Anchua Pahlu – Emotional Hindi Love Shayari


अनछुआ पहलू
हंसते हैं तो दिखते हैं बहुत हंसा करते हैं,
गम को तो ऐसे छुपाते हैं जैसे मुट्ठी में खुशियों को दबाते हैं,
करते हैं हर वक़्त काम हर बात भुला के,
पर दिल जनता है हर काम के बहाने अपने आप को भुलाते हैं,
वक़्त बीत जाता है शाम चली आती है,
अपने साथ ग़मों की रात भी ले आती है,
क्या कहना जो दिन भर दिखते थे मज़बूती की दीवार
रातों को खुद वो मोम की तरह पिघल जाते हैं,
जितने भी आंसू जो दिन भर छुपाते हैं
वो सब रात में उड़ल जाते हैं,
रहती है तो बस खामोशियां और ये आंसू,
जो तेरी याद हर पल दिलाते हैं,
हर रात कितना मुझे रूलाते हैं,
कितना कमज़ोर हून मैं ये तो रात की तनहाइयों में बयाँ होता है,
बीत जाती है रात तेरी याद में सुबह का आगाज़ होने लगता है,
फिर होते ही सुबह वही मज़बूती का नक़ाब इस चहरे पे सजा होता है,
जो रात की कमज़ोरियों को दिन में छुपा जाता है.
-गौरव
Advertisements

About hindilovepoems

Official Publisher for poetry on hindilovepoems.com
This entry was posted in Emotional Hindi Love Poems, Heartbreak Hindi Love Poems, Hindi Love Poem on Pain, Hindi Love Poems by Readers and tagged , , , . Bookmark the permalink.

One Response to Anchua Pahlu – Emotional Hindi Love Shayari

  1. Gumnaam says:

    Ishq karna to ragta hai jese mot se bhi badi ek saja hai kya kisi se sikaya kare hum jaab apni taqdeel hi bewafa hai

    Like

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s