Hindi Poem for Him – नयनों में काजल लगा के चली

आज मैं नयनों में काजल लगा के चली पलकों पर आपकी खूबसूरत तस्वीर सजा के चली दिल की धड़कनों को साँसों में छुपा के चली थोड़ा इतरा के चली सावन की मयूरी सी बलखा के चली लहराती हवाओं में केशों को बिखरा के चली थोड़ा शर्मा के चली अल्फ़ाज़ों में मीठी सरगमों को मिला के […]

Read More

Hindi Love Poem for Friendship-स्कूल का वो दिन

स्कूल का वो दिन याद है, हम साईकल से आया करते थे। तेरी गोभी सब्जी वाली टिफिन को, दोनो मिलकर खाया करते थे। मैं बहुत पतला था और  तू थोड़ी मोटी थी। इसी बात पर तेरी मेरी, बहुत लड़ाई होती थी। वो पहला दिन याद कर, जब तू अकेली आयी थी। न जाने कितनी सवालो […]

Read More