Hindi Love Poem – Bas Aur Pyar


प्यार की मंज़िल क्या है बस और प्यार

दिल के समंदर का साहिल तू ही है यार

तू मेरा दिलबर तू ही है मेरा प्यार

तेरा ही तो रात दिन मैं करूँ इंतज़ार

बस एक तेरे लिये ही है मेरा दिल बेकरार

बढ़ता जा रहा है अब ये खुमार

तुझको पुकारे मेरा ये दिल बार बार

तू भी करले अब मुझसे प्यार

About anushkasuri

Sweet and caring :)
This entry was posted in Hindi Love Poem For Him and tagged , , , , , , , , , , . Bookmark the permalink.

6 Responses to Hindi Love Poem – Bas Aur Pyar

  1. mohit pandit says:

    ku log pyar m fas jate h

    Like

  2. Anjali Verma says:

    YE MERI KAVITA HAI AND THE TITLE IS “AAKHIR KYO”
    AB BATAO KAISI HAI U CAN REPLY ON MY EMAIL ID :- anjaliverma24@gmail.com

    Like

  3. Anjali Verma says:

    दिल की तमन्ना अधूरी क्यों है

    हम तुम इतने पास है फिर भी ये दूरी क्यों है

    चाहा है तुम्हे चाहत से जादा

    चाहतों का ये रिश्ता इतना करीबी क्यों है

    हर पल दिल किसी को याद करता है

    यादों में खोकर किसी का इंतजार करता है

    किसी से इतनी दिल्लगी क्यों है

    नजरे मिलते ही दिल कुछ कहता है

    कुछ कहकर ना जाने दिल क्यों चुप-चुप रहता है

    हर दिल की यही कहानी क्यों है

    कहते है प्यार कभी मरता नहीं

    तो प्यार करने के लिए इतनी कम जिंदगानी क्यों है

    Like

  4. sonam maurya says:

    Bohot khub.

    Like

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s