Emotional Love Poems – ये प्यार क्यों खास है


ये प्यार क्यों खास है
दो अजनबियों का एहसास है
ये कब कहा कैसे हो जाये न जाने ये केसा राज़ है
प्यार की खुशिया तो एक प्यार करने वाला ही
जाने मुझे जैसे आशिक़ को बर्बाद करने में भी प्यार का ही हाथ है
ये प्यार क्यों खास है में था सीधा साधा
भोला भाला प्यार ने मुझको बर्बाद कर डाला
प्यार चार अक्शर का है ज़िन्दगी भी तो चार की ही है
दो प्यार में गुजारी है रो रो कर दो खुशियों में बितानी है
ज़िन्दगी भी एक रोज़ नई कहानी है
कौन साथ देगा कौन छोड़ जायेगा
ये सब तो वक्त के हाथो की कहानी है..!!!!!

-रोहित

Yei pyar kyu khas hai
Do aajnabiyo ka ehsaas hai
Yei kab kaha kese ho jaye Na jane ye kesa raaj hai
Pyar ki khusiya to ek pyar krne wala he
jane Mujhe jese ashiq ko barbad Karne mein bhi pyar ka he hath hai
Yei pyar kyu khas hai Main tha sidha sadha
Bhola bhala Pyar nei mujhko bharbad kar dala
Pyar char akshar ka hai Zindagi bhi to char ki he hai
Do pyar me gujari hai ro ro kar Do khushiyo me bitani hai
Zindagi bhi ek roz nai kahani hai
Kon sath dega kaun chhod jayega
Yei sab to wakt ke hathon ki kahani hai

– Rohit

Hindi Poem For Angry Wife – हमसफ़र


थामा है जो तुमने हाथ ये
सफर निबाहे रखना मीठी शरारतें बनाए रखना
जब भी रहू मै उदास तुम मुझे हँसाए रखना
खूबसूरत बँधन को बनाए रखना खो न जाना
दुनिया के भँवर में अपनी सांस मेरी सांस से मिलाए रखना
मिले जो किसी मोड़ पर अँधियारा तुम उसमे उजियारा बनना
मिले जो गम किसी राह पर तुम हर पल खुशियों से भरना
मुझसे ज्यादा मुझको पहचानना कहे बिन दिल की हर बात जानना
भर आये जो मेरी आँख में आँसू तुम इनकी कद्र जानना
हम दोनों की स्वतंत्र पहचान बनाए रखना
हर जन्म मुझे हमसफ़र बनाए रखना

– हितेश राजपुरोहित

Thama hai jo tumne hath yei
Safer nibahe rakhna mithi si sharartein bnaye rakhna
Jab bhi rahu main udas tum muje hasaye rakhna
Khubsurat bandan ko bnaye rakhna kho n jana
Duniya k bhwar mein apni sans se sans milaye rakhna
Mile jo kisi mod par andhiyara tum usme ujiyara banna
Mile jo gum kisi raah par tum har pal khushiyon se bhrna
Mujse jyada mujko phchanna khe bin dil ki har baat janna
Bhar aaye jo meri aankhon me aansu tum enki kadar janna
Hum dono ki swatantr pahchaan bnaye rakhna
Har janam muje humsafar bnaye rakhna

– Hitesh Rajpurohit

Hindi Love Poem For Her – रात होते ही


 

रात होते ही फलक पे सितारे जगमगाते हैं
वो चुपके से दबे पांव मुझसे मिलने आते हैं
याद रहे बस नाम उनका भूल के जमाने को
वो चुनरी को इस तरह मेरे चेहरे पे गिराते हैं
सौ गम और हज़ार ज़ख़्म हो चाहे
दुनिया के हर दर्द भूल जाये
कुछ इस तरह गुदगुदाते हैं
डूब जाये ये कायनात तो हम नाचीज़ क्या हैं
इतनी मोहब्बत वो दामन में भर के लाते हैं
तिश्नगी कम ना होने पाये चाहत की
मुझमे प्यास बढाकर मेरी फिर वो मय बन जाते हैं
सख़्त हिदायत है हमे खुद पे काबू रखने की
रोक के हमको मगर वो खुद ही बहक जाते हैं
बयां करने को दास्तान-ए-इश्क़ लब्ज़ ना मिलें वो
यूँ हक़ मुझपे जताते हैं कि ‘मौन’ कर जाते हैं

-अमित मिश्रा

Raat hote hi falak pe sitare jagmgate hain
Wo chupke se dabe paaw mujse milne aate hain
Yaad rhe bus naam unka bhul ke jamane ko
Wo chunri ko es tarh mere chehre pe girate hain
So gum aur hzar jkham ho chahe
Duniya k har dard bhul jaye
Kuch es trah gudgudate hain
Dub jaye ye kaynaat to hum nachiz kya hain
Etni mhobbat wo daman mein bhar ke late hain
Tisngi kam na hone paye chahhat ki
Mujme pyas bdakar meri fir wo may ban jate hain
Skhat hidayat hai hme khud pe kabu rkhne ki
Rok k hamko magar wo khud hi bahk jate hain
Byan krne ko dastaan a ishq labz na mile wo
Yoon haq mujpe jatate hai ki moon kar jate hain

-Amit Mishra