Posted in Hindi Love Poems for Birthday

Birthday Poem for Love in Hindi-आज का दिन


आज का दिन बहुत खास है happy_birthday-wallpaper-1366x768
आज मेरे प्यार का जन्मदिवस है
वो है कितनी सुन्दर
वो है कितना प्यारी
मीठी उसकी बातें
सूरत है भोरी भारी
करता हूँ खुदा से बस यही दुआ
उसकी झोली में भर दे सिर्फ खुशियां
वो हमेशा मुस्कुराये
खुशियां मनाये
कभी मुझसे रूठे
फिर खुद मान जाये
जन्मदिन उसका हर साल आये
और मेरे संग वो यूं ही मनाये

-अनुष्का सूरी

Posted in Hindi Love Poem For Girlfriend, Hindi Love Poem For Her, Hindi Love Shayari for Girlfriend, Hindi Love Shayari for Her, Miss You Hindi Love Shayari, Miss You Love Poem

Hindi Shayari for Girlfriend-वो आँखें वो बातें


वो आँखें heart-wallpaper-1366x768
वो बातें
वो यादें
वो रातें
वो काले बाल
वो मस्त चाल
मेरे दिल का हाल
करें बेहाल
उसको सोचूँ
उसको चाहूँ
उसको सराहूं
उसको पूजूं
वो मेरी इबादत
वो मेरी राहत
वो मेरी किस्मत
वो मेरी चाहत
वो मेरा खुदा
वो मेरा जहां
उसको ढूँढूँ
मैं कहाँ कहाँ
ऐ मेरे खुदा
उस से मिलादे
बस एक बार
बस एक बार

-अनुष्का

Posted in Hindi Love Poem For Girlfriend, Hindi Love Poem For Her, Hindi Love Poems by Readers, Hindi Poem on Dream Girl

Hindi Poem on Searching for Love-प्यार की प्यास


i_love_you_3-wallpaper-960x600

जब बरसात आयी थी मेरे दर पे
मैं प्यासा था !!

आंधी आकर गुजर गयी
मैं ठहरा था
जिसने नींदे चुराई मेरी
वो एक हसीन चेहरा था !

रोजदराज की कश्मकश से
मैं वाक़िफ़ था
प्यार मैं डूबा था
मैं तेरा आशिक़ था !

ये पल पल का खेल हैं
मुझे तब पता चला
हक़ीक़त सामने थी ये मुझे
अब पता चला !

तब मैं प्यासा था
प्यार पाने के लिए
अब मैं प्यासा हूँ
मंजिल पाने के लिए !

-निषाद

Posted in Hindi Love Poem For Girlfriend, Hindi Love Poem For Her, Hindi Love Poem for Wife, Hindi Love Poems by Readers, Hindi Poems for Lover, Miss You Hindi Love Shayari, Miss You Love Poem

Hindi Love Shayari for a Girl-तस्वीर


once_loved_always_loved-wallpaper-1366x768

हम उनकी तस्वीरों को छुप छुप के सजाया करते हैं
कभी रखते हैं इन आँखों में, कभी दिल में बसाया करते हैं
होती जब भी गहरी यादें, यादों का होता है मंज़र,
लेते हैं तस्वीर उसकी , फिर उस से बातें करते हैं,
खेलते हैं फिर ज़ुल्फों से, होंठों से लगाया करते हैं ,
वो न न कहती कभी नहीं, बस दिल से लग जाया करती है,
हम बाँहों में बस भर के उसे सपनों को खूब सजाते हैं,
हम उनकी तस्वीरों को छुप छुप के निहारा  करते हैं,
एक दिन ऐसा भी आया, जब नज़रों में वो छाए,
बस एकटक देखा उसने हमने होश गवाए
सब कुछ गवा सकते हैं, मगर उसकी तस्वीर छुपा के रखते हैं,
पर आँखों में जो तस्वीर उसकी, हम उसको छुपा न पाये,
इस दिल का हाल बयां करती तस्वीर उसकी कहती
मेरा सब कुछ है बस तस्वीर तुम्हारी मेरी
मैं हर गम को सह सकता हूँ, तुम बिन भी रह सकता हूँ,
बस इन आँखों से कुछ न कहना, तस्वीर को इनमें रहने देना,
तुझे  हर पल पूजा करता हूँ, बस तेरे इश्क़ में जीता हूँ
रोज़ सजा के तस्वीर तुम्हारी आँखों के मंदिर में बिठाया करता हूँ,
मैं तस्वीर तुम्हारी लेकर इस दिल में बसाया करता हूँ
-गौरव

Ham unko tasveero ko chup chup ke sajaya karte hain,

Kabhi rakhte hain in ankho mein, kabhi dil mein basaya karte hain,

Hoti jab bhi gahri yadein, yado ka hota hai manzar,

Lete hain tasveer uski, phir us se batein karte hain,

Khelte hai phir zulpho se, hotho se lagaya karte hain,

Vo na na kehti kabhi nahi, bas dil se lag jaya karti hain,

Ham bahon mein bas bhar ke use, sapno mei khoob sajate hain,

Ham unki tasveero ko chup chup ke nihara karte hain,

Ek din aisa bhi aya jab nazron mein wo chaye,

Bas ek tak dekha usne, hamne hosh gawaye,

Sab kuch gawa sakte hain, magar uski tasveer chupa ke rakhte hain.

Par ankho mein jo tasveer uski, ham usko chupa na paye,

Is dil ka hal bayan karti tasveer uski kahti,

Mera sab kuch hai bas tasveer tumhari meri,

Main har gam ko sah sakta hoon, tum bin bhi rah sakta hoon,

bas in ankho se kuch na kahna, tasveer ko in mein rahne dena

Tujhe har pal puja karta hoon, bas tere ishq mei jeeta hoon,

Roz saja ke tasveer tumhari, ankho ke mandir mein bithaya karta hoon,

Main tasveer tumhari lekar is dil mein basaya karta hoon.

  • Gaurav
Posted in Hindi Love Poem For Girlfriend, Hindi Love Poem For Her, Hindi Poems for Lover, Miss You Hindi Love Shayari

Painful Love Story-तेरा ही इंतज़ार था


romance-wallpaper-1366x768

आ गयी तू मुझे तेरा ही इंतज़ार था …
तुझे शायद नहीं पता होगा, मैं कितना बेक़रार था

खैर, पता है जब तू यहाँ नहीं थी
तो मेरे साथ क्या हो रहा था
मैं तो आँखें बंद करके सो रहा था
फिर भी लोग कहते हैं की मैं रो रहा था

अब उन नासमझों को कौन समझाए
क़ि वो मैं रो नहीं रहा था
वो तो अंदर का सैलाब बह रहा था
तुझे तो पता होगा कि मैं रोता नहीं
हर आंसू में तस्वीर है तेरी
इसीलिए मैं उनको खोता नहीं

अरे यार तू कुछ बोलती क्यों नहीं
पहले की तरह ये अश्क़ मेरे पोंछती क्यों नहीं

पता है जब तू गयी थी
तो सब बोलते थे
कि जो चले जाते हैं वो कभी लौटते नहीं
पय मुझे यकीं था, की तू आएगी
क्योंकि तू प्यार है मेरा
और जज़्बात कभी मरते नहीं

पर खफा हूँ तेरे उस धोखे से
तूने बिना मांगे जो दिया उस तोहफे से
माना मैंने कहा था
अपना दिल देदे मुझे
इसका ये मतलब नहीं
पगली दिल देके ज़िन्दगी देगी मुझे
जब होश आया डॉक्टर ने बताया सब,
रुक गयी मेरी सब सांसें तब
फिर फैसला किया
मैं भी आरहा हूँ तेरे पास
पर फिर डिल से आई आवाज़ तेरी
पगले हूँ तो मैं तेरे साथ

याद है तुझे
वो रास्ते जो
तुझे बहुत पसंद थे
अक्सर आज भी मैं
वहां से गुज़रा करता हूँ
जो तू मुझे बातें करती
उन रास्तों पर वही आवाज़ें सुना करता हूँ मैं

तू यहाँ नहीं थी
तो तेरे लिए कविता लिखता था
अक्सर कागज़ के पन्ने
हवा में फेकता था
अब तू कहेगी, ऐसा क्यों?
क्या मैं पागल हो गया था?

पर मैं उन पन्नो पर
तेरी ही खुशबु खोजता था
अगर इसे पागलपन कहते हैं,
तो हाँ यार मैं पागल हो गया था

-नितेश गौर (बृजवासी)