Hindi Love Poem-क्या बताऊँ कैसे सुनाऊँ


girl-429380_960_720

क्या बताऊँ कैसे सुनाऊँ किस हाल में हूँ

तेरे साथ तो आकाश में था आज पाताल में हूँ

तुझ बिन कटते नहीं दिन ना कटती हैं रात

मुझे याद आती हैं तेरी प्यारी सी मीठी मीठी बातें

तुझको पाकर के खुल गये थे अपने नसीब

पर तुझको खोकर हो गया मैं आज फिर गरीब

हर पल इस दिल को रेहता है बस तेरा इंतज़ार

आके मिलजा मुझसे कि अब ये दिल है बेकरार

Hindi Love Poem-आँखें बन जायें जब दिल की ज़ुबा


woman-1148923_960_720

आँखें बन जायें जब दिल की ज़ुबा

तो कैसे करें दिल की हालत बयान

वो ठंडी रातें वो भीगी बरसातें

वो प्यार में डूबी उसकी भोली बातें

वो उसका रुक रुक कर धीरे धीरे चलना

और उसको आता हुआ देख इस दिल का मचलना

काश कुछ बदल जाये अपनी भी ये तकदीर

बनूं मैं उसका रांझा और वो मेरी हीर

Hindi Love Poem-आँखों में है मेरी जो थोड़ी सी नमी


woman-1148923_960_720

आँखों में है मेरी जो थोड़ी सी नमी

क्या बताऊँ तुम्हें बस हैं तुम्हारी ही कमी

याद करके तुम्हें नहीं थकता है ये दिल

या खुदा आई है ये कैसी मुश्किल

तुम्हारी आँखों का वो छलकता पानी

लफ्ज़ निकलते थे जो तुम्हारी ज़ुबानी

आज भी याद हैं मुझे वो सुबह और शाम

जो मैं करता था सिर्फ तेरे ही नाम

वक़्त आया लेकर क्या कहर

तेरे बिना जीना हो गया ये ज़हर

तू ही मेरी आँखों में मेरे ख्वाबों में है

तू ही कुछ सवालों में कुछ जवाबों में है

याद करता है तुझही को ये मेरा दिल

कभी आकर तू भी मुझसे यूं ही मिल

तोहफे में दूंगा तुझको ये ज़मीं ये आसमां

तू ही तो है मेरे लिये सारा जहाँ

Hindi Love Poem-अब तो तेरी ही याद में


अब तो तेरी ही याद में तड़पता है मेरा ये दिल

तू ही तो है मेरे प्यार की वो मंज़िल

तुझे खोजा है मैने जाने कितने ठिकानों मे

कभी अपनो में तो कभी कुछ बेगानों में

अब राहत है इस दिल को कि तू मेरे पास है

तुझे क्या मालूम तू मेरे लिये कितनी खास है

तेरी खुशी को देख कर मुझ में आती है जान

मेरे लिये तो अनमोल है बस तेरी प्यारी मुस्कान

जब है तू साथ मेरे तब नहीं है मुझे कोई डर

अब तो बस यही चाह है बन जा तू मेरी हमसफर

Hindi Love Poem – बस और प्यार


प्यार की मंज़िल क्या है बस और प्यार

दिल के समंदर का साहिल तू ही है यार

तू मेरा दिलबर तू ही है मेरा प्यार

तेरा ही तो रात दिन मैं करूँ इंतज़ार

बस एक तेरे लिये ही है मेरा दिल बेकरार

बढ़ता जा रहा है अब ये खुमार

तुझको पुकारे मेरा ये दिल बार बार

तू भी करले अब मुझसे प्यार