Hindi Love Poem -याद


तेरी यादों के सायों ने मजबूर कर दिया
आँखों की नमीं ने आँखों को नॅम कर दिया
पल पल तेरी यादों ने जुदाई के बादल ला दिये
पल पल भीगे थे जो तेरे एहसास मेरे साथ उन एहसासों के साये ला दिये
आँखों की नमी भी आँखों में समां न सकी
पहलू मैं छुपके मेरे दर्द की वजह बन गयी
धीरे से आके समाने लगी वो नमीं मेरे हाथों में
तेरी खुशियों की दुआ बन गयी
जिसे करता हूँ इतना प्यार उसकी खुशी ही मेरे जीने की वजह बन गयी

Hindi Love Poem-दर्द के साये मे


दर्द के साये मे भी दिल बहलने लगा,
मेरे आंसुओं का रंग भी बदलने लगा,
इतने करीब आकर उसने ज़ख्म दिये मुझे,
सांसें चलती रही पर दम निकलने लगा,
मेरी राहों मे हज़ार कांटे बिखेर कर,
अब वो खुद मेरा हमसफर बनने लगा,
उसके दिये जख्मो मे मैं प्यार तलाश करती रही,
वो मुझे प्यार करते-करते दर्द मे डुबाने लगा |

Hindi Poem – दिल की चाहत


दिल की चाहत है तुझे चाहूं यूँ ही हमेशा
खिलती रहे तेरे लब की चांदनी बस यूँ ही
ख्वाबों में तू ही आती रहे
दिलों-जान में यूँ ही समाती रहे
बरकरार रहे तेरे सुन्दर चेहरे का ये नूर
दिल के रहे हमेशा तू करीब नज़रों से भले हो दूर

– अनुष्का सूरी

Hindi Love Poem-तेरा प्यार


खामोश मेरे लबों पे जो गूंजे
वो एहसास है तेरा प्यार ..
रूह में तेरी याद बन के समा जाये
वो एहसास है तेरा प्यार..
पल पल मेरे दिल में खयाल बन के बिखर जाये
वो एहसास है तेरा प्यार..
मुर्झाये से मेरे चहरे पे जो हँसी बन के कुछ याद दिलाये
वो एहसास है तेरा प्यार..
जीना जिसके साथ पल पल चाहूँ
वो एहसास है तेरा प्यार..
बंद हों ये मेरी पलकें तो ख्वाब बन के जो मेरे दिल में समा जाये
वो एहसास है तेरा प्यार.

-गौरव

Hindi love poem for her – दिल की नगरी


दिल की नगरी में अब सुबह और शाम
बस गूंजता है एक तेरा ही नाम
सोचता हूँ वो लफ्ज़ कहाँ से ढूँढ लाऊँ
जिनमें तेरी तारीफ में मैं कुछ फ़रमाऊँ
उफ तेरी अदाओं के वो जानलेवा कहर
क्या बताऊँ क्या दिलों-जान पर करता है असर
तेरे ही दीदार को तरसती हैं ये निगाहें
तुझको क्या खबर किस कदर तुझे हम चाहें

– अनुष्का सूरी

Hindi Love Poem -खत संभाल के रखें हैं


तन्हाई में जो लिखे तुझे खत
वो खत संभाल के रखें हैं
दिल की गहराइयों की स्याही से जो लिखे तुझे खत
वो खत संभाल के रखें हैं
जो पल पल मेरा दिल धडकाते हैं
वो खत संभाल के रखें हैं
चाहा तुझे दिलो जान से जो जता न पाये
वो प्यार के जज़्बात से लिखे खत
संभाल के रखें हैं

Hindi Love Poem-तेरे खामोश लफ्ज


तेरे खामोश लफ्ज मेरे दिल से कुछ सवाल करते हैं
तेरी आँखों के कुछ एहसास मुझसे बाते करते हैं
रहता हूँ तन्हा अकेला तेरी यादों  के साथ
पल पल तेरे दिल की धड़कन के एहसास भी
तन्हाई में मुझे छुआ करते हैं