Hindi Love Poem-आंसू

sad

जब हम रोये तुम्हें याद करके
तब पलकों में सिर्फ आंसू थे
कुछ टूटे एहसास थे
और पलकों में सिर्फ आंसू थे
ना कोई पास था सिर्फ ग़मों का एहसास था
और पलकों में सिर्फ आंसू थे
समय की धारा में बहते गये
आँखों में नमी को सहते गये
और हर पल पलकों में सिर्फ आंसू थे
ख्वाब कुछ नये भी सजाये हमने
पलकों में पर खुशी कहीं नहीं
पलकों में सिर्फ आंसू थे
बंद करी जब पलकें तो इंतज़ार था
और तेरे प्यार के
इन पलकों में सिर्फ आंसू थे
-गौरव

Jab ham roye tumhein yad karke
Tab palkon mein sirf aansu the
Kuch toote ehsaas the
Aur palkon mein sirf aansu the
Na koi paas tha sirf gamon ka ehsaas tha
Aur palkon mein sirf aansu the
Samay ki dhara mein bahte gaye
Aankhon mein nami ko sahte gaye
Aur har pal palkon mein sirf aansu the
Khwab kuch naye bhi sajaye hamne
Palkonmein par khushi kahin nahin
Palkon mein sirf aansu the
Band kari jab palkein to intazar tha
Aur tere pyar ke
In palkon mein sirf aansu the
-Gaurav

4 thoughts on “Hindi Love Poem-आंसू

Leave a Reply to Anonymous Cancel reply