो
कुछ तो कहो कुछ इशारा तो दो
हवाओं के झोंको से कह दो
या खूबसूरत फ़िज़ाओं से
बस प्यार है मुझसे एक बार तो कहदो
नहीँ कहते हो मुझसे कुछ तब भी कुछ इशारे होते हैं
ना जाने क्या कशिश है तुम्हारी आँखों में
कि देख के मुझे ये झुक जाती हैं
थोड़ी थोड़ी हया आती है इनको
और लज्जा से ये शर्मा जाती हैं
कभी कभी दांतो से होंठों को  दबाने लगते हैं
तो कभी कभी खुद मैं सिमटने लगते हैं
शायद ये दिल को पहली बार हुआ है
कुछ मीठा सा एहसास है
कई लोगो ने मुझसे कहा शायद तुम्हे भी प्यार हुआ है
कैसे ये जान लूँ क्यों लोगों की बात मान लूँ
एक बार ही सही दबे दबे होंठो से कुछ बात कह दो
कि है आग प्यार की आपके दिल में दबी कहीं
इतना एक बार कह दो
मेरी कश्मकश को एक नाम दे दो
प्यार का कोई पैगाम दे दो
फिर लिखो कोई दिल की कहानी
कि थी कोई हीर जो थी रांझा की दीवानी
जिसने माना था तुम्हें प्यार और कहा था
कि दबे दबे होंठो से कुछ बात कह दो
कि  है तुम्हें भी है प्यार मुझसे
इतना बस एक बार कह दो
-गौरव

Hindi Love Letter – रोज़ तुझे पैगाम लिखा

love_letter-wallpaper-1366x768

इन्तहां लिखी इकरार लिखा
पल पल का इंतज़ार लिखा
तेरी यादों को दिल में बसा के
हर रोज़ तुझे पैगाम लिखा
सूने सूने तुझ बिन जीवन को
पतझड़ का मौसम लिखा
तेरी यादों के नील गगन में
तन्हा कोई मंज़र लिखा
तुझ बिन चलती इन सांसो को
निष्प्राण कोई जीवन लिखा
मेरे खयालों के हर पन्ने में
तेरा ही कोई ज़िक्र लिखा
रूठी रूठी रातों में
जगती हुई इन आँखों में
आंसुओं का सैलाब लिखा
तुझ बिन कहीं हैँ खोये रहते
जीते हुए भी पल पल मरते
तेरी इन यादों का हर बातों का
हर लम्हा हर पल लिखा
तेरी यादों को दिल में बसाके
रोज़ तुझे पैगाम लिखा।

-गौरव

Love Poem for Him-तेरी यादों में जीने लगी हूँ

woman-872815_960_720

तेरी यादों में जीने लगी हूँ

तेरे गीतों को सुनने लगी हूँ

इस मीठी सी ठंड में आँखें नॅम होने लगी हैं

तेरी याद में नींदें खोने लगी लगी है

जब देखा दूर चमकते तारे को

उसकी चमक देख तेरी याद आई

जब देखा उपर खुले आसमान को

तेरी बाहों की याद आई.

जब बैठी नदी किनारे

बहते पानी में तू ही नज़र आया

फिर अपने आप से पूछ बैठी

क्या तुमने अपना प्यार पाया?

इस प्यार भरे लम्हे में खो गयी

ना जाने कब तेरे इतनी करीब हो गयी

तेरी ही बातें करने लगी हूँ

तुझे अपने गीतों में गुनगुनाने लगी हूँ

तेरी यादों में जीने लगी हूँ

-कविता परमार

Miss You Hindi Love Poem for Him-मेरी अधूरी आस

मेरी अधूरी आस
दिल आज कल मेरी सुनता नहीं,
मैं क्या करूं वो मानता नहीं,
कुछ हो रहा है जाने ना,
क्या करूं दिल माने ना
तेरी यादों में दिन रात खोता है,
ये दिल दीवाना पल पल होता है,
तेरे खयालों में ही दिन रात हैं बीते,
सुबह शाम करें बस तेरी बातें,
रातों में भी चैन नहीं,
आँखें मेरी तुझको ढूंढें,
मन को भी है तू ही सुहाये,
दिल के जज़्बात ये जाने ना,
प्यार हो रहा है माने ना,
बस करता है तेरी बातें,
तुझ बिन हर दिन भीगी मेरी रातें,
देख मुझसे ना अब दूर रह,
आजा मेरे दिल के पास,
तुझ बिन मेरी अधूरी आस,
तू नहीं तो कोई नहीं साथ,
बस ह़र पल अधूरी मेरी आस,
बस हर पल अधूरी मेरी आस..
-कविता परमार

Hindi Love Poem for Lovers-तुमसे ही प्यार है

sdd

हाँ मुझे तुमसे ही प्यार है,

हाँ मुझे तुमसे ही प्यार है,

पर तुम कहाँ हो, मुझे तुम्हारा अभी तक इंतज़ार है,

हाँ मुझे तुमसे ही प्यार है,

कभी सपनो से बाहर भी आया करो,

मुझे अपनी अदा से तड़पाया करो,

किस कदर तुम्हारा मुझ पर खुमार है,

हाँ मुझे तुमसे ही प्यार है,

हाँ मुझे तुम से प्यार है,

तुम झरने सी चंचल, तुम पर्वत सी सुन्दर,

करती हो हर पल, तुम पायल सी छन-छन,

तुम्हारी मोरनी सी चल का अब तक मुझे इंतज़ार है,

हाँ कहता हूँ फिर से मुझे तुम से प्यार है,

अब तो आजाओ मेरे सपनो से बाहर,

इस दुनिया को भी तुम्हारी झलक का इंतज़ार है,

हाँ मुझे तुमसे ही प्यार है,

हाँ मुझे तुमसे ही प्यार है

-सत्यम राजा

Hindi Love Poetry-फूलों से क्या मैं कह दूँ

फूलों से क्या मैं कह दूँ कि अब खिलना छोड़ दो

क्यों मुझसे तुम कहती हो मुझसे मिलना छोड़ दो

तुम्हारी मीठी बातें दिल को देती हैं मेरे सुकून

तुमको मैं क्या बताऊँ इश्क़ का मुझ पर है कैसा जुनून

लम्बी हैं रातें और छोटे नहीं है दिन

तुम बिन तुम बिन तुम बिन

अब आ भी जाओ मत लो मेरे सबर का इम्तिहान

तुम्हारे इश्क़ में कर दूं मैं खुद को कुर्बान

Hindi Prem Kavita-कितने दिनों से सोचता हूँ

ढलती

कितने दिनों से सोचता हूँ की कह दूँ तुमसे
हाँ सोचता हूँ बता दूँ कितना प्यार है तुमसे
सुबह की पहली किरण से ले कर देर शाम
तुम्हारी यादों में है बस ये दिल गुमनाम
चाहे हो तपती दोपहरी या हो ठंडी रातें
मुझे बस याद आती हैं तुम्हारी ही बातें
तुम्हारा वो रुक रुक कर धीरे धीरे चलना
अपनी तारीफ सुनते हुए वो तुम्हारा बात बदलना
वो तेज़ हवा के झोंके से उड़ता हवा में तुम्हारा आँचल
क्या कहूं तुमसे बस करता कैसे मेरे दिल को घायल
रोज़ मिला करो मुझसे करूँगा मैं इंतजार
अब तुम्हारे बिना है मेरा जीना मरना दुशवार