Hindi Love Poem- तुम मिले

कभी तो वक़्त ठहरा होगा जो तुम मिले
क्या मुहब्बत की ओस गिरी होंगी जो तुम मिले
या खिंचती हुई पवनों ने छुआ था जो तुम मिले
समय की उस अबूझ पहेली में कोई तो बात थी जो तुम मिले
धीमी सी दिल की धकधक में कुछ तो था जो तुम मिले
तेरी पलकों के इशारे कुछ तो कह रहे थे जो तुम मिले
कुछ तो जोड़ रहा था तेरे दिल को मेरे दिल से जो तुम मिले
अब तुम ही बताओ इन इशारों की सदायें..
ये साजिश है या इत्तेफ़ाक जो तुम मिले सिर्फ तुम मिले?

-गौरव

Kabhi to waqt thaira hoga jo tum mile
Kya muhabbat ki os giri hogi jo tum mile
Ya khichti hui pavano ne chua tha jo tum mile
Samay ki us abujh paheli mei koi to baat hogi jo tum mile
Dheemi si dil ki dhakdhak mei kuch to tha jo tum mile
Teri palko ke ishare kuch to keh rahe the jo tum mile
Kuch to jod raha tha tere dil ko mere dil se jo tum mile
Ab tum hi batao in isharo ki saayein
Ye sazish hai ya ittfak jo tum mile sirf tum mile

– Gaurav

Hindi Poem on Angry Love-रूठे से वो

inside_out_sadness___disney_pixar-wallpaper-1366x768

वो रूठे हैं इस कदर मनायें कैसे।
जज़्बात अपने दिल के दिखाएँ कैसे।
नर्म एहसासों की सिहरन कह रही है पास आ जाओ।
सिमट जाओ मुझमें और दिल में समां जाओ।
देखो लौट आओ ना रूठो हमसे।
बस रह गया है तुम्हारा इंतज़ार कब से।
इतनी भी क्या तकरार हमसे ।
तेरे इंतज़ार में हो गया है दिल बेकरार कब से।
लड़ना मुझसे झगड़ना मुझसे पर कभी न दूर रहना मुझसे।
एक बार फिर ढलती शाम में बढ़ रहा है खुमार  कब से।
अब तुम्ही मीत हो मेरे दिल की सदायें समझो।
मेरे दिल की ख़ामोशी मेरी वफायें समझो
अब क्या कहूँ अपने दिल की सदायें उनसे।
वो रूठे हैं इस कदर मनायें कैसे।
जज़्बात अपने दिल के दिखाये कैसे।
-गौरव

How to read:

Wo ruthe hain is kadar manayein kaise

Jazbaat apne dil ke dikhayein kaise

Narm ehsaso ki sirhan keh rahi hai pas ajao

Simat jao mujhmein aur dil mein sama jao

Dekho laut aao na rutho hamse

Bas reh gaya hai tumhara Intezar kab se 

Itni bhi kya takraar ham se 

Tere Intezar mein ho gaya hai dil bekarar kab se 

Ladna mujhse jhagadna mujhse par kabhi na dur rehna mujhse 

Ek bar phir dhalti sham mein badh raha hai khumar kab se

Ab tum hi meet ho mere dil ki sadayein samjho

Mere dil ki khamoshi meri wafayein samjho

Ab kya kahu apne dil ki sadayein unse

Wo ruthe hain is kadar manayein kaise

Jazbaat apne dil ke dikhayein kaise

-Gaurav

English Translation:

The extent to which my love is angry with me, how do I wow my love

How do I show emotions of my heart to my love?

The sweet memories of our love ask you to come nearby

Embrace me tight and get absorbed in me

Please come back, do not stay angry with me

I have been waiting for you for so long

Is it such a big feud between us?

My heart is highly impatient while waiting for you

You can fight with me, argue with me, but do not stay away from me

Once again with the evening approaching night, my heart is getting mad for you

You are my only friend, please understand my emotions for you

The extent to which my love is angry with me, how do I wow my love

How do I show emotions of my heart to my love?

 

Hindi Love Shayari for Her- चाँद

moonlight_7-wallpaper-1366x768

चाँद जब धरती पर उतर आता है
तब कहाँ किसी से होश संभल पाता है
देखते हैं चाँद को प्यार से
प्यार से प्यार बढ़ता जाता है
चाँद की चांदनी करती है दिल को रौशन
रौशन रात रौशन चित्त रौशन मन
चाँद कहाँ ज़मीन पर टिक पता है
कुछ ही पलों में आकाश में चला जाता है
रह जाती हैं कुछ यादें कुछ पल
हमने जो बिताये थे चाँद के साथ कल

-अनुष्का सूरी

English Translation:

When the moon steps down on earth

At that moment, who is able to stay in his senses?

One looks at the moon with love

With love, love keeps multiplying

Moon’s moonlight makes one’s heart glow

Night glows, heart glows, mind glows

Moon is unable to stay on earth

In few seconds it vanishes into the sky

It leaves behind some memories, some moments

That we had spent with the moon yesterday.

-Anushka Suri

 

 

Hindi Love Shayari-तुम

lovers_5-wallpaper-1366x768
फ़िज़ाओं में आई सब बहारों की गुलिस्ता हो तुम
चहरे पर हमारे जो मुस्कान है उसकी वजह हो तुम
इस अंधेरों भरी ज़िन्दगी का उजाला हो तुम
दर्द भरी राह में बस एक मसीहा हो तुम
हर गम हर दर्द की दवा हो तुम
एक अनदेखे अनजाने ख्वाब की हक़ीक़त हो तुम
प्यार की मीठी टकरार हो तुम
मेरी जीत मेरी हार हो तुम
मेरे दिल के सागर का किनारा हो तुम
क्या कहें खुदा से सोचते हैं
हमारे लिए तो खुदा हमारा हो तुम
-दीपाली दभाई

Hindi Love Shayari- कश्मकश

winter_love-wallpaper-1280x1024

दबे दबे होंठो से कुछ बात
आज कह दो
दिल मैं जो दबाये हैं वो अरमान
आज कह दो
कह दो कि
मुझसे कितना प्यार करते हो
कह दो कि
दिल में सिर्फ मुझको रखते हो
न कह सको अगर होंठो से कुछ,
तो प्यार के कुछ ख़त मेरे नाम कर दो
कुछ तो कहो कुछ इशारा तो दो
हवाओं के झोंको से कह दो
या खूबसूरत फ़िज़ाओं से
बस प्यार है मुझसे एक बार तो कहदो
नहीँ कहते हो मुझसे कुछ तब भी कुछ इशारे होते हैं
ना जाने क्या कशिश है तुम्हारी आँखों में
कि देख के मुझे ये झुक जाती हैं
थोड़ी थोड़ी हया आती है इनको
और लज्जा से ये शर्मा जाती हैं
कभी कभी दांतो से होंठों को  दबाने लगते हैं
तो कभी कभी खुद मैं सिमटने लगते हैं
शायद ये दिल को पहली बार हुआ है
कुछ मीठा सा एहसास है
कई लोगो ने मुझसे कहा शायद तुम्हे भी प्यार हुआ है
कैसे ये जान लूँ क्यों लोगों की बात मान लूँ
एक बार ही सही दबे दबे होंठो से कुछ बात कह दो
कि है आग प्यार की आपके दिल में दबी कहीं
इतना एक बार कह दो
मेरी कश्मकश को एक नाम दे दो
प्यार का कोई पैगाम दे दो
फिर लिखो कोई दिल की कहानी
कि थी कोई हीर जो थी रांझा की दीवानी
जिसने माना था तुम्हें प्यार और कहा था
कि दबे दबे होंठो से कुछ बात कह दो
कि  है तुम्हें भी है प्यार मुझसे
इतना बस एक बार कह दो
-गौरव

Hindi Love Letter – रोज़ तुझे पैगाम लिखा

love_letter-wallpaper-1366x768

इन्तहां लिखी इकरार लिखा
पल पल का इंतज़ार लिखा
तेरी यादों को दिल में बसा के
हर रोज़ तुझे पैगाम लिखा
सूने सूने तुझ बिन जीवन को
पतझड़ का मौसम लिखा
तेरी यादों के नील गगन में
तन्हा कोई मंज़र लिखा
तुझ बिन चलती इन सांसो को
निष्प्राण कोई जीवन लिखा
मेरे खयालों के हर पन्ने में
तेरा ही कोई ज़िक्र लिखा
रूठी रूठी रातों में
जगती हुई इन आँखों में
आंसुओं का सैलाब लिखा
तुझ बिन कहीं हैँ खोये रहते
जीते हुए भी पल पल मरते
तेरी इन यादों का हर बातों का
हर लम्हा हर पल लिखा
तेरी यादों को दिल में बसाके
रोज़ तुझे पैगाम लिखा।

-गौरव

Love Poem for Him-तेरी यादों में जीने लगी हूँ

woman-872815_960_720

तेरी यादों में जीने लगी हूँ

तेरे गीतों को सुनने लगी हूँ

इस मीठी सी ठंड में आँखें नॅम होने लगी हैं

तेरी याद में नींदें खोने लगी लगी है

जब देखा दूर चमकते तारे को

उसकी चमक देख तेरी याद आई

जब देखा उपर खुले आसमान को

तेरी बाहों की याद आई.

जब बैठी नदी किनारे

बहते पानी में तू ही नज़र आया

फिर अपने आप से पूछ बैठी

क्या तुमने अपना प्यार पाया?

इस प्यार भरे लम्हे में खो गयी

ना जाने कब तेरे इतनी करीब हो गयी

तेरी ही बातें करने लगी हूँ

तुझे अपने गीतों में गुनगुनाने लगी हूँ

तेरी यादों में जीने लगी हूँ

-कविता परमार

Miss You Hindi Love Poem for Him-मेरी अधूरी आस

मेरी अधूरी आस
दिल आज कल मेरी सुनता नहीं,
मैं क्या करूं वो मानता नहीं,
कुछ हो रहा है जाने ना,
क्या करूं दिल माने ना
तेरी यादों में दिन रात खोता है,
ये दिल दीवाना पल पल होता है,
तेरे खयालों में ही दिन रात हैं बीते,
सुबह शाम करें बस तेरी बातें,
रातों में भी चैन नहीं,
आँखें मेरी तुझको ढूंढें,
मन को भी है तू ही सुहाये,
दिल के जज़्बात ये जाने ना,
प्यार हो रहा है माने ना,
बस करता है तेरी बातें,
तुझ बिन हर दिन भीगी मेरी रातें,
देख मुझसे ना अब दूर रह,
आजा मेरे दिल के पास,
तुझ बिन मेरी अधूरी आस,
तू नहीं तो कोई नहीं साथ,
बस ह़र पल अधूरी मेरी आस,
बस हर पल अधूरी मेरी आस..
-कविता परमार

Hindi Love Poem to Propose a Girl – फूलों की खुश्बू 

फूलों की खुश्बू Heart
आँखों में जादू
मीठी बातें
हंसी मुलाकातें
तुम ही कहो
तुमको क्यों ना चाहें?
सुबह शाम सोचें
ये मीठी बातें
ये हंसी मुलाकातें
क्यों ना इनको रोज़ की आदत बना लें?
अगर हौंसला दो तो कुछ कहना चाहें
मान जाओ जो तुम तो तुम्हें अपना बना लें?
साथ रहेंगे एक दूजे के बन के
क्यों ना इस सपने को हक़ीक़त बना लें
-अनुष्का सूरी