Hindi Poetry on Love-दिल तो बेचारा

heart-3056182_960_720.jpg

दिल तो बेचारा नादान है
तेरे लिये धड़कता है
तू दिख जाये
तो खिल जाता हूँ मैं
तू न दिखे
तो हो जाता हूँ उदास
दिल मेरा रहना चाहता है
हर पल बस तेरे ही साथ
दिल में मेरे कितने हैं अरमान
कैसे बताऊँ तुझे ओ जाने तमन्ना
मेरी है सिर्फ तुझसे एक इल्तजा
आ मेरे पास मुझे तू मिल जा

Leave a Reply