Romantic Hindi Poem – मेरी साँसे

मैं तो अपनी हर सांस में तुम्हें चाहूँगा ,
जो कभी ना ख़त्म हो जज्बात इस तरह ख़्वाबों मैं तुम्हे सजाऊँगा ,
मेरे तो दिन रात है तुमसे ,मैं तो इन सांसो के बाद भी तुम्हे हद से ज्यादा चाहुँगा
ना सुकून होता हो बिना तुम्हारे मुझे एक पल भी
इस कदर सांसो पर अपनी मैं तुम्हारा नाम लिख जाऊँगा
एक दिन ऐसा भी आयेगा के मैं अपने सारे एहसासों को समेट लूँगा
तुम हौसला तो रखो मैं तुम्हारी दूनिया में
तुम्हे अकेला छोड़ कर तुमसे बहुत्त दूर चला जाऊँगा। मेरी सोना।

-विशु

Mai toh apni har saans mai tumhe chahunga,
Jo kbhi na khtm ho jajbat iss trah khwabon mai tumhe sjaunga,
Mere toh din raat hai tumse, Mai toh in saanson ke baad bhi
tumhe hadd se jyada chahunga.
Na sukun hota ho bina tumhare mujhe ek pal bhi,
Iss kadar saansein per apni mai tumhara naam likh jaunga,
Ek din aisa bhi aayega k mai apne sare ehsaso ko samet lunga,
Tum hosla toh rkho mai tumhari duniya mai
tumhe akela chor kr tumse bhut door chla jaunga….. Meri Sona…..

-Vishu

Leave a Reply